कलेक्टर ने वन विभाग के अधिकारियों को लगाई फटकार, कहा- 24 घंटे के भीतर हो जाना चाहिए ये काम, नहीं तो...

कलेक्टर ने वन विभाग के अधिकारियों को लगाई फटकार, कहा- 24 घंटे के भीतर हो जाना चाहिए ये काम, नहीं तो...

Vasudev Yadav | Updated: 09 Aug 2019, 12:07:40 PM (IST) Korba, Korba, Chhattisgarh, India

Forest Department : पिछले दो दिनों में हुई बारिश से जिले का मुख्य कोसम नाला पूरे उफान पर है। नाले पर निर्मित दो-तीन पुल-पुलिया के ऊपर से पानी बहने के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में आवागमन प्रभावित हुआ है।

कोरबा. जिला मुख्यालय से लेमरू और इसके आसपास स्थित लगभग 40 गांवों के संपर्क टूटने की खबर पर कलेक्टर किरण कौशल गुरुवार की सुबह अजगरबहार के पास कोसमनाला पुल का निरीक्षण करने पहुंची। कलेक्टर ने अभी तक की कार्रवाई पर नाराजगी जताते हुए वन विभाग के अफसरों को कड़ी फटकार लगाई है। 24 घंटे के भीतर पुल पर एकत्र हुई लकडिय़ों को हटाने के लिए कहा है। अन्यथा कार्रवाई की चेतावनी दी है।
कलेक्टर किरण कौशल ने आज बरसते पानी में अजगरबहार-विश्रामपुर मार्ग पर कोसम नाला की पुलिया पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। हाथ में छाता पकड़े कलेक्टर ने पुलिया में बारिश के पानी के साथ पहाड़ से बहकर आये बड़े पत्थरों और नाले में फंसे बड़े-बड़े पेड़ों के तने तथा अवशेषों को आगामी दो दिनों में हटाने के निर्देश अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने पिछले 48 घंटों में नाले के नीचे पानी निकलने वाली जगह पर फंसे बड़े-बड़े पेंड़ों के तनों, टहनियों और कचरे और घास-फुस को अब तक हटाने की कोई पहल नहीं करने पर वन विभाग के उपस्थित अधिकारी-कर्मचारियों को फटकार लगाई।

Read : इसको नहीं देखा तो क्या देखा पेट्रोल पंप सेल्समैन को युवकों ने धुना देखिये वीडियो
कलेक्टर ने प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के कार्यपालन अभियंता को कोसम नाला में बहकर आये बड़े-बड़े पत्थरों को हटाने के लिए उपयुक्त क्षमता की जेसीबी मशीन या अन्य उपयोगी मशीन का इंतजाम करने के निर्देश दिए। कौशल ने अपर कलेक्टर प्रियंका महोबिया के साथ बेहरचुंवा नाले पर बनी पुलिया का भी निरीक्षण किया। बारिश के कारण पहाड़ से बहकर आने वाले तेज पानी से पुलिया के किनारे की मिट्टी कट जाने के कारण सडक़ धसने और पुलिया को नुकसान पहुंचने की संभावना को देखते हुए तत्काल पत्थर, गिट्टी आदि से उचित मरम्मत करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए।

 

 

कलेक्टर पुलिया के दूसरे तरफ पहुंची और तेज बहाव में बहने के कारण पुलिया के किनारे की मिट्टी बह जाने से रास्ता क्षतिग्रस्त होने की स्थिति का जायजा लिया। कलेक्टर ने पुलिया की रिटर्निंग दीवाल को आगे और बनाकर गिट्टी, बोल्डर, रेत फिलिंग कर सीसी रोड बनाने के निर्देश अधिकारियों को दिए। वहीं उन्होंने विश्रामपुर सहित नाला पार के सभी गांवों में निवासियों के लिए पर्याप्त मात्रा में खाद्यान्न और ईलाज के लिए दवाईयां आदि व्यवस्थाओं के निर्देश दिए।

Read : बेपनाह मुहब्बत का ऐसा अंत, पढ़िए पूरी खबर
वन विभाग लकडिय़ों का हटाने से कर रहा मना
घटना के बाद इस क्षेत्र में रहने वाले लोगों का संपर्क जिला मुख्यालय से टूट गया था। इसके बाद प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे थे। सेतु निगम ने पुल पर जमे मलबा और लकडिय़ों को हटाने का प्रयास किया। इसे वन विभाग के अधिकारियों ने रोक दिया। उन्होंने वन क्षेत्र में सेतु निगम की कार्रवाई पर नाराजगी जताई। लकडिय़ों को हाथ लगाने से मना कर दिया था। इसके बाद सेतु निगम ने सडक़ से लकडिय़ों को नहीं हटाया। इससे मार्ग बाधित है। गुरुवार को कलेक्टर कोसमपुल पहुंची तो लकडिय़ां सडक़ पर पड़ी मिली। यह देखकर कलेक्टर नाराज हो गईं, उन्होंने वन विभाग के अफसरों को खरी-खोटी सुनाते हुए फटकार लगाई।

Read : सरकार ने जम्मू कश्मीर में धारा 370 व 35A हटाया तो पुलिस हुई सतर्क, चौक चौराहों पर सुरक्षा बल तैनात, बीजेपी ने मनाया जश्न
राशन, पानी और इलाज की भी व्यवस्था करने के दिए निर्देश
कौशल ने आगामी 48 घंटे में भी बारिश की संभावना से इन पुलियों पर उपर से पानी बहने की स्थिति में छातासरई, सरईसिंगार और गौरबोरा सहित नाला पार के सभी गांवों में राशन-पानी, ईलाज की समुचित व्यवस्था समय पर करने के निर्देश दिए। उन्होंने इन पुलियों पर ऊपर से पानी बहने की स्थिति में पैदल या किसी भी वाहन आदि से लोगों के पुलिया पार नहीं करने या किसी अन्य को पार नहीं करने देने की समझाईस उपस्थित ग्रामीणों को दी। ग्रामीणों की मांग पर अजगरबहार-विश्रामपुर पुलिया भी देखीं कलेक्टर ने, रिटर्निंग दीवाल बढ़ाकर सीसी रोड बनाने दिए निर्देश- छातासरई मार्ग से वापस लौटते समय अजगरबहार के ग्रामीणों ने कलेक्टर श्रीमती कौशल को विश्रामपुर मार्ग पर बनी पुलिया के बारिश के चलते क्षतिग्रस्त हो जाने की जानकारी दी। जानकारी मिलते ही कलेक्टर सभी अधिकारियों के साथ इस पुलिया तक पहुंची और स्थिति का जायजा लिया। इस पुलिया पर भी बारिश के पानी के साथ पहाड़ों से बहकर आये पत्थर और बड़े-बड़े पेंड़ो के तनों-टहनियों के फंसे होने और मिट्टी रेत का मलवा सडक़ तक जमा हो गया है। कलेक्टर ने तत्काल पेंड़ो, टहनियों को हटाने और मलबे को साफ करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

Chhattisgarh से जुड़ी खबरें यहां पढि़ए ...

 

 पिछले दो दिनों में हुई बारिश से जिले का मुख्य कोसम नाला पूरे उफान पर है। नाले पर निर्मित दो-तीन पुल-पुलिया के ऊपर से पानी बहने के कारण ग्रामी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned