Nagpur Sugar Factory में बॉयलर फटने से 5 की मौत, Gadkari के पास था कारखाने का स्वामित्व!

  • महाराष्ट्र के नागपुर ( Nagpur ) में एक शुगर फैक्ट्री ( Sugar Factory ) का बॉयलर फटने से बड़ा हादसा
  • Nagpur हादसे में पांच लोगों के मारे जाने की खबर है, घटना से आसपास के इलाके में हड़कंप मच गया

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के नागपुर ( Nagpur ) से बड़ी खबर सामने आई है। एक शुगर फैक्ट्री ( Sugar Factory ) का बॉयलर फटने से बड़ा हादसा हो गया। हादसे में पांच लोगों के मारे जाने की खबर है। घटना से आसपास के इलाके में हड़कंप मच गया। जानकारी के अनुसार मानस एग्रो इंडस्ट्रीज एंड शुगर लिमिटेड फैक्ट्री ( Manas Agro Industries and Sugar Limited Factory ) का बॉयलर में शनिवार को अचानक भयानक विस्फोट ( Blast in Boiler ) हो गया, जिसमें पांच मजदूरों की मौत हो गई। नागपुर के एसपी देहात ने जानकारी देते हुए बताया कि हादसा दोपहर लगभग 2.14 बजे हुआ। विस्फोट इतना भयानक था कि फैक्ट्री में आग लग गई, जिससे मजदूरों की जलने से मौत हो गई।

LG Anil Baijal ने पलटा Delhi Government का फैसला तो Manish Sisodia ने Amit Shah को लिखा पत्र

मित्व केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के परिवार के पास रहा

जानकारी के अनुसार जिस चीनी कारखाने में हादसा हुआ वो मानस ग्रुप का हिस्सा है। इससे पहले इसको पूर्ति पॉवर एंड शुगर फैक्टरी के रूप में जाना जाता था। जिसका स्वामित्व केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के परिवार के पास रहा है। पुलिस कप्तान राकेश ओला ने बताया कि शुरुआती जांच में सामने आया है कि बॉयलर में विस्फोट के समय कुछ मजदूर साइट पर वेल्डिंग का काम कर रहे थे। माना जा रहा है कि यह विस्फोट कुछ गैस रिसाव के कारण हुआ होगा। हालांकि बॉयलर फटने की असल वजह जांच के बाद ही सामने आएगी। फिलहाल इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई है, मामले की जांच चल रही है।

PM Narendra Modi भी थे Amar Singh की दोस्ती के मुरीद, ट्वीट कर लिखी यह बात

शिवसेना नेता किशोर तिवारी की जांच की मांग

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मृतकों की शिनाख्त मंगेश प्रभाकर नाकेरकर (21), लीलाधर वामनराव शिंदे (42), वासुदेव लाडी (30), सचिन प्रकाश वाघमरे (24) और प्रफुल्ल पांडुरंग मून (25) के रूप में हुई है। सभी मजदूर वडगांव के रहने वाले थे। वहीं, हादसे के बाद लोगों का गुस्सा पुलिस पर फूट गया। गुस्साए लोगों ने पुलिस को शवों तक नहीं पहुंचने दिया। हालांकि बाद में पुलिस ने लोगों को समझाबुझाकर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। शिवसेना नेता किशोर तिवारी ने इस त्रासदी पर दुख व्यक्त किया है। तिवारी ने इसके साथ ही मामले की निष्पक्ष जांच किए जाने की भी मांग की है।

Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned