राजस्थान दूसरा राज्य जिसने मॉब लिंचिंग पर कानून बनाया और भाईचारे का संदेश दिया- CM गहलोत

राजस्थान दूसरा राज्य जिसने मॉब लिंचिंग पर कानून बनाया और भाईचारे का संदेश दिया- CM गहलोत

abdul bari | Publish: Aug, 15 2019 08:02:08 PM (IST) | Updated: Aug, 16 2019 12:17:14 AM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

अशोक गहलोत ( cm ashok gehlot ) ने गुरूवार को शासन सचिवालय में सचिवालय कर्मचारी संघ की ओर से आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह ( Independence day celebration 2019 ) में उपस्थित कार्मिकों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि मॉब लिंचिंग ( Mob lynching ) मानवता पर कलंक है।

जयपुर
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( cm ashok gehlot ) ने गुरूवार को शासन सचिवालय में सचिवालय कर्मचारी संघ की ओर से आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह ( Independence day celebration 2019 ) में उपस्थित कार्मिकों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि मॉब लिंचिंग ( Mob lynching ) मानवता पर कलंक है। भीड़ द्वारा किसी की जान ले लेने से पीड़ित परिवार पर क्या गुजरती होगी, इसका दर्द हम सब महसूस कर सकते हैं। प्रदेश ( rajasthan government ) में ऐसी घटनाओं का कोई स्थान नहीं है। हमारा कोई नागरिक मॉब लिंचिंग का शिकार न हो और कानून-व्यवस्था ( law and order ) बनी रहे। इसके लिए हमारी सरकार एक सख्त कानून लेकर आई है।

 

 

ऑनर किलिंग पर भी मजबूत कानून बनाया है

गहलोत ने कहा कि मणिपुर के बाद राजस्थान देश का ऐसा दूसरा राज्य है, जिसने मॉब लिंचिंग पर कानून बनाया है और देश में प्रेम, मोहब्बत तथा भाईचारे का संदेश दिया है। गहलोत ने कहा कि दो युवाओं में प्रेम होना कोई गुनाह नहीं है। उन्हें अपनी रजामंदी से विवाह का अधिकार है। उनकी सुरक्षा के लिए हमारी सरकार ने ऑनर किलिंग ( owner killing ) पर भी मजबूत कानून बनाया है।


मैं भी सचिवालय परिवार का एक सदस्य हूं...

मुख्यमंत्री ने कहा कि शासन सचिवालय संवेदनशील, पारदर्शी और जवाबदेह सुशासन का केन्द्र बने। यहां आने वाले हर फरियादी की समस्या का समाधान हमारा कर्तव्य होना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं भी इसी सचिवालय परिवार का एक सदस्य हूं। प्रदेश के सभी कर्मचारियों के कल्याण के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। समय-समय पर हमने कर्मचारियों की उचित मांगों को पूरा किया है और आगे भी उनके हितों का ख्याल रखेंगे।

कार्यक्रम में गहलोत ने सुझाव दिया कि सचिवालय में आयोजित होने वाले स्वतंत्रता दिवस एवं गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन पूर्व संध्या को किया जाए ताकि इसमें सचिवालय कर्मचारियों के परिवारजन की भागीदारी और उनमें पारिवारिक मेल-जोल भी बढ़ सके।


ये बोले मुख्य सचिव डी.बी. गुप्ता

इससे पहले मुख्य सचिव डी.बी. गुप्ता ने कहा कि राज्य कर्मचारी संवेदनशील, पारदर्शी और जवाबदेह सुशासन की महत्वपूर्ण कड़ी हैं। हमें ईमानदारी और समर्पण के साथ काम करने का संकल्प लेना चाहिए। इस साल सचिवालय के सभी संवर्गों की पदोन्नति हो चुकी है। अनुकम्पात्मक नियुक्तियों के प्रकरण भी जल्द निस्तारित किए जा रहे हैं।


सचिवालय कर्मचारी संघ की वेबसाइट का शुभारम्भ

इस मौके पर सचिवालय के कार्मिकों एवं उनके परिजनों ने मॉब लिंचिंग पर मार्मिक नाटक ’हम वतन’ तथा अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों की मनोहारी प्रस्तुतियां दी। इस दौरान सचिवालय कर्मचारी संघ के अध्यक्ष पंकज कुमार ने संघ की गतिविधियों की जानकारी दी और अतिथियों का स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने सचिवालय कर्मचारी संघ की वेबसाइट का शुभारम्भ भी किया।

 

यह खबरें भी पढ़ें...

रक्षाबंधन पर हमेशा के लिए जुदा हो गए भाई-बहन: दो सड़क हादसों में 4 की मौत, 8 घायल

 

शॉप से लाखों रूपए के एंड्रॉयड मोबाइल व नगदी चोरी, सस्ते और की-पेड मोबाइलों को चोरों ने छुआ भी नहीं


पहलू खान मामले में आया CM गहलोत का बयान, बोले- एडीजे के आदेश के खिलाफ अपील करेगी सरकार

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned