Jaipur Literature Festival 2020 का आगाज, सीएम गहलोत ने किया शुभारंभ

Jaipur Literature Festival 2020: दुनिया में चर्चित जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल ( JLF ) का आगाज गुरूवार से डिग्गी पैलेस में हो गया। CM अशोक गहलोत ने इसका शुभारंभ किया।

जयपुर। Jaipur Literature Festival 2020: देश भर में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) पर मचे घमासान के बीच देश दुनिया में चर्चित जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल ( JLF) का आगाज गुरूवार से डिग्गी पैलेस में हो गया।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उद्घाटन सत्र में इसका शुभारंभ किया। इस दौरान सीएम गहलोत ने कहा कि साहित्स के इस महाकुंभ की शुरुआत 12 साल पहले की गई थी। उस दौरान सौभाग्य से मैं ही राजस्थान का मुख्यमंत्री था। आयोजकों को धन्यवाद। उन्होंने इस आयोजन को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचाया।

उन्होंने कहा कि जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल राजस्थान की शान है। तमाम साहित्यकार इस फेस्टिवल का इंतजार करते है। इसमें मन की और काम की बात होती हैं। यहां मेरी और सरकार की ओर से पधारे मेहमानों का स्वागत है।

सहित्य का महाकुंभ जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल ( jlf 2020 ) 23 से 27 जनवरी, 2020 तक जयपुर के डिग्गी पैलेस होटल में आयोजित किया हो रहा है। इसमें हर साल की तरह इस बार भी वक्ताओं के तौर पर लेखक, राजनेता, फिल्मी दुनिया से जुड़ी हस्तियां और पत्रकार कला, फैशन, राजनीति, अर्थव्यवस्था, जलवायु परिवर्तन, करेंट अफेयर्स, लेखन, समाज और जीवित भाषाओं आदि विषयों पर अपनी बात रखेंगे। पांच दिन तक चलने वाले सत्र में वक्ताओं को सुनने के लिए देश-विदेश से लोग पहुंचेंगे।

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का 13वां संस्करण भारत के विविध भाषी लेखकों को एक साथ एक मंच पर लेकर आ रहा है। इस साल फेस्टिवल असमी, बंगाली, गुजराती, हिंदी, मलयालम, मराठी, ओड़िया, प्राकृत, राजस्थानी, संस्कृत, संथाली, तमिल, उर्दू और नागामी भाषाओं के लेखकों की मेजबानी कर रहा है। फेस्टिवल में इन भाषाओं की शानदार धरोहर के साथ लेखन के समकालीन ट्रेंड पर चर्चा की जाएगी। जेएलएफ डिग्गी पैलेस में यह आयोजन अंतिम बार हो रहा है। राज्य सरकार और पुलिस ने डिग्गी पैलेस के लिए अंतिम बार अनुमति दी है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

अगली कहानी
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned