Shivira Panchang: स्वीकृति से पहले संशोधन की मांग


Shivira Panchang:प्रदेश के स्कूलों में अर्द्धवार्षिक परीक्षा दिसंबर में होगी। शिक्षा विभाग की ओर से तैयार किए गए शिविरा पंचांग में परीक्षा 10 से 23 दिसंबर तक निर्धारित किया गया है। इसके बाद हर साल की तरह 25 से 31 दिसंबर तक शीतकालीन अवकाश रहेगा। मगर इस प्रस्तावित पंचांग पर सरकार की स्वीकृति से पहले ही शिक्षकों ने ही संशोधन की मांग उठा दी है।

By: Rakhi Hajela

Published: 06 Oct 2021, 11:31 AM IST

10 से 23 दिसंबर तक होगी अर्द्धवार्षिक परीक्षा

जयपुर।

प्रदेश के Schools में Half Yearly Exam दिसंबर में होंगे। शिक्षा विभाग की ओर से तैयार किए गए Shivira panchang में परीक्षा 10 से 23 दिसंबर तक निर्धारित किया गया है। इसके बाद हर साल की तरह 25 से 31 दिसंबर तक शीतकालीन अवकाश रहेगा। मगर इस पंचांग पर शिक्षकों ने ही संशोधन की मांग उठा दी है। शिक्षक संगठनों का कहना है कि 2018 के जन घोषणा पत्र में कांग्रेस ने शिक्षा में सुधार के लिए स्कूलों की समय सारिणी और कार्य अवधि को 2012-13 के समान रखने की बात कही थी, लेकिन सत्र 2021-22 के लिए प्रस्तावित शिविरा पंचांग को 2012-13 के मुताबिक नहीं किया गया है। ऐसे में इसमें संशोधन किया जाए। शिक्षा विभाग ने प्रस्तावित पंचांग राज्य सरकार केपास स्वीकृति के लिए भेजा है लेकिन अभी इसे स्वीकृति नहीं मिल पाई है।

इन संशोधनों की मांग कर रहे शिक्षक

राजस्थान प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षक संघ के महामंत्री महेंद्र पांडे का कहना है कि मध्यावधि अवकाश 1 से 13 नंवबर के स्थान पर 31 अक्टूबर से 14 नवंबर तक हो क्योंकि दीवाली की तैयारियों, स्नेह मिलन आदि के लिए पर्याप्त अवकाश की जरूरत होती है। शिक्षकों को भी बच्चों की तरह 17 मई से 30 जून त 45 दिन का ग्रीष्मावकाश मिले। शैक्षिक सम्मेलन 29 से 30 अक्टूबर तक रखें जाए। शिक्षा में सुधार के लिए दो दिन जिले और दो दिन राज्य स्तर पर शैक्षिक चिंतन की जरूरत है। शिक्षकों को भी एक मई के स्थान पर एक जुलाई से स्कूल बुलाया जाए।पंचांग 2012-13 में विद्यार्थियों और शिक्षकों को एक समान 17 मई से 30 जून तक अवकाश मिला था।

क्या है शिविरा पंचांग ?

शिविरा पंचांग में शिक्षण कार्य दिवस, छात्रवृत्ति आवेदन तिथि, खण्ड,जिला,राज्य स्तरीय खेल आयोजन की तिथियां, सांस्कृतिक, उत्सव व जयंती कार्यक्रम, राजकीय अवकाश, त्रैमासिक, अर्द्धवार्षिक व वार्षिक परीक्षा की तिथियां, अभिभावक शिक्षक बैठक, शिक्षक अधिवेशन आदि पूर्व निर्धारित होते हैं। सभी स्कूल इसी पंचांग के मुताबिक ही संचालित होते हैं।

जून से खुले हैं स्कूल

सरकार ने 7 जून से स्कूल खोल दिए थे। जून से अगस्त तक सभी स्कूल बच्चों को ऑनलाइन पढ़ा रहे थे। इसके बाद सरकार ने गाइडलाइन के साथ सितंबर में बच्चों को स्कूल बुलाने की अनुमति दे दी थी। लेकिन स्कूलों के संचालन के लिए कोई योजना पूर्व निर्धारित नहीं की क्योंकि शिविरा पंचांग जारी नहीं हो पाया। शिविरा पंचांग के लागू हुए बिना शिक्षा विभाग शैक्षणिक सत्र की कोई भी गतिविधि सुचारू रूप से नहीं चला पा रहा है। हर साल शिक्षा निदेशालय जून में इसे जारी कर देता है।

प्रस्तावित पंचांग के मुताबिक यह रहेगा स्कूलों का कैलेंडर

मध्यावधि अवकाश : 3 से 13 नवंबर 2021
शीतकालीन अवकाश: 25 से 31 दिसंबर 2021

ग्रीष्मावकाश: 17 मई से 30 जून 2021
अद्र्धवार्षिक परीक्षा: 10 से 23 दिसंबर 2021

वार्षिक परीक्षा : 9 से 25 अप्रेल 2021
शैक्षिक सम्मेलन: 24 से 25 सितंबर और 29 से 30 नवंबर 2021

संस्था प्रधान वाकपीठ् : 23 से 26 जुलाई 2021 के बीच दो दिन और 17 से 22 फरवरी 2022 के बीच दो दिन
स्थानीय परीक्षा परिणाम घोषणा : 30 अप्रेल 2022

सत्रारंभ 2022-23 : एक मई 2022 से नियमित कक्षा, शिक्षण कार्य एक जुलाई 2022 से आरंभ

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned