Cryptocurrenency Frauds: इन आठ ऐप्स को तुरन्त करें डिलीट, क्रिप्टोकरंसी के नाम पर कर रहे हैं लूट!

Cryptocurrenency Frauds: कुछ एप्स यूजर्स को क्रिप्टोकरंसी के नाम पर चूना लगा रहे हैं। हालांकि गूगल प्ले स्टोर ने इन एप्प्स को बैन कर दिया हैं। इस खबर में बताते हैं विस्तार से, आख़िर मामला क्या है।

By: Braj mohan Jangid

Published: 23 Aug 2021, 12:36 PM IST

Cryptocurrenency Frauds: नई दिल्ली। पिछले 1 बरस में भारत समेत कुछ देशों में क्रिप्टो करेंसी अचानक से लोगों के बीच काफी पॉपुलर हो गई। अब लोगों में बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरंसी में इन्वेस्टमेंट को लेकर होड़ सी मची है। इसी बीच गूगल प्ले स्टोर पर कहीं ऐसे एप्स देखें जाने लगे जो बिटकॉइन में निवेश करवाने का दावा करते हैं। और यूज़र्स से चार्ज वसूलते हैं। यह ऐप्स यही नहीं रुकते, सिक्योरिटी फर्म ट्रेंड माइक्रो के अनुसार यह ऐप्स यूज़र्स के अकाउंट पर पैनी नजर रखते हैं। और मौका पाते ही अकाउंट को हैक करके साफ कर देते हैं। अगर आप भी क्रिप्टोकरंसी में निवेश की सोच रहे हैं तो इन ऐप्स से सावधान रहें।

# जानिए कौन-कौनसे हैं वो ऐप्स- अगर आप भी अपनी मेहनत की गाढ़ी कमाई को यूं ही फिजूल में नहीं गंवाना चाहते तो इन एप से सावधान रहें। ध्यान रहें कि यह ऐप्स किसी भी प्रकार से आपके फोन में इस्तेमाल नही हो

1. बिट फंड्स (Bit Funds)

2. बिटकॉइन माइनर (Bitcoin Miner)

3. बिटकॉइन Bitcoin (BTS)

4. क्रिप्टो होलीक (Crypto holic)

5. डेली क्रिप्टो रिवॉर्ड (Daily Crypto Reward)

6. बिटकॉइन 2021 (Bitcoin 2021)

7 . माइन बिटप्रो ( MainBit pro)

8. इथेरियम Ethereum (ETH)

Read more:-क्रिप्टोकरेंसी से जुड़े ऐप्स संभल कर करें डाउनलोड, चुरा सकते हैं आपका पैसा

# गूगल प्लेस्टोर ने किया बैन - सिक्योरिटी फर्म ट्रेंड माइक्रो की शिकायत पर गूगल प्ले स्टोर ने इन ऐप्स अपने प्लेटफार्म से बैन कर दिया है। गूगल प्ले स्टोर ने यह माना है की यह एप्स यूजर्स के लिए खतरनाक साबित हो सकते हैं। यह एप्स यूजर को क्रिप्टो करेंसी माइनिंग के नाम पर ठगी का शिकार बनाते हैं और उनकी बरसों की कमाई को चंद मिनटों में चट कर जाते हैं।

# 120 और भी ऐप्स पर गूगल की नजर - सिक्योरिटी फर्म ट्रेंड माइक्रो की एक रिपोर्ट के मुताबिक गूगल प्ले स्टोर बैन किए गए इन आठ एप्स के अलावा भी कुछ और एप्स पर पैनी नजर बनाए हुए हैं। खबरों की मानें तो गूगल प्ले स्टोर इन एप्स को भी जल्दी ही अपने प्लेटफार्म से बैन कर देगा। रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 1 बरस में इन एप्स में तकरीबन 4500 लोगों को फ़्रॉड का शिकार बनाया है। यह पहली दफ़ा नहीं हुआ हैं जब गूगल प्लेस्टोर ने किसी सिक्योरिटी फर्म की शिकायत पर ऐप्स को बैन किया हो।

Read more:- एक साल में बिटक्वाइन ने दिया 1200 फीसदी का रिटर्न, अभी और बढ़ेंगी कीमत

Braj mohan Jangid
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned