script 8 साल की बेटी की हत्या के मामले में जेल में बंद आरोपी सौतेली मां अस्पताल से फरार, 3 माह की है गर्भवती | Female prisoner escaped from hospital who murdered daughter | Patrika News

8 साल की बेटी की हत्या के मामले में जेल में बंद आरोपी सौतेली मां अस्पताल से फरार, 3 माह की है गर्भवती

locationकोरीयाPublished: Jan 27, 2024 08:13:49 pm

Female prisoner escaped: गर्भावस्था के दौरान तबियत खराब होने पर जिला अस्पताल में भर्ती कर किया जा रहा था इलाज, आरोपी महिला को पुलिस ने फरार होने के 17 घंटे बाद ही कर लिया गिरफ्तार

8 साल की बेटी की हत्या के मामले में जेल में बंद आरोपी सौतेली मां अस्पताल से फरार, 3 माह की है गर्भवती
Female prisoner escaped from hospital bed
बैकुंठपुर. Female prisoner escaped: 8 साल की सौतेली बेटी को कुएं में ढकेल कर हत्या की आरोपी महिला जिला अस्पताल से फरार हो गई। वह 3 माह की गर्भवती है। महिला के भागने के संबंध में सिविल सर्जन ने जेल अधीक्षक और थाना प्रभारी को पत्र लिखकर जानकारी दी। मामले को लेकर पुलिस व जेल प्रशासन में हडक़ंप मच गया। कोतवाली पुलिस तुरंत हरकत में आई और 17 घंटे बाद फरार महिला को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

जानकारी के अनुसार अपनी सौतेली बेटी को कुएं में धकेल कर हत्या करने वाले मां सावित्री राजवाड़े (23) को 12 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था। वह 3 महीने की गर्भवती है। करीब एक सप्ताह पूर्व ब्लीडिंग होने के कारण 18 जनवरी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
इस दौरान आरोपी महिला की गायनिक वार्ड में भर्ती कर इलाज चल रहा था। लेकिन २६ जनवरी रात करीब 9 बजे के बाद से महिला फरार हो गई थी।

मामले में शनिवार सुबह सिविल सर्जन ने थाना प्रभारी व जेल अधीक्षक को पत्र लिखकर जानकारी दी। खबर मिलते ही कोतवाली पुलिस तुरंत हरकत में आई और आरोपी महिला को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।
यह भी पढ़ें
Video: भाजपा पार्षद की गुंडागर्दी: साथियों के साथ घर में घुसकर की नर्स की पिटाई, थाने में भी मचाया बवाल, 4 गिरफ्तार


इस मामले में जेल में निरुद्ध है महिला
बैकुंठपुर थाना के अंतर्गत ग्राम केनापारा में 10 नवंबर 2023 को 8 साल की बच्ची आर्शी राजवाड़े का शव कुएं में बरामद हुआ था। मामले में टीम बना कर जांच कराई गई थी। वहीं केनापारा के ग्रामवासियों को भी बालिका की सौतेली मां के ऊपर शक था।
ग्रामवासियों ने मृत बालिका के पिता परमेश्वर राजवाड़े के साथ थाने में निष्पक्ष जांच करने आवेदन भी सौंपा था। आवेदन में यह भी जिक्र किया गया था कि ग्राम केनापारा निवासियों ने बालिका को उसकी सौतेली मां के साथ 3 बजे भोर में जाते देखा था। लेकिन लौटने वक्त बालिका की मां अकेली ही घर आ रही थी।
जिस कुएं में बच्ची का शव मिला था, वह घर से करीब 250 मीटर दूर था। मृत की बच्ची व ग्रामीणों की शिकायत को गंभीरता से लिया गया और पुलिस ने शक के आधार पर बालिका की मां और उसके पिता को थाना में बुला कर पूछताछ की। इस दौरान सौतेली मां ने बच्ची को कुएं में धक्का देने की बात कबूल की थी।
मामले में बैकुंठपुर थाना में महिला के खिलाफ 302 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है। वहीं कोर्ट में चालान पेश करने के बाद आरोपी महिला को जेल भेजा गया था।

यह भी पढ़ें
हिट एंड रन: तेज रफ्तार कार की टक्कर से बाइक सवार युवक की मौत, पत्नी व मासूम बेटी घायल, कार चालक फरार


रात में फरार हो गई थी महिला
आरोपी महिला जिला अस्पताल में १8 जनवरी को सुबह करीब पौने 12 बजे भर्ती थी। जो 26 जनवरी की रात 9 बजे से गायब हो गई थी। मामले में थाना प्रभारी एवं जेल अधीक्षक को पत्र लिखकर सूचना दी गई है।
डॉ. एके करण, सिविल सर्जन जिला अस्पताल बैकुंठपुर

ट्रेंडिंग वीडियो