scriptRajasthan Election 2023 Despite ban on liquor, game of distributing alcohol, petrol-diesel and cash continues in full swing before voting | Rajasthan Chunav 2023: चलता रहा खेल... 'अंग्रेजी-देसी, डीजल सब मिलेगा बस वोट दे देना' | Patrika News

Rajasthan Chunav 2023: चलता रहा खेल... 'अंग्रेजी-देसी, डीजल सब मिलेगा बस वोट दे देना'

locationजयपुरPublished: Nov 25, 2023 10:05:45 am

Submitted by:

Kirti Verma

Rajasthan Chunav 2023: मतदान से 48 घंटे पूर्व प्रचार-प्रसार और उससे पहले शराब पर पाबंदी है। इसके बावजूद प्रदेश में कई जगह मतदाताओं को लुभाने का खेल चला।

rajasthan election live update

Rajasthan Chunav 2023: मतदान से 48 घंटे पूर्व प्रचार-प्रसार और उससे पहले शराब पर पाबंदी है। इसके बावजूद प्रदेश में कई जगह मतदाताओं को लुभाने का खेल चला। पत्रिका टीमों ने देखा कि प्रतिबंध के बाद भी शराब बांटी गई। एक जगह सामने आया कि 23 नवंबर तक शराब ठेका बंद होने तक प्रत्याशियों ने कोड वर्ड के माध्यम से ठेकों से शराब बंटवाई। एक अन्य जगह तो शराब, पेट्रोल-डीजल और नकदी बांटने का खेल भी खूब चला।

भरतपुर : कोड वर्ड बिल्ली-1, चीता-2
भरतपुर. यहां चोरी छिपे शराब बांटी गई। सब कुछ कोड वर्ड से चला। वायरल पर्चियों की पड़ताल में सामने आया कि 23 नवंबर तक प्रत्याशियों ने 20 और 50 रुपए का नोट देकर शराब बंटवाई। प्रत्याशियों ने शराब बांटने के कोड वर्ड भी निर्धारित कर लिए। जैसे बिल्ली-1 की पर्ची है तो एक क्वाटर, बिल्ली-2 की पर्ची है तो दो क्वाटर, चीता-2 की पर्ची है तो दो बोतल शराब देनी है।

पर्ची लेकर पंप पर जाओ, तेल भरवा लो
झुंझुनूं. जिले में मतदान से पहले कार्यकर्ताओं को लुभाने के लिए शराब, पेट्रोल-डीजल और नकदी बांटने का खेल भी खूब चला। झुंझुनूं जिले में भी कई जगह ऐसा देखने को मिला। एक कार्यालय में कुछ लोग आए और डीजल की पर्ची लेकर रवाना हो गए। प्रत्येक गाड़ी वाले को एक से दस लीटर के हिसाब से डीजल-पट्रोल की पर्ची बांटी जा रही थी। लोग यहां से पर्ची लेकर पंप पर जाते हैं और पर्ची दिखाकर गाड़ी में तेल भरवा लेते हैं।

जयपुर : देर रात तक बंटी शराब
मतदान शुरू होने से पहले शुक्रवार देर रात राजधानी की कच्ची बस्तियों में शराब का अवैध वितरण होता रहा। किसी ने भी रोकने की कोशिश नहीं की। रात करीब 10 बजे पत्रिका टीम को जवाहर नगर कच्ची बस्ती के आस-पास शराब बांटने की सूचना मिली। पत्रिका टीम टीला नंबर 7 के पास पहुंची तो यहां मुख्य सड़क के पास ही कुछ युवक लोगों को शराब बांटते दिखे। संवाददाता ने शराब ले रहे लोगों से बात करने की कोशिश की तो वे सकपका गए और बिना कोई जवाब दिए ही वहां से रवाना हो गए। जो लोग शराब बांट रहे थे, उनके पास शराब का एक पूरा कर्टन था। यहां खड़े कुछ युवकों ने बताया कि यह शराब चुनाव लड़ रहे एक प्रत्याशी की ओर से बंटवाई जा रही है। यह क्षेत्र आदर्श नगर विधानसभा क्षेत्र का हिस्सा है और यहां इस बार 14 प्रत्याशी मैदान में हैं।

यह भी पढ़ें

Rajasthan election 2023



सीकर : वोट के लिए मत का 'बेचान'
पत्रिका की टीम ने मतदान से ठीक पहले शुक्रवार को हाउसिंग बोर्ड स्थित कच्ची बस्ती में पड़ताल की तो सामने आया कि यहां मतदाता सूची में नाम होने पर भी बहुत से लोगों को प्रत्याशियों के नाम तक पता नहीं था। बात करने पर लोगों का साफ कहना था कि वे तो 'खर्चा- पानी' देने वालों को ही वोट देते हैं।

आठ वोट के मांगे दो हजार रुपए
पत्रिका की टीम ने यहां करणी स्कूल के पास एक बुजुर्ग से बात की। जब उससे मतदान करने की अपील की तो उसने सीधे रिपोर्टर से खर्चे पानी की मांग कर डाली। पूछने पर उसने परिवार के आठ वोट के बदले दो हजार रुपए की डिमांड की। कहा, हर बार नेता चुनाव में उसे रुपए देकर जाते हैं। प्रत्याशियों के नाम से अनजान वोटर ने कहा कि वह खर्चे के हिसाब से फूल, हाथ या अन्य किसी को परिवार के वोट दिलाने को तैयार है।

ट्रेंडिंग वीडियो