लॉक डाउन में बढ़ी अॉनलाइन ठगी की वारदातें, खाते से निकाले 1 लाख 40 हजार रुपए

लॉक डाउन के बीच सीधे तौर पर चोरी की वारदातें तो थमी है, लेकिन अॉनलाइन ठगी की वारदातें बढ़ने लगी है। वाट्सएप पर लिंक भेज खाते से रुपए उड़ाने के बाद अब एक जने के खाते से 1 लाख 40 हजार रुपए निकाल लिए गए। इसका मामला कानोता थाने में दर्ज हुआ है...

By: dinesh

Published: 29 Mar 2020, 06:32 PM IST

जयपुर। लॉक डाउन के बीच सीधे तौर पर चोरी की वारदातें तो थमी है, लेकिन अॉनलाइन ठगी की वारदातें बढ़ने लगी है। वाट्सएप पर लिंक भेज खाते से रुपए उड़ाने के बाद अब एक जने के खाते से 1 लाख 40 हजार रुपए निकाल लिए गए। इसका मामला कानोता थाने में दर्ज हुआ है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार नायला रोड निवासी हनुमान प्रसाद शर्मा के पास एक मैसेज आया था। वह मैसेज को देख रहा था। इसी दौरान खाते से एक लाख 42 हजार रुपए से अधिक रुपए दो बार में पार हो गए। इसका पता चलने पर बैंक से सम्पर्क किया। इसकी प्राथमिकी अज्ञात जने के खिलाफ कानोता थाने में दर्ज कराई गई है।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले वाट्सएप पर लिंक भेज खातों से रुपए चुराने की वारदात हुई थी। जयपुर के खोहनागोरियान थाना के इंदिरा गांधी नगर निवासी कपिल के पास अज्ञात आरोपी ने एक वाट्सएप पर एक लिंक भेजा था। वाट्सएप पर कॉल कर आरोपी ने कपिल से लिंक को खोलकर देखने को कहा। पीड़ित ने जैसे ही लिंक को क्लीक किया तो खाते से 60 हजार रुपए पार हो गए। थोड़ी देर बाद बैंक से रुपए निकलने की सूचना का मैसेज मिला तो इस जालसाजी का पता चला। इसके बाद बैंक में सूचना देकर थाने में मामला दर्ज कराई गई। पीड़ित ने फोन करने वाले आरोपी के नम्बर पर सम्पर्क किया तो उसका मोबाइल स्वीच ऑफ आ रहा है।

सतर्क रहना जरूरी
लॉक डाउन के बीच अपराधी दिन भर खातों से रुपए उड़ाने की योजना ही बनाते रहते हैं। इस कारण कभी वाट्सएप पर लिंक तथा कभी अन्य तरीकों से अॉनलाइन ठगी की वारदातों को अंजाम देते हैं। इसके बचाव के लिए लोगों को सतर्क रहना पड़ेगा। अज्ञात जने की वाट्सएप लिंक को खोलने से परहेज करें। इसके अलावा अपने फोन पे व अन्य खातों के बारे में किसी से चर्चा भी नहीं करनी चाहिए। क्योंक अॉन लाइन ठगी करने वाले शातिर तरीके से पासवर्ड नम्बर चुराके भी रुपए निकालने की वारदातों को अंजाम देते हैं।

नहीं हुई चोरी की वारदात
इधर लॉक डाउन के दौरान मोटरसाइकिल व घरों से चोरी की वारदात थमने लगी है। दो दिन से जयपुर शहर के अधिकतर थानों में मोटरसाइकिल चोरी की वारदात सामने नहीं आई है। उल्लेखनीय है कि लॉक डाउन से पहले पांच से सात मोटरसाइकिल रोजाना राजधानी से चोरी होती थी। चोरों पर पुलिस लगाम नहीं लगा पा रही थी, लेकिन अब लॉक डाउन में मोटरसाइकिल चोरी की वारदातों पर अंकुश लगने लगा है।

coronavirus
Show More
dinesh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned