script जांजगीर-नैला नगरपालिका में भी अविश्वास प्रस्ताव की सुगबुगाहट शुरू | Murmurs of no-confidence motion also started in Janjgir-Naila Municipa | Patrika News

जांजगीर-नैला नगरपालिका में भी अविश्वास प्रस्ताव की सुगबुगाहट शुरू

locationजांजगीर चंपाPublished: Dec 09, 2023 09:15:15 pm

प्रदेश में विधानसभा चुनाव में बड़ी जीत के बाद कांग्रेस चारों खाने चित्त नजर आ रही है। वहीं भाजपाइयों की बांछे छिल गई है। इसके बाद जहां जहां कांग्रेस की नगर सरकार है वहां वहां के नगरपालिका अध्यक्षों को भी हटाने भाजपाई लामबंद होते नजर आ रहे हैं।

जांजगीर-नैला नगरपालिका में भी अविश्वास प्रस्ताव की सुगबुगाहट शुरू
जांजगीर-नैला नगरपालिका में भी अविश्वास प्रस्ताव की सुगबुगाहट शुरू
कुछ ऐसा ही हाल इन दिनों नगरपालिका जांजगीर नैला में सुनने को मिल रहा है। दरअसल, नगरपालिका जांजगीर नैला में वर्ष 2020 में नगर सरकार बनी थी। जिसमें बीजेपी को 12 तो कांग्रेस के 13 पार्षद चुने गए थे। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार होने से कांग्रेसियों का पलढ़ा मजबूत था और उन्होंने कम बहुमत होते हुए भी खींच खांचकर भाजपाइयों को पछाड़ते हुए अपनी सरकार बना ली थी। लेकिन जैसे ही प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गुल हुई वैसे ही स्थानीय सरकार के माथे में पसीना आने लगा। प्रदेश में भाजपा की सरकार बनते ही यहां के भाजपाई पार्षद एकजुट हो रहे हैं और नगर सरकार को गिराने की मंशा लिए एकजुट हो रहे हैं। हालांकि कांग्रेसियों को अपनी सरकार बचाने के लिए सात सीटों की जरूरत है, वहीं दूसरी ओर भाजपा को 18 पार्षदों को अपने पक्ष में लाना पड़ेगा। 13 पार्षद आलरेडी उनके पास है। ऐसे में उन्हें पांच पार्षदों को अपने पक्ष में लाना होगा। इस बीच कांग्रेस की लहर होने से एक दो पार्षद भी भाजपा में शामिल हो गए थे। जिससे भाजपा को कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी।

ऐसे कर रहे दावा


भाजपाइयों को भरोसा है कि नगर पालिका अध्यक्ष के कारनामों से अधिकतर पार्षद उनसे खपा हैं। क्योंकि पालिका में अध्यक्ष का एकतरफा राज है। वे किसी की सुनते नहीं। केवल अपने मन की करते हैं। इसके चलते कांग्रेसी पार्षदों में भी अध्यक्ष के प्रति नाराजगी है। जिसका फायदा भाजपा को मिलेगा। ऐसे में वे भाजपा पार्षदों को भरोसा है कि जीत उनके पक्ष में जाएगा। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस के नाराज पार्षदों को अध्यक्ष के प्रति नाराजगी भुनाने का मौका मिलेगा।

नगरपालिका चुनाव में हमारी बहुमत होने के बाद भी हम नगर में सरकार नहीं बना पाए थे। जिसे लेकर हमारी नाराजगी है। अब मौका है और दस्तूर भी है। सभी भाजपा पार्षद एकजुट होकर नगर सरकार के प्रति अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए भरपूर कोशिश कर रहे हैं।
- आशुतोष गोस्वामी, उपाध्यक्ष नपा जांजगीर-नैला

भाजपा पार्षदों के बीच बैठकों का आयोजन किया जाएगा। जिसमें नगर सरकार को गिराने के लिए अविश्वास प्रस्ताव लाने की चर्चा कर रहे हैं। प्रदेश में सरकार का गठन होने के बाद इस विषय में चर्चा करने वाले हैं।
-हितेश यादव, नेता प्रतिपक्ष, नपा जांजगीर-नैला

ट्रेंडिंग वीडियो