ट्विटर के बाद अब आया TikTok का भारतीय विकल्प DhakDhak, जानिए क्या है इसमें खास

  • 'धकधक' ऐप को शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म टिकटॉक का भारतीय विकल्प कहा जा रहा है।
  • अब तक इस ऐप को 1 लाख से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है।

By: Mahendra Yadav

Published: 16 Feb 2021, 10:37 PM IST

भारत में चीनी ऐप्स (Chinese Apps) पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद स्वदेशी ऐप्स पॉपुलर हो रहे हैं। इन दिनों ट्विटर (Twitter) का भारतीय विकल्प कू ऐप (Koo App) काफी पॉपुलर हो रहा है। अब शॉर्ट वीडियो चाइनीज ऐप टिकटॉक (TikTok) का भारतीय विकल्प भी आ गया है। दरअसल, पुणे स्थित टेक स्टार्ट-अप धकधक प्राइवेट लिमिटेड ने शॉर्ट वीडियो ऐप 'धकधक- इंडिया के दिल की धड़कन' (DhakDhakApp) लॉन्च किया है। यह ऐप उन भारतीय कंटेंट क्रिएटर्स के लिए एक राहत लेकर आया है, जो चीनी ऐप टिकटॉक के भारत में प्रतिबंधित होने के कारण परेशान हैं।

टिकटॉक का विकल्प
'धकधक' ऐप टिक-टॉक का एक बेहतरीन क्वालिटी वाला विकल्प है और देश में अब तक इसको 1 लाख से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है। वहीं 20 हजार से ज्यादा कंटेंट क्रिएटर्स इसमें आकर्षक और मनोरंजक शॉर्ट वीडियो बना चुके हैं। 'धकधक' के बारे में एक खास बात यह है कि यह मनोरंजन से आगे जाकर कलाकारों और कंटेंट क्रिएटर्स को अपनी प्रतिभा दिखाने का प्लेटफॉर्म देता है।

ग्रोथ करने और रेवेन्यू पाने का मौका
धकधक के को-फाउंडर अनिरुद्ध कोटगीर का कहना है कि कंटेंट क्रिएटर्स को थोड़े समय की प्रसिद्धि देने की बजाय धकधक एक ऐसा मॉडल लेकर आया है, जो उन्हें ग्रोथ करने और रेवेन्यू पाने का मौका देता है। यह प्लेटफॉर्म युवाओं को कॅरियर बनाने में मदद करना चाहता है, न कि केवल ऐसी ऊंचाइयों पर ले जाना चाहता है जो अस्थायी हैं।

इवेंट्स के लिए आर्टिस्ट उपलब्ध
अनिरुद्ध कहते हैं, हम कुछ नवोदित सितारों को रीजनल ब्रांड्स और कमर्शियल्स को प्रमोट करने का मौका दे सकते हैं। इसके अलावा हम मीडिया हाउसेस के शो और इवेंट्स के लिए आर्टिस्ट दे सकते हैं। कुल मिलाकर हम धकधक स्टार्स के लिए एक बड़ा प्लेटफॉर्म बनाना चाहते हैं, जहां से वे टीवी, शो, फिल्मों और अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रमों के लिए भी मौके पा सकें।

गुरमीत सिंह ने किया निवेश
धकधक के को-फाउंडर मंदार लांडे कहते हैं, हमारे मजबूत टेक बैकग्राउंड और प्रमाणित बिजनेस मॉडल के कारण मुंबई के बिजनेस टाइकून गुरमीत सिंह ने हमारे प्रोजेक्ट में निवेश किया है। इसके अलावा कई लोकल और नेशनल ब्रांड्स भी हमारे साथ जुड़ना चाहते हैं। हम एक्टिंग, डांस के प्रोफेशनल ट्रेनर्स और स्कूलों से भी बातचीत कर रहे हैं, ताकि नवोदित कलाकारों को फॉर्मल ट्रेनिंग दे सकें। इसके लिए बॉलीवुड और रीजनल फिल्म इंडस्ट्री के प्रसिद्ध मीडिया और प्रोडक्शन हाउस हमारी सूची में शामिल हैं।

ये क्रिएटर्स जुड़े
धकधक अपने दर्शकों से भी शानदार अनुभव देने का वादा करता है। यह ऐप मनोरंजन, इन्फोटेनमेंट, विज्ञापन, क्रिएटिव कंटेंट में काम करने के तरीके में बदलाव ला रहा है। पूजा रावत, सृष्टि अम्बावले, सोनाली मल्होत्रा, अदीना अधिकारी, मेहर पांचाल और तृप्ति राणे जैसे कंटेंट क्रिएटर्स पहले से ही हमारे साथ जुड़े हुए हैं और उनके फैंस को जल्द ही उनकी विजुअल ट्रीट मिलेगी।

कंपनी ने कहा कि बाजार में कड़ी प्रतिस्पर्धा करने के लिए धकधक तैयार है। साथ ही वह शॉर्ट वीडियो ऐप स्पेस में आर्टिस्ट्स की लॉन्ग टर्म ग्रोथ का वादा भी करता होगा। इन सारी खासियतों के साथ हम दावे से कह सकते हैं कि 'धकधक-इंडिया के दिल की धड़कन' एक ऐसा ऐप है जो मनोरंजन और वैल्यू क्रिएट करने से भी आगे है।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned