ED ने एक महीने में दूसरी बार अनिल देशमुख के घर पर मारा छापा, मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप

महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के आवास पर ED की छापेमारी, हाईकोर्ट ने इस मामले में देशमुख के खिलाफ सीबीआई जांच के आदेश दिए थे

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय ( Enforcement Directorate ) ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख ( Anil Deshmukh ) के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग ( Money Laundering ) के एक मामले की जांच के सिलसिले में शुक्रवार को नागपुर और मुंबई में स्थित उनके आवास पर छापेमारी की।

अधिकारियों ने बताया कि धन शोधन रोकथाम कानून ( PMLA) के प्रावधानों के तहत देशमुख के आवास पर तलाशी ली गई। दरअसल मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की ओर से लगाए गए आरोप के बाद अनिल देशमुख पर मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया गया था, जिसको लेकर ईडी लगातार उनसे पूछताछ कर रही है।

यह भी पढ़ेंः केजरीवाल सरकार की बढ़ी मुश्किल, SC की ऑडिट कमेटी ने माना जरूरत से 4 गुना ज्यादा मांगी गई थी, जानिए आप ने किया दिया जवाब


ईडी की टीम भारी संख्या में पुलिस और केंद्रीय पुलिस बल के साथ शुक्रवार को देशमुख के आवास पर पहुंची, जिससे मामले में और कड़ी कार्रवाई की अटकलें तेज हो गईं।

दरअसल परमबीर सिंह ने सीएम उद्धव ठाकरे को एक खत लिखकर पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर भ्रष्टाचार को लेकर कुछ गंभीर आरोप लगाए थे।

इसके अलावा परमबीर सिंह ने बॉम्बे हाईकोर्ट में भी एक याचिका दायर की थी, जिसमें बताया गया था कि अनिल देशमुख ने सचिन वाजे को हर महीने लगभग 100 करोड़ रुपये की उगाही करने को कहा था।

केंद्रीय जांच एजेंसी ने सीबीआई की एक एफआईआर का अध्ययन करने के बाद पिछले महीने देशमुख (71) और अन्य के खिलाफ धन शोधन की रोकथाम कानून के तहत एक आपराधिक मामला दर्ज किया था।
CBI ने बंबई हाईकोर्ट के आदेश पर एक मामला दायर करने के बाद प्रारंभिक जांच की थी जिसके बाद ईडी ने मामला दर्ज किया।

यह भी पढ़ेंः पश्चिम बंगालः बीजेपी के 150 नेताओं ने थामा टीएमसी का दामन, कोरोना काल में ऐसे हुआ शुद्धिकरण, देखिए वीडियो

ED ने दूसरी बार मारा छापा
मनी लॉन्ड्रिंग के गंभीर आरोपों को लेकर प्रवर्तन निदेशालय ने अनिल देशमुख के घर पर दूसरी बार छापा मारा है। इससे पहले 25 मई को उनके घर पर छापेमारी की गई थी।

भ्रष्टाचार का आरोप लगाने के बाद नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (NCP) के वरिष्ठ नेता अनिल देशमुख ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned