यूपी में ऑक्सीजन की कमी दूर करेंगे ये दो मंत्री

UP Oxygen Lack : सीएम योगी ने कोरोना मरीजों को राहत देने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के दो मंत्रियों को ऑक्सीजन व बेड की कमी को दूर करने की जिम्मेदारी सौंपी

By: Mahendra Pratap

Published: 22 Apr 2021, 04:15 PM IST

लखनऊ. UP Oxygen Lack away : कोरोनावायरस के बढ़ते केसों से यूपी में हाहाकार मच गया है। उस पर से अस्पतालों में बेड और आक्सीजन की कमी से जनता बुरी तरह से परेशान हो गई है। पर सीएम योगी ने कोरोना मरीजों को राहत देने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के दो मंत्रियों को ऑक्सीजन व बेड की कमी को दूर करने की जिम्मेदारी सौंपी है। ऑक्सीजन की व्यवस्था चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना (Suresh Khanna) और एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह (Siddharthnath Singh) को सौंपी गई है।

सांसों की सप्लाई... जानिए ऑक्सीजन सिलेंडर की पूरी एबीसी...

बड़े ऑक्सीजन प्लांट का जिम्मा सुरेश खन्ना को :- चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना को बड़े ऑक्सीजन प्लांट से समन्वय करके अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित कराने कार्य मिलेगा। ऑक्सीजन सप्लाई लगातार बनी रहे इसके लिए हरसंभव प्रयास करने को कहा गया है।

छोटे अस्पतालों का जिम्मा सिद्धार्थनाथ सिंह को :- एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह को ऑक्सीजन का उत्पादन करने वाली एमएसएमई इकाइयों से समन्वय करके छोटे अस्पतालों को ऑक्सीजन सप्लाई कराने का जिम्मा सौंपा गया है। औद्योगिक ऑक्सीजन बनाने वाली इन इकाइयों को मेडिकल ऑक्सीजन बनाने के लिए लाइसेंस की दिक्कत आ रही थी। पर, मौजूदा हालात को देखते हुए एमएसएमई इकाइयों को 31 दिसंबर 2021 तक लाइसेंस का नवीनीकरण और औद्योगिक के स्थान पर मेडिकल ऑक्सीजन की सप्लाई करने के लिए लाइसेंस से छूट दे दी गई है।

जिला अस्पतालों में बेड बढ़ाने के निर्देश :- सीएम योगी ने स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के मंत्रियों व अधिकारियों को अस्पतालों व चिकित्सा संस्थानों में खाली बेडों की संख्या को सार्वजनिक करने और आवश्यकतानुसार बेडों की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। सभी जिला अस्पतालों में बेड बढ़ाने को कहा गया है। मुख्यमंत्री स्वयं इसकी निगरानी कर रहे हैं।

Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned