scriptQueen Elizabeth II Jaipur Rajasthan Visit Flash Back News in Hindi | Flash Back : जब राजस्थान की संस्कृति देख अभिभूत हुईं Queen Elizabeth II, शाही सवारी देखने उमड़ पड़े थे लोग | Patrika News

Flash Back : जब राजस्थान की संस्कृति देख अभिभूत हुईं Queen Elizabeth II, शाही सवारी देखने उमड़ पड़े थे लोग

Queen Elizabeth II Jaipur Rajasthan Visit Flash Back News in Hindi : ब्रिटेन की दिवंगत महारानी एलिजाबेथ पति फिलिप के साथ 23 जनवरी 1961 को जयपुर आई थीं। उनकी शाही सवारी को देखने पूरे जयपुरवासी उमड़ पड़े थे।

जयपुर

Updated: September 12, 2022 02:34:59 pm

ढूंढाड़ की कला, संस्कृति के अलावा महल किले, अभयारण्य और आतिथ्य सत्कार ने ब्रिटेन के रॉयल खानदान को हमेशा जयपुर की तरफ आकर्षित किया था। यही कारण रहा कि आजादी के बाद भी भारत यात्रा पर आए शाही खानदान के सदस्य जयपुर को देखे बिना वापस नहीं गए।

Queen Elizabeth II Jaipur Rajasthan Visit Flash Back News in Hindi


सवाई रामसिंह के दौर में 4 फरवरी 1876 को प्रिंस ऑफ वेल्स अल्बर्ट जयपुर आए। उनके आगमन की तैयारियां एक साल पहले शुरू हो गई थीं। जलेब चौक और कई दरवाजों का निर्माण उसी समय हुआ। कहा जाता है कि ..’ न भूतो न भविष्यति’ उनके जैसा स्वागत जयपुर में किसी सम्राट का नहीं हुआ। रामनिवास बाग के अल्बर्ट हॉल की नींव उन्होंने ही रखी थी। उन्होंने झालाना के जंगल में बघेरों का शिकार किया और खाट पर बैठकर हुक्का भी पिया। अल्बर्ट ने जयपुर रियासत से लिया जाने वाला टैक्स भी आधा कर दिया था।

इधर, ब्रिटेन की दिवंगत महारानी एलिजाबेथ पति फिलिप के साथ 23 जनवरी 1961 को जयपुर आई थीं। उनकी शाही सवारी को देखने पूरे जयपुरवासी उमड़ पड़े थे। सवाई माधोपुर में फिलिप ने शेर का शिकार किया, जिसकी खूब चर्चा हुई थी।

ये भी पढ़ें : उदयपुर में Queen Elizabeth II रहीं मेहमान, पिछोला में नाव की सवारी की, सिटी पैलेस से जगमंदिर देखा


राजमहल पैलेस से चौमूं हाउस तक गोल पत्थर के खंभे और स्वागत द्वार लगाए गए। भांकरोटा जल योजना का उद्घाटन भी एलिज़ाबेथ ने किया । राज महल पैलेस के जिस कमरे में वह ठहरी थीं, वह आज एलिजाबेथ सुइट कहलाता है।सवाई मानसिंह ने 1940 में क्रिसमस के मौके पर एलिजाबेथ को हीरे जड़ी अंगूठी बतौर उपहार स्वरूप भेजी थी।


28 नवंबर सन 1980 में गायत्री देवी के मेहमान बनकर आए प्रिंस चार्ल्स लिली पूल पैलेस में ठहरे थे। रामबाग में ब्रिगेडियर भवानी सिंह ने पोलो खेला। सिटी पैलेस के शस्त्रागार में मानसिंह प्रथम का खांडा और शाहजहां व जहांगीर की तलवारें भी देखीं।


29 अक्टूबर 2003 को जयपुर आए एलिजाबेथ के पुत्र प्रिंस चार्ल्स ने कमर दर्द की वजह से पोलो नहीं खेला। तत्कालीन मुख्यमंत्री भैरों सिंह शेखावत और ब्रिगेडियर भवानी सिंह ने उनकी अगवानी की थी।


12 फरवरी सन 1992 में भी प्रिंस चार्ल्स डायना के साथ जयपुर आए थे। तब पोलो मैच के दौरान डायना ने प्रिंस को स्मृति चिह्न दिया।

ये भी पढ़ें : Queen Elizabeth II ने संभालकर रखा था महात्मा गांधी का रूमाल, प्रधानमंत्री मोदी ने बताई कहानी


प्रिंस और डायना अजमेर के नलू गांव में ग्रामीणों से मिले और रास्ते में कार से उतर कर हैंडपंप भी चलाया। माधो सिंह के शासन में प्रिंस ऑफ वेल्स जयपुर आए तब दुल्हन की तरह से सजे जयपुर में शोरगरों ने आतिश कला का बेहतरीन नमूना पेश करते हुए नाहरगढ़ पर इंग्लैंड के बकिंघम पैलेस और जॉर्ज पंचम का चित्र दिखा दिया था।


21 नवंबर 1905 को लाल वस्त्रों से सजी पालकी में बैठ शाही परिवार की महिलाओं ने शहर देखा। सिटी पैलेस के राजेंद्र पोल दरवाजे का निर्माण भी प्रिंस के आने की खुशी में हुआ था । प्रिंस ने आतिश के मैदान में हाथियों की लड़ाई देखी। उन्होंने अपने जीवन में पहला शिकार जयपुर के जंगल में ही किया था।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

Swachh Survekshan 2022: लगातार छठी बार देश का सबसे साफ शहर बना इंदौर, सूरत दूसरे तो मुंबई तीसरे स्थान परअब 2.5 रुपये/किलोमीटर से ज्यादा दीजिए सिर्फ रोड का टोल! नए रेट लागूकांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए KN त्रिपाठी का नामांकन पत्र रद्द, मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर में मुकाबला41 साल के शख्स को 142 साल की जेल, केरल की अदालत ने इस अपराध में सुनाई यह सजाBihar News: बिहार में और सख्त होगी शराबबंदी, पहली बार शराब पीते पकड़े गए तो घर पर चस्पा होंगे पोस्टर, दूसरी और तीसरी बार में मिलेगी ये सजास्वच्छता अभियान 2022 शुरू, 100 लाख किलो प्लास्टिक जमा करने का लक्ष्यसैनिटरी पैड के लिए IAS से भिड़ने वाली बिहार की लड़की को मुफ्त मिलेगा पैड, पढ़ाई का खर्च भी शून्यएयरपोर्ट पर 'राम' को देख भावुक हो गई बुजुर्ग महिला, छूने लगी अरुण गोविल के पैर, आस्था देख छलके आंसू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.