India-China Dispute के बीच Indian Air Force को मिली नई ताकत, France से India के लिए उड़े 5 Rafale Fighter Jets

  • LAC पर India-China Dispute के बीच भारत के सैन्य बेड़े में नई ताकत शुमार हो गई
  • France ने भारत ( India ) के लिए पांच रफाल लड़ाकू विमान ( Rafale Fighter Jets ) भेजे

नई दिल्ली। वास्तविक नियंत्रण रेखा ( LAC ) पर चीन के साथ जारी तनातनी ( India-China Dispute ) के बीच भारत के सैन्य बेड़े ( Military fleet of india ) में नई ताकत शुमार हो गई है। दरअसल, फ्रांस ( France ) ने भारत ( India ) के लिए पांच रफाल लड़ाकू विमान ( Rafale Fighter Jets ) भेजे हैं। फ्रांस से आने वाले इन लड़ाकू विमानों ( Fighter Jets ) ने सोमवार को भारत के लिए उड़ान भरी। ये रफाल विमान 29 जुलाई को हरियाणा के अंबाला में इंडियन एयर फोर्स ( Indian Air Force ) में शामिल होंगे। जानकारी के अनुसार भारत पहुंचने से पहले इन विमानों में संयुक्त अरब अमीरात ( UAE ) में ईंधन भरा जाएगा। वहीं, फ्रांस में भारतीय दूतावास ( Indian Embassy in France ) ने इन रफाल विमानों की तस्वीर जारी की है। दूतावास ने अपने संदेश में कहा कि इन रफाल विमानों ने भारतीय वायुसेना में शामिल के लिए फ्रांस से उड़ान भरी है।

Maharashtra CM Uddhav Thackeray का विपक्ष को दो टूक- मेरी सरकार गिराने का प्रयास करके देखो

रफाल विमानों की यह पहली

आपको बता दें कि भारत ने फ्रांस से 36 एडवांस व पॉवरफुल रफाल विमान खरीदे हैंं। ये पांच विमान इन 36 विमानों की ही पहली खेप है। रफाल विमानों की यह पहली खेप बुधवार को भारत पहुंचेगी। इन विमानों के लिए भारतीय वायुसेना और फ्रांसीसी दसॉल्ट एविएशन कंपनी ने 17 पायलट और इंजीनियर्स को विशेष प्रशिक्षण दिया है। वहीं, फ्रांस में उड़ाने भरने से पहले फ्रांस में भारतीय राजदूत ने सभी पायलटों से मुलाकात की। रक्षा मामलों के विशेषज्ञों की मानें तो रफाल से भारतीय वायुसेना को एक नई ताकत मिलेगी। ये 5वीं पीढ़ी के लड़ाकू जेट हैं। इनकी मारक क्षमता जैसा लड़ाकू विमान अभी तक पाकिस्तान और चीन के पास भी नहीं है।

Corona update: Delhi government का बड़ा कदम- रोजगार देने के लिए लॉन्च होगा Job Portal

Corona Update: देश में Coronavirus Case 13.8 लाख के पार, 24 घंटे में 705 लोगों की मौत

मई में ही भारत पहुंचनी थी पहली खेप

गौरतलब है कि फ्रांस से रफाल विमानों की यह पहली खेप मई में ही भारत पहुंचनी थी, लेकिन दुनियाभर में छाए कोरोना संकट के बीच भारत को अपना फैसला बदलना पड़ा जिसकी वजह से इस प्रक्रिया में दो महीने का विलंब हुआ। आपको बता दें कि इससे अक्टूबर 2019 में फ्रांस ने भारत को पहला रफाल विमान सौंपा था। इस तरह से भारत को मिलने वाले ये कुल मिलाकर छह रफाल होंगे। इसके साथ ही भारत ने अपनी जरूरत के अनुसार राफल विमान की खरीद में कुछ बदलाव किए हैं। इन बदलावों में इजरायल के रडार वार्निग रिसीवर के साथ ही हेलमेट माउंट डिस्प्ले, 10 घंटे की फ्लाइट डाटा रिकार्डिग, लो बैंड जामर और ट्रैकिंग सिस्टम समेत कई अन्य अत्याधुनिक सुविधाएं शामिल हैं।

Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned