scriptकोरोना से जंग के बीच नया खतरा, अमरीका की तरह भारत में भी मिला डेल्टा प्लस जैसा नया म्यूटेशन | Coronavirus After America and Britain ay.2 Mutaion like delta plus variant found in India | Patrika News
विविध भारत

कोरोना से जंग के बीच नया खतरा, अमरीका की तरह भारत में भी मिला डेल्टा प्लस जैसा नया म्यूटेशन

नए खतरे से बढ़ी चिंता, अमरीका, ब्रिटेन के बाद भारत में मिला डेल्टा प्लस जैसा एवाई.2 वेरिएंट

Jul 09, 2021 / 12:02 pm

धीरज शर्मा

659.jpg
नई दिल्ली। अमरीका ( America ) और ब्रिटेन ( Britain ) के बाद भारत में भी डेल्टा वेरिएंट ( Delta Variant ) के और भी म्यूटेशन मिल चुके हैं। खास बात यह है कि अब तक इस पर केंद्र सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर कोई जानकारी नहीं दी गई।
भारत में डेल्टा प्लस की तरह एवाई .2 म्यूटेशन ( AY.2 ) के मामले भी सामने आ रहे हैं। यह म्यूटेशन भी डेल्टा वेरिएंट का ही रूप है। इसको लेकर अब भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ( ICMR ) ने जानकारी दी है कि देश में अब तक पांच से अधिक मरीजों में एवाई.2 म्यूटेशन का पता चला है। बता दें कि अब तक अमरीका में ही सबसे ज्यादा एवाई.2 के मामले सामने आए हैं ।
यह भी पढ़ेँः Covaxin को WHO से जल्द मिलेगी मंजूरी! चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने बताई वजह

भारत के इन राज्यों में नया खतरा
कोरोना वायरस की दूसरी लहर से उबर रहे भारत के सामने डेल्टा प्लस वेरिएंट ने चुनौती खड़ी कर दी है। वहीं डेल्टा वेरिएंट के नए खतरे एवाई.2 म्यूटेशन के केस मिलने के बाद चिंता और बढ़ गई है। देश में इसके मामले राजस्थान, कर्नाटक और महाराष्ट्र में मिले हैं।
अक्टूबर 2020 से अब तक कई वेरिएंट
दरअसल पिछले साल अक्तूबर माह में कोरोना वायरस का डबल म्यूटेशन महाराष्ट्र में मिला था। कुछ महीनों बाद ही डेल्टा व कापा वैरिएंट सामने आए।

डेल्टा में भी दो म्यूटेशन हुए और उनमें डेल्टा प्लस और एवाई.2 म्यूटेशन सामने आया। खास बात यह है कि ये दोनों ही म्यूटेशन भारत में मिल चुके हैं।
पुणे स्थित एनआईवी की डॉ. प्रज्ञा यादव के मुताबिक डेल्टा प्लस और एवाई.2 दोनों ही म्यूटेशन काफी गंभीर हैं और इनके असर के बारे में बहुत जानकारी अभी नहीं है।

इस बात की भी आशंका है कि देश में तीसरी लहर आती है तो ये दोनों ही म्यूटेशन उसका कारण हो सकते हैं।
डेल्टा तीसरा म्यूटेशन भी मिला
डेल्टा का तीसरा म्यूटेशन एवाई.3 भी सामने आया है। राहत की बात यह है कि अबतक भारत में इस म्यूटेशन के होने की खबर नहीं मिली है।

यह म्यूटेशन बीते 23 जून को दर्ज किया गया है। अमरीका और ब्रिटेन के कुछ राज्यों में जीनोम सीक्वेसिंग के जरिए एवाई.3 म्यूटेशन की पुष्टि हुई है।
ऐसा पहली बार नहीं है कि सरकार की ओर से कोरोना के वेरिएंट को लेकर जानकारी आने में समय लगा हो। इससे पहले भी स्वास्थ्य मंत्रालय ने डेल्टा प्लस के आठ से अधिक मामले सामने आने के बाद भी कई दिन तक जानकारी नहीं दी थी।
उस दौरान प्रेस कान्फ्रेंस में मंत्रालय ने डेल्टा प्लस के मामले मिलने से इंकार कर दिया था। इसके ठीक एक सप्ताह बाद मंत्रालय की ओर से ही मीडिया से बातचीत में 49 मामले मिलने की पुष्टि की गई।
यह भी पढ़ेंः कोरोना से जंग के बीच करीब दो महीने बाद बढ़ी चिंता, चौंका देंगे नए आंकड़े

250 से ज्यादा मिल चुके एवाई.2 के सैंपल
अब तक जीआईएसआईडी प्लेटफॉर्म पर एवाई.2 वैरिएंट 250 से अधिक सैंपल में मिल चुका है। इनमें सबसे ज्यादा 239 सैंपल अमरीकी राज्यों से मिले हैं। जीआईएसआईडी प्लेटफॉर्म वैश्विक स्तर पर सभी देशों ने मिलकर तैयार किया है। जो हर देश में नए म्यूटेशन के बारे में सैंपल सहित पूरी जानकारी देता है।
भारत से मिले चार सैंपल
जीआईएसआईडी प्लेटफॉर्म की ओर से भारत से अभी तक यहां चार ऐसे केस की जानकारी दी गई है। इनमें एवाई.2 वेरिएंट मिला है। यह चारों मामले 2 से 21 मई के बीच सामने आए हैं । ये मामले जिन राज्यों से मिले हैं उनमें राजस्थान, महाराष्ट्र और कर्नाटक शामिल हैं।

Hindi News/ Miscellenous India / कोरोना से जंग के बीच नया खतरा, अमरीका की तरह भारत में भी मिला डेल्टा प्लस जैसा नया म्यूटेशन

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो