scriptलोकसभा चुनाव के लिए राजस्थान में कांग्रेस ने बनाया खास प्लान, जानिए-पहली लिस्ट में देरी क्यों? | Lok Sabha election 2024 : Congress made special plan for Lok Sabha election in Rajasthan | Patrika News

लोकसभा चुनाव के लिए राजस्थान में कांग्रेस ने बनाया खास प्लान, जानिए-पहली लिस्ट में देरी क्यों?

locationजयपुरPublished: Apr 17, 2024 07:46:59 am

Submitted by:

Anil Prajapat

Rajasthan Congress Candidate List For Lok Sabha Election 2024: लोकसभा चुनाव में प्रत्याशियों को लेकर कांग्रेस ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं। सूत्रों की मानें तो कांग्रेस को भाजपा की दूसरी सूची जारी होने का इंतजार है।

rahul_gandhi-2.jpg

Rajasthan Congress Candidate List For Lok Sabha Election 2024 : जयपुर। राजस्थान के लोकसभा प्रत्याशियों की भाजपा की पहली सूची आते ही कांग्रेस में भी कुछ हलचल हुई है। फिलहाल कांग्रेस की भाजपा के असंतुष्टों पर नजर है। हालांकि, लोकसभा चुनाव में प्रत्याशियों को लेकर कांग्रेस ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं। सूत्रों की मानें तो कांग्रेस को भाजपा की दूसरी सूची जारी होने का इंतजार है। उसके बाद ही कांग्रेस अपने प्रत्याशियों की घोषणा करेगी। क्षेत्रीय दलों से गठबंधन की संभावना पर भी पार्टी ने काम शुरू कर दिया है।

भाजपा की पहली सूची जारी होने के बाद कांग्रेस ने अपनी रणनीति में बदलाव किया है, पार्टी नेताओं की नजर अब भाजपा के उन असंतुष्ट नेताओं पर है, जिन्हें पहली सूची में टिकट नहीं दिया गया है। इसके अलावा भाजपा की दूसरी सूची में मौजूदा सांसदों को टिकट नहीं मिलता है तो कांग्रेस उनसे संपर्क कर उन्हें अपने पाले में लाने का प्रयास करेगी।

 

यही वजह है कि कांग्रेस ने अभी तक भी अपने प्रत्याशियों की घोषणा नहीं की है। मुख्य रूप से पार्टी की उन मजबूत नेताओं पर नजर है, जो चुनाव परिणाम पर असर डाल डाल सकते हो। बांसवाड़ा-डूंगरपुर से भाजपा प्रत्याशी महेन्द्रजीत सिंह मालवीया को घर में ही घेरने की रणनीति पर कांग्रेस ने काम करना शुरू कर दिया है।

 

चूरू से लगातार दो बार सांसद रहे राहुल कस्वां पर भी कांग्रेस की नजर है। गोविंद सिंह डोटासरा सहित शेखावाटी अंचल के कांग्रेस से जुड़े जाट नेता भी कस्वां से संपर्क करने में जुट गए हैं।

 

सूत्रों की मानें तो चुनाव मैदान में मालवीया को चुनौती देने के लिए कांग्रेस भारतीय आदिवासी पार्टी से गठबंधन कर सकती है। कांग्रेस की आंतरिक बैठकों में भी इसे लेकर चर्चा हुई है। प्रदेश के कई शीर्ष नेता भी भारतीय आदिवासी पार्टी से गठबंधन के पक्ष में है और इस मामले को पार्टी हाईकमान के सामने भी रख चुके है। हालांकि गठबंधन होगा या नहीं, इसका फैसला हाईकमान ही करेगा।

यह भी पढ़ें

Lok Sabha Election : BJP में उठने लगे बगावत के सुर… 10 सीटों के संभावित प्रत्याशियों के नामों पर हुआ मंथन

 

राजस्थान में करीब 9 लोकसभा सीटें ऐसी हैं, जहां कांग्रेस खुद को मजबूत मानकर चल रही है। इसकी एक वजह यह भी है कि इन सीटों पर कांग्रेस के 42 विधायक है। इन सीटों में बांसवाड़ा-डूंगरपुर, नागौर, सीकर, झुंझुनूं, चूरू, दौसा, टोंक-सवाईमाधोपुर, करौली- धौलपुर और गंगानगर हैं।

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो