इंसानियत शर्मसार: अगवा की गई 14 साल की किशोरी के होते रहे सौदे, लुटती रही आबरू, 4 गिरफ्तार

इंसानियत शर्मसार: अगवा की गई 14 साल की किशोरी के होते रहे सौदे, लुटती रही आबरू, 4 गिरफ्तार

abdul bari | Publish: Jul, 05 2019 11:07:35 PM (IST) | Updated: Jul, 06 2019 02:40:44 AM (IST) Karauli, Karauli, Rajasthan, India

आरोपियों ने कुछ दिन तो किशोरी को अपने पास रख बलात्कार किया। बाद में उसे बसई डांग के नीभी गांव निवासी आशाराम गुर्जर व राजू गुर्जर को 2 लाख रुपए में बेच दिया। दोनों ने किशोरी को कुछ दिन रख उसकी अस्मत लूटी

हिण्डौनसिटी.

हजरिया की कोठी से अगवा की गई 14 वर्षीय किशोरी एक माह में तीन बार बिक गई। इस बीच उसकी आबरू लुटती रही ( rape in karauli ) और खरीदार उसका सौदा करते रहे। यह खुलासा शुक्रवार को मध्यप्रदेश की चंबल नदी के बीहडों गिरफ्तार किए गए चार आरोपियों के साथ दस्तयाब की गई पीडि़ता से पूछताछ के बाद पुलिस ने किया है।


नई मंडी थाना पुलिस के अनुसार अपहरण के बाद किशोरी को धौलपुर, मुरैना और ग्वालियर में तीन बार लाखों रुपए कीमत में बेच गया। इसकी तलाश में जुटी पुलिस ने कड़ी से कड़ी जोड़ आखिर किशोरी को ढूंढ निकाला और आरोपियों को भी पकड़ लिया।

डीएसपी सांवरमल नागौरा ने बताया कि मामले में मुख्य आरोपी सरमथुरा के बिरजा गांव निवासी अक्खेपाल गुर्जर है। उसने 28 मई को मित्र प्रदीप गुर्जर के साथ मिलकर किशोरी को अगवा किया था। आरोपियों ने कुछ दिन तो किशोरी को अपने पास रख बलात्कार ( rape in rajasthan ) किया। बाद में उसे बसई डांग के नीभी गांव निवासी आशाराम गुर्जर व राजू गुर्जर को 2 लाख रुपए में बेच दिया। दोनों ने किशोरी को कुछ दिन रख उसकी अस्मत लूटी और फिर राजू के मामा एमपी के मुरैना जिले के देवगढ़ निवासी रामफल गुर्जर को 3 लाख 30 हजार रुपए में बेच दिया। आरोपी रामफल ने भी कुछ दिन किशोरी से शारीरिक रिश्ते बनाए। मन भरने पर ग्वालियर निवासी एक जने को 4 लाख रुपए में बेच दिया।


डीएसपी ने बताया कि मामले में पुलिस ने सरमथुरा के बिरजा गांव निवासी अक्खेपाल गुर्जर व उसके दोस्त बाड़ी थाने के धीमरी गांव निवासी प्रदीप गुर्जर, बसई डांग के नीभी गांव निवासी आशाराम गुर्जर व सिरानीखेड़ा के पूठपुरा निवासी राजू गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया है।

 

ऐसे हुआ पर्दाफाश-
मामले की गंभीरता को देखतेे हुए डीएसपी सांवरमल नागौरा व कार्यवाहक थानाप्रभारी रामस्वरूप जादौन के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया। पुलिस ने किशोरी के घर आने-जाने वाले, आस-पड़ोस के युवा तथा रिश्तेदारों से पूछताछ की। किशोरी के मोबाइल नंबर से टॉवर लोकेशन व कॉल डिटेल निकलवाने के बाद पुलिस के हाथ कई महत्वपूर्ण जानकारियां लगी। इनमें सर्वाधिक कॉल अक्खेपाल नाम के युवक के थे।

 

यूं पकड़े गए
मामले की तह तक पहुंचने के बाद पुलिस ने पहले तो अपहरण के मुख्य आरोपी अक्खेपाल व उसके दोस्त राजू को गिरफ्तार किया। इसके बाद चंबल नदी के बीहडों मेंं 10 दिन डेरा डालने के बाद एमपी पुलिस की मदद से अलग-अलग स्थानों पर दबिश दी। चंबल के घने बीहड़ स्थित एक घर से आशाराम व राजू गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया। उनसे पूछताछ के बाद पुलिस ने रामफल व किशोरी की तलाश में देवगढ़ थाना पुलिस के सहयोग से चंबल के सुनसान जंगल में दबिश दी। वहां एक छप्पर पोश से नाबालिग किशोरी को दस्तयाब कर लिया, लेकिन आरोपी रामफल फरार हो गया।

यह खबरें भी पढ़ें...

30 नींद की गोलियां खाकर एफबी पर डाली पोस्ट, 'प्लीज मुझे माफ करना', पढ़कर दोस्तों के उड़े होश

बजरी माफिया ने पुलिस को धमकाया, फिर एसएचओ पर गाड़ी चढ़ाने का किया प्रयास


जयपुर में फिर हुई नाबालिग से दरिंदगी, अपहरण करने के बाद किया बलात्कार

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned