scriptCrime: What should the police do when complaints come every day? | Crime: जिले में चल रहा ठगियों का राज, बेरोज़गारों को नौकरी का झाँसा देकर लूट रहे... | Patrika News

Crime: जिले में चल रहा ठगियों का राज, बेरोज़गारों को नौकरी का झाँसा देकर लूट रहे...

locationजांजगीर चंपाPublished: Nov 25, 2023 06:28:59 pm

Crime: जिले में ठगी करने वालों का राज है। अधिकतर बेरोजगार वर्ग के लोग नौकरी लगाने के झांसे में आकर फ्रॉड किस्म के लोगों के चक्कर में फंस जाते हैं और ठगी का शिकार हो जाते हैं।

Crime: जिले में चल रहा ठगियों का राज, बेरोज़गारों को नौकरी का झाँसा देकर लूट रहे...
Crime: जिले में चल रहा ठगियों का राज, बेरोज़गारों को नौकरी का झाँसा देकर लूट रहे...
जांजगीर-चांपा। Crime: जिले में ठगी करने वालों का राज है। अधिकतर बेरोजगार वर्ग के लोग नौकरी लगाने के झांसे में आकर फ्रॉड किस्म के लोगों के चक्कर में फंस जाते हैं और ठगी का शिकार हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें

फ्लॉप हो गया स्वीप प्लान, 2,00,000 वोटर्स तक नहीं पहुंची ‘स्वीप’ की आवाज...




बीते 11 महीने के आंकड़ों पर गौर करें तो ऐसे 67 मामले सामने आए जिसमें संपत्ती संबंधित मामलाें में फंसकर हजार दो हजार क्या करोंड़ों रुपए लुटा बैठे। अब ऐसे लोग पुलिस का दरवाजा खटखटा रहे हैं, लेकिन पुलिस भी क्या करे। वह भी बेबस है। क्योंकि किसी के पाकेट से रकम वापसी कराना कठिन क्या बल्कि नामुमकिन है। पुलिस ऐसे लोगों को धारा 420 के तहत गिरफ्तार कर जेल के चार दीवारी में डाल सकती है।

कुछ आरोपी सजा की डर से पीड़ितों का कुछ रकम वापस करते हैं। लेकिन बहुत से आरोपी लाखों रुपए ठगने के बाद पैसे हजम कर चुके होते हैं जिन पैसों की वापसी संभव नहीं होता। पत्रिका ने बीते 11 माह में संपत्ती संबंधित चारसौबीसी की पड़ताल की तो चौकाने वाले आंकड़े सामने आया। बीते 11 महीने में 67 ऐसे मामले दर्ज किए गए हैं जिसमें 5 करोड़ 19 लाख 57 हजार रुपए की ठगी हुई है।
हर रोज एसपी से तीन-तीन फरियाद

एसपी आफिस में हर रोज 10 से 15 शिकायतें सुनी जाती है। जिसमें कम से कम तीन फरियाद ऐसी रहती है जिसमें फरियादी ठगी का शिकार होता है। कोई नौकरी लगाने के नाम पर लाखों की ठगी का शिकार होता है तो कोई व्यवसाय के नाम से। फरियादी पहले अपने निकट के थाने में रिपोर्ट लिखाने जाता है, जब उसकी सुनी नहीं जाती तो एसपी के पास फरियाद लेकर पहुंचता है। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दीगर राज्यों की खाक छानती है।
यह भी पढ़ें

कुसमुंडा मार्ग पर फिर से भीषण जाम, गाड़ियों की लगी लम्बी लाइन, लोग हुए खिन्न



सबसे अधिक कोतवाली थाने में एफआईआर

जांजगीर सिटी कोतवाली में सबसे अधिक ठगी की रिपोर्ट दर्ज की गई है। इससे साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि पढ़े लिखे लोग ही ठगी का शिकार हो जाते हैं। पलक झपकते अधिक रकम के लालच में लोग अपना अकाउंट नंबर दे बैठते हैं। फिर वही लोग ठगे जाने के बाद रिपोर्ट दर्ज कराने थानों का चक्कर काटते हैं। सिटी कोतवाली में सबसे अधिक मामले सामने आए हैं। जिसमें धारा 420 के अपराधों की पेंडेंसी भी सिटी कोतवाली में अधिक है।
जिले में ठगी करने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। हर रोज ऐसी तीन शिकायतें मिलती है। जिसमें लोग ठगी की रिपोर्ट लिखाने आते हैं। लोग ऐसे ठगों से सावधान व सतर्क रहें। -विजय अग्रवाल, एसपी

ट्रेंडिंग वीडियो