scriptअमरीका में होगा राजस्थानी संस्कृति का गुणगान | rajasthani culture will be shown in usa | Patrika News
जयपुर

अमरीका में होगा राजस्थानी संस्कृति का गुणगान

धोद बैंड ग्रुप जाएगा टूर पर, पांच अक्टूबर से तीन नवम्बर तक 15 राजस्थानी कलाकार देंगे अमरीका के 20 अलग-अलग शहरों में प्रस्तुति

जयपुरSep 28, 2018 / 10:51 am

Mridula Sharma

jaipur

अमरीका में होगा राजस्थानी संस्कृति का गुणगान

जयपुर. ‘कल्चर एम्बेसेडर ऑफ राजस्थान’ के नाम से दुनियाभर में अपनी पहचान रखने वाले जयपुर धोद बैंड गु्रप अब एक महीने तक अमरीका में राजस्थान की संस्कृति और संगीत का प्रचार करता नजर आएगा। बैंड पांच अक्टूबर से तीन नवम्बर तक अमरीका के 20 शहरों में परफॉर्म करता दिखेगा। अमरीकन गवर्नमेंट ने विशेष तौर पर अलग-अलग स्टेज पर परफॉर्म करने के लिए इस गु्रप को आमंत्रित किया है। गु्रप के 15 सदस्य कलाकार नृत्य, वादन और गायन के जरिए राजस्थान की कला, संस्कृति को इंटरनेशनल लेवल पर पेश करेंगे।
धोद बैंड के डायरेक्टर रहीस भारती ने बताया कि इस बैंड को 17 साल पहले बनाया गया था, मेरा जन्म जयपुर में हुआ है, लेकिन हमारा परिवार सीकर के पास धोद गांव में रहता है। इसलिए हमने इस बैंड का नाम धोद रखा। अब तक हम 100 से ज्यादा देशों में लगभग 1200 से ज्यादा प्रस्तुतियां दे चुके हैं। अभी हम नौ महीने के वल्र्ड टूर के बाद जयपुर लौटे हैं और अगले महीने राजस्थान की संस्कृति को अमरीका में रिप्रजेंट करेंगे। इसके लिए हमारा दल विशेष तैयारियां कर रहा है। इस दौरे में कलाकार टेक्सास, केलिफोर्निया और लॉस एंजलिस सहित 20 शहरों में प्रस्तुति देंगे।
छोटे-छोटे गांव के कलाकारों से बना है ग्रुप
बैंड के लीड तबला प्लेयर अमृत हुसैन ने बताया कि इटली में 25 अगस्त की रात हुए इंटरनेशनल म्यूजिक फेस्टिवल नोते-दे-ला-तारंता में भी हमने प्रस्तुति दी, कॉन्सर्ट में लगभग 2 लाख से ज्यादा दर्शक उपस्थित थे। इस कार्यक्रम में हमने मांड ‘केसरिया बालम’ को अलग अंदाज में पेश किया था, जिसमें इंटरनेशनल रॉक सिंगर एलपी ने भी हमारे साथ कुछ लाइनें गाई थीं। इस बैंड में राजस्थान के छोटे-छोटे गांव के ऐसे कलाकारों को प्लेटफ ॉर्म दे रहे हंै, जो अब तक गुमनामी में जीवन यापन कर रहे थे। शेखावटी के कलाकारों को अब तक विदेशों में बहुत कम मौके मिले हैं, लेकिन इस बैंड के जरिए क्षेत्र के लोगों में भी नई ऊर्जा आ गई है। लीड सिंगर संजय खान ने बताया कि हमने राजस्थानी मांड को बिलकुल सिम्पल अंदाज में तैयार किया है, जिसका फायदा हमें इंटरनेशनल ऑडियंस के बीच मिल रहा है, क्योंकि वे लोग हमारे साथ मिलकर गाना गा पाते है। हम घूमर, चरी, कालबेलिया डांसर्स को भी साथ रखते है, जो राजस्थानी नृत्य की खूबसूरती स्टेज पर बयां करते हंै।
ग्रुप में ये कलाकार होंगे शामिल
धोद बैंड में तबला वादक अमृत हुसैन, गायक संजय खान, ढोलक वादक बरकत, अलगोजा वादक हुसैन खान, नगाड़ा वादक गोपाल सिंह, भवाई नर्तक मुंशी, लोक नर्तक तसलीम, गायक सिकंदर लंगा, डांसर कमला कुमारी और रेखा 20 शहरों में राजस्थान को रिप्रजेंट करेंगे। रईस भारती ने बताया कि जयपुर में अल्बर्ट हॉल पर हमें प्रस्तुति देने का इंतजार है, लेकिन अभी तक सरकार की तरफ से कोई निमंत्रण नहीं मिला है। राजस्थान दिवस पर एक बार परफॉर्मेंस देने का मन है। राजस्थानी म्यूजिक के कारण ही विदेशों में कई दोस्त बने हैं।

Hindi News/ Jaipur / अमरीका में होगा राजस्थानी संस्कृति का गुणगान

ट्रेंडिंग वीडियो