कांवड़ यात्रा के चलते तीन दिनों तक बंद रहेगा लखनऊ-गोरखपुर फोरलेन, इन रास्तों का करें प्रयोग

कांवड़ यात्रा के चलते तीन दिनों तक बंद रहेगा लखनऊ-गोरखपुर फोरलेन, इन रास्तों का करें प्रयोग

Akansha Singh | Updated: 17 Jul 2019, 09:41:51 AM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

लखनऊ-गोरखपुर फोरलेन (Lucknow-Gorakhpur Fourlen) तीन दिनों तक बंद रहेगा। इससे यातायात रूट में भी बदलाव रहेगा।

लखनऊ. लखनऊ-गोरखपुर फोरलेन (Lucknow-Gorakhpur Fourlen) तीन दिनों तक बंद रहेगा। इससे यातायात रूट में भी बदलाव रहेगा। 27 जुलाई से शुरू होकर एक माह तक चलने वाली कांवड़ यात्रा (Kanwad Yatra) के दौरान लखनऊ-गोरखपुर फोरलेन पर यातायात तीन दिन पूरी तरह से बंद रहेगा। इस दौरान गोरखपुर से लखनऊ आने वाले वाहनों को खलीलाबाद से आगे और लखनऊ से गोरखपुर जाने वाले वाहनों को हाईवे से बस्ती जिले की सीमा में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। इस दौरान गोरखपुर और लखनऊ आने-जाने के लिए पुलिस ने वैकल्पिक रूट के उपयोग का सुझाव दिया है।

यह भी पढ़ें - बहराइच में बाढ़ का क़हर, शुरु हुई जमीनों की कटान, देखें वीडियो

यातायात व्यवस्था में यह बदलाव 27 जुलाई की रात आठ बजे से शुरू होकर 30 जुलाई को कांवड़ यात्रा जारी रहने तक प्रभावी रहेगा। गोरखपुर जोन के संतकबीर नगर जिले में स्थित तामेश्वरनाथ मंदिर और बस्ती जिले में स्थित भदेश्वरनाथ मंदिर में श्रावण मास में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ होती है। इस दौरान दोनों मंदिरों में बड़ी संख्या में कांवड़िये भी पहुंचते हैं। अधिकतर कांवड़िये गोरखपुर-लखनऊ हाईवे का प्रयोग करते हैं। खलीलाबाद से लेकर बस्ती के बीच हाईवे पर कांवड़ियों की भारी भीड़ होती है। इसे देखते हुए एडीजी जोन दावा शेरपा के निर्देश पर श्रावणी शिवरात्रि से एक दिन पहले से ही गोरखपुर-लखनऊ हाईवे पर वाहनों का आवागमन बंद करने का निर्णय लिया गया है।

यह भी पढ़ें - Savan 2019 शुरु, राजधानी लखनऊ में गूंजे हर हर महादेव का जयकारे, यातायात व्यवस्था में हुआ बदलाव

इन रास्‍तों से जाएं

- गोरखपुर से लखनऊ की तरफ आने वाले वाहन खलीलाबाद से बखिरा, नन्दौर, खेसरहा, बांसी से इटवा, तुलसीपुर, बलरामपुर होते हुए जाएंगे।
- लखनऊ और बाराबंकी से गोरखपुर जाने वाले वाहन फैजाबाद से आंबेडकरनगर होते हुए बेलघाट से गोरखपुर जिले में प्रवेश करेंगे।
- बस्ती से लखनऊ आने वाले बड़े वाहन ओवरब्रिज से मनौली, बेवा तिराहा से उतरौला होते हुए बलरामपुर होकर लखनऊ आएंगे। लखनऊ से बस्ती जाने वाले वाहन भी इसी रास्ते का प्रयोग करेंगे।

यह भी पढ़ें - चित्रकूट धाम मण्डल बांदा के कमिश्नर और डीआईजी का दौरा, हुआ वृक्षारोपण

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned