Coronavirus: क्या नकदी के लेन-देन से फैल सकता है कोरोना का संक्रमण? देखें RBI की गाइडलाइन

  • भारत में कोरोना ( Coronavirus ) मामलों की कुल संख्या अब बढ़कर 324 पर पहुंच गई
  • लोगों में कोरोना वायरस ( Coronavirus ) को लेकर भय के साथ असमंजस का माहौल

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस ( Coronavirus in india ) संक्रमित मामलों की कुल संख्या अब बढ़कर 324 पर पहुंच गई है। रविवार को केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ( Union Ministry of Health ) ने ये आंकड़े जारी किए।

जबकि अब तक 6 लोग इस जानलेवा बीमारी की भेंट चढ़ गए हैं। वहीं, लोगों में कोरोना वायरस ( Coronavirus ) को लेकर भय के साथ असमंजस का माहौल है।

लोगों के दिमाग में कोरोना के फैलाव को लेकर तमाम सवाल उठ रहे हैं। इनमें से एक सवाल यह भी है कि क्या कोरोना वायरस ( Coronavirud News ) नकदी के लेन-देन से भी फैलता है।

कोरोना पॉजिटिव कनिका कपूर, राष्ट्रपति कोविंद और वरुण गांधी समेत लिस्ट में ये नेता

a1.png

आपको बता दें कि देश में कोरोना के खतरे को लेकर भारतीय रिजर्व बैंक ने नई गाइडलाइन जारी की है। आइये हम आपको बतातें है कि आरबीआई के अनुसार हमें क्या करना है और क्या नहीं?

दरअसल, आरबीआई ने भी कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए फिलहाल नगदी के लेन-देन से बचने की सलाह दी है।

आरबीआई ने लोगों से नकदी छोड़ डिजीटल माध्यम का इस्तेमाल करने की सलाह दी है। आरबीआई का कहना है कि ऐसा करने से कोरोना के खतरे को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

इसके साथ ही मेडिकल एक्सपर्ट्स ने आरबीआई की इस एडवाइजरी को गंभीरता से लेने की सलाह दी है।

'जनता कर्फ्यू' से पहले PM मोदी ने सोशल मीडिया पर शेयर किया वीडियो, दिया ये मैसेज

 

a2_1.png

एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोरोना वायरस पर्सन टू पर्सन फैलता है। क्योंकि नकदी के लेन देने में दो लोगों को दूरी बहुत ज्यादा नहीं होती, इसलिए ऐसे में कोविड—19 का खतरा काफी बढ़ जाता है।

इसलिए कोरोना से बचाव के लिए कैश के लेन देन से परहेज करना ही ज्यादा कारगर साबित होगा।

एक्सपर्ट्स के अनुसार इस बात की प्रबल संभावनाएं हैं कि कोरोना या फिर सर्दी-जुकाम से पीड़ित व्यक्ति खांसते या छींकते समय अपने हाथों का इस्तेमाल जरूर करेगा और अगर वह अपने हाथों को सैनिटाइज नहीं करता तो यह वायरस नकदी के माध्यम से आप में आसानी से ट्रांसफर हो सकता है।

कोविड-19: क्या 'जनता कर्फ्यू' के दौरान बीच में रोक दी जाएंगी ट्रेनें, ऐसे करें पता

 

जनता कर्फ्यू: 22 मार्च को नहीं चलेंगी ट्रेन, कैसे कटेंगे यात्रियों के 24 घंटे?

भारतीय रिजर्व बैंक के मुख्य महाप्रंधक योगेश दयाल ने जानकारी देते हुए बताया कि अगर किसी के साथ नकदी का लेन—देन करते हैं तो इसका सीधा मतलब है कि आपको पास कैश जरूर होगा।

जब यह कैश आपको पास से खत्म होेगा तो आप रुपए कलेक्ट करने एटीएम जरूर जाएंगे। ऐसे में अगर वहां पर 8 से 10 लोग पहले से ही मौजूद हैं तो यहां आपको अत्यधिक सावधान रहने की जरूरत है।

क्योंकि एटीएम जैसी जगहों पर दो लोगों के बीच पर्याप्त दूरी नहीं होती। ऐसे में आप से इन लोगों में या फिर उन लोगों से आपको संक्रमण होने का खतरा खड़ा हो सकता है।

इसलिए एटीएम या बैंक की भीड़भाड़ से बचने के लिए लेन—देन का डिजीटल माध्यम आपको कहीं अधिक सुरक्षित बना सकता है।

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned