Gold Import पर Coronavirus का गहरा असर, साढ़े छह साल के निचले स्तर पर

  • सालाना आधार पर गोल्ड के आयात में 73 फीसदी से ज्यादा की गिरावट
  • दूसरा सबसे बड़ा गोल्ड इंपोर्टर है भारत, मार्च 19 में 93 टन सोना किया था आयात
  • रिटेल डिमांड कम होने और सोने की कीमतों में भारी उछाल की वजह से आयात कम

By: Saurabh Sharma

Updated: 07 Apr 2020, 08:24 AM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का कहर भारत में अब और ज्यादा बढ़ गया है। मामलों में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है। जिसकी वजह से उद्योग धंधे भी पूरी तरह से बंद है। अगर बात सर्राफा कारोबार की करें तो देश के तमाम स्पॉट मार्केट बंद है। भले ही वायदा बाजार में लगातार कारोबार देखने को मिल रहा है, लेकिन फिजिकल गोल्ड की डिमांड तो स्पॉट मार्केट यानी खुदरा बाजार से ही आती है, लेकिन मार्च में कोरोना वायरस का असर गोल्ड मार्केट में गहर देखने को मिला है। सर्राफा बाजार बंद रहने डिमांड में कमी और कीमतों में भारी उछाल की वजह से देश में गोल्ड इंपोर्ट मार्च में साढ़े छह साल के निचले स्तर पर चला गया है। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर कोरोना वायरस की वजह से गोल्ड इंपोर्ट में कितनी कमी देखने को मिली है।

यह भी पढ़ेंः- SBI ने किया सावधान, EMI रुकवाने के लिए ना दें किसी को अपना OTP Number

73 फीसदी कम हुआ गोल्ड इंपोर्ट
मीडिया रिपोट्र्स के अनुसार मार्च के महीने में गोल्ड इंपोर्ट में पिछले साल के मार्च के 73 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली है। रिपोर्ट के अनुसार मार्च के महीने में गोल्ड इंपोर्ट 25 टन के आसपास हुआ है। जबकि पिछले साल मार्च के महीने में गोल्ड इंपोर्ट 93.24 टन हुआ था। वहीं बात मूल्य आधारित गोल्ड इंपोर्ट की बात करें तो उसमें भी 63 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है। जो गिरकर 1.22 बिलियन डॉलर पर आ गया है। आपको बता दें साल 2019 ( जनवरी से दिसंबर तक ) में गोल्ड इंपोर्ट में बड़ी गिरावट देखने को मिली थी, जो तीन साल के निचले स्तर पर था।

यह भी पढ़ेंः- Coronavirus Lockdown: Banks की तरह NBFCs को भी मिले राहत, तभी बढ़ेगी इकोनॉमी को रफ्तार

आखिर क्यों देखने को मिली इंपोर्ट में गिरावट?
जानकारों की मानें तो गोल्ड में गिरावट कोरोना वायरस की वजह से हुआ लॉकडाउन तो है ही, वहीं मार्च में सोने के दाम में बड़ी तेजी भी इसका अहम कारण रहा। मार्च के महीने में गोल्ड के इंटरनेशनल कीमतों में काफी तेजी देखने को मिली थी। वहीं रुपए में जबरदस्त गिरावट के कारण भी गोल्ड इंपोर्ट करना देश के कारोबारियों को काफी महंगा पड़ रहा था। जिसकी वजह से कारोबारियों ने गोल्ड इंपोर्ट में अपना हाथ खींचे रखा। वहीं दूसरी ओर इंपोर्ट में गिरावट घरेलू कीमतों में रिकॉर्ड तेजी भी बनी। जिसकी वजह से डिमांड कम ही देखने को मिली थी। आपको बता दें कि भारत का गोल्ड का दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा आयातक देश है।

यह भी पढ़ेंः- coronavirus s का पहला शिकार बनी Air Deccan, संचालन बंद, कर्मचारियों को बिना वेतन बिठाया घर

आज के इंटरनेशनल भाव
अगर सोने के दाम की बात करें तो इंटरनेशनल मार्केट में गोल्ड कोमेक्स 1.53 फीसदी यानी 25.30 डॉलर की तेजी के साथ सोना 1670.90 डॉलर प्रति ओंस पर कारोबार कर रहा है। वहीं सिल्वर कोमेक्स 2.28 फीसदी की तेजी के साथ 14.83 डॉलर प्रति ओंस पर कारोबार कर रहा है। जानकारों की मानें तो कोरोना वायरस की वजह से दुनिया में मंदी का खौफ देखने को मिल रहा है। जिसकी वजह दुनिया के तमाम निवेशकों में सोना और चांदी पहली पंसद बने हुए हैं।

यह भी पढ़ेंः- Coronavirus Lockdown: बैंकों का बढ़ सकता है एनपीए, सरकार दे सकती है 25 हजार करोड़

14 अप्रैल तक तक सर्राफा बाजार हैं बंद
अगर बात देश के गोल्ड स्पॉट मार्केट की करें तो 14 अप्रैल तक बंद है। केंद्र सरकार ने देश में कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन किया हुआ है। तमाम उद्योग धंधों के साथ सर्राफा बाजारों को भी बंद हुआ है। जानकारों की मानें इस लॉकडाउन की वजह से देश की इकोनॉमी को 9 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा के नुकसान होने की संभावना है। वहीं दूसरी ओर सोने के दाम 45 हजार से ज्यादा होने के आसार दिखाई दे रहे हैैं।

coronavirus
Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned