Patrika Positive News : जरूरतमंदों को भोजन के साथ मनोबल बढ़ाने का मंत्र पहुंचा रही हैं प्रियंका

Patrika Positive News : 24 वर्षीय प्रियंका नेगी होम आइसोलेशन में उपचार करा रहे संक्रमित मरीजों को घर का बना हुआ खाना भिजवा रही हैं। प्रियंका बीते अप्रैल महीने में घर के दो सदस्य नानी और मामा को कोविड संक्रमण के कारण खो चुकी हैं।

नई दिल्ली। कोविड महामारी की चपेट में आने से कई लोग अस्पतालों में भर्ती हैं, तो कई होम आइसोलेशन में हैं। महामारी के दौरान लोग हर तरफ बेबस नजर आ रहे हैं। लेकिन कुछ फरिश्ते ऐसे भी हैं, जो दिन-रात लोगों की सेवा करने में जुटे हुए हैं और जिंदादिली होने का परिचय भी दे रहे हैं। पत्रिका पॉजिटिव न्यूज कैंपेन ( Patrika Positive News ) के अंतर्गत हम आज आपको प्रियंका नेगी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके घर में कोविड से दो लोगों की मौत के बाद भी हाैसला कम नहीं हुआ।

यह भी पढ़ेंः- patrika positive news सक्रिय और दैनिक मामलों में कमी, टेस्टिंग में आएगी तेजी

जरुरतमंदों को पहुंचा रही हैं खाना
24 वर्षीय प्रियंका नेगी होम आइसोलेशन में उपचार करा रहे संक्रमित मरीजों को घर का बना हुआ खाना भिजवा रही हैं। प्रियंका बीते अप्रैल महीने में घर के दो सदस्य नानी और मामा को कोविड संक्रमण के कारण खो चुकी हैं। इस घटना ने प्रियंका को इस कदर प्रभावित किया कि उन्होंने संक्रमित मरीजों की मदद करने की सोच घर तक खाना पहुंचाना शुरू कर दिया। साथ ही एक पर्ची में लिख मरीजों को कुछ न कुछ संदेश भी भेजती हैं, ताकि मनोबल बढ़ा रहे।

यह भी पढ़ेंः- Patrika Positive News: खुद की जान जोखिम में डालकर निभा रहीं फर्ज

इस घटना के बाद
इस पहल के बारे में प्रियंका नेगी मीडिया रिपोर्ट में कहती हैं कि मैंने 28 अप्रैल से इस पहल की शुरुआत की, शुरू में 2 मरीजों के घर खाना भिजवाया था। लेकिन पिछले 12 दिन में 40 से अधिक मरीजों के लिए रोज खाना बना कर भिजवाती हूं। उन्होंने कहा, जिंदगी में कुछ चीजें काफी प्रभावित कर देती हैं। जब मैंने नानी और मामा के गुजर जाने की खबर सुनी तो मुझे बहुत दुख हुआ। इन मौतों ने मुझे झकझोर दिया। इसके बाद मैंने लोगों की मदद करने की ठान ली। उन्होंने बताया, अलग अलग ऑनलाइन डिलवरी माध्यम से हम लोगों तक अपने घर का बना खाना पैक कर भिजवाते हैं, क्योंकि मरीजों के लिए खाना पौष्टिक होना चाहिए।

यह भी पढ़ेंः- Patrika Positive News: कानपुर में मामले घटने के साथ कम हुई ऑक्सीजन की डिमांड, प्लांट पर पहुंचने वालों की संख्या भी हुई आधी

मुंबई में करती है नौकरी
प्रियंका मुंबई में नौकरी करती हैं, लॉकडाउन लगने कारण फिलहाल घर से ही काम कर रही हैं। इस पहल की शुरुआत करने के बाद उनके लिए थोड़ी समस्या बढ़ी है लेकिन वो पूरे जज्बे के साथ लोगों की मदद करने में लगी हुई हैं। प्रियंका को जहां से भी पता चलता है वो मदद के लिए खड़ी हो जाती हैं। वो अभी एक छोटी टीम के साथ काम कर रही है। लोगों के घरों में खाना पहुंचा रही है। वो कहती हैं कि कोरोना की सेकंड वेव के शिकार लोग ज्यादा गंभीर बीमार हो रहे हैं। ऐसे में उन लोगों की मदद करना काफी जरूरी है।

patrika positive news coronavirus
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned