अब Google Pay पर ट्रांजेक्शन करना होगा और ज्यादा सेफ, जानिए कैसे

  • Google ने अपनी पेमेंट ऐप Google Pay में नए फीचर्स लाने की घोषणा की है।
  • नए फीचर्स को Google Pay के नए अपडेट के साथ जारी किया जाएगा।

By: Mahendra Yadav

Published: 12 Mar 2021, 11:38 AM IST

टेक दिग्गज Google ने अपनी पेमेंट ऐप Google Pay में नए फीचर्स लाने की घोषणा की है। इन नए फीचर्स से Google Pay के जरिए ट्रांजेक्शन पहले से ज्यादा सेफ हो जाएगा। साथ ही यूजर्स को डिजिटल भुगतान प्लेटफॉर्म पर ट्रांजेक्शन (लेनदेन) डेटा का मैनेजमेंट करने के लिए अधिक विकल्प और कंट्रोल मिलेगा। यूजर्स अपने पर्सनल लेनदेन और गतिविधि रिकॉर्ड को देख सकेंगे और ट्रांजेक्शन हिस्ट्री को डिलीट भी कर पाएंगे। इस फीचर को Google Pay के नए अपडेट के साथ जारी किया जाएगा। इस फीचर को प्राइवेट डेटा का मिसयूज होने से बचाने के लिए लाया जा रहा है। इसे मर्चेंट के लिए जारी नहीं किया जाएगा।

ट्रांजेक्शन को डिलीट या टोकननाइज्ड कर सकेंगे
गूगल पे में आए इस नए फीचर के तहत यूजर्स अपने लास्ट 10 यूपीआई ट्रांजेक्शन को डिलीट या टोकननाइज्ड कर सकेंगे। इससे इन ट्रांजेक्शन का एक्सेस गूगल को नहीं मिल पाएगा। बता दें कि क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड टोकननाइज्ड एक प्रोसेस होता है, जिससे कंपनी के इंटरनल नेटवर्क से सेंसिटिव डेटा को हटा दिया जाता है। साथ ही यूजर्स को ये कंट्रोल
मिलेगा कि वे ऐप के भीतर सुविधाओं को पर्सनलाइज कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें— YouTube के जरिए करते हैं कमाई तो अब देना होगा टैक्स, जानिए नए नियम के बारे में

google_pay_2.png

कॉन्टेक्टलैस कार्ड ट्रांजेक्शन
नए फीचर्स में कंपनी यूजर्स को UPI के अलावा कॉन्टेक्टलैस कार्ड ट्रांजेक्शन करने की भी सुविधा देगी। इसके लिए भी टोकननाइज्ड डेबिट या क्रेडिट कार्ड का यूज किया जाएगा, जो उनके स्मार्टफोन से लिंक रहेंगे। नए अपडेट के बाद यूजर इस तरह की ट्रांजेक्शन हिस्ट्री को डिलीट भी कर पाएंगें। वहीं गूगल सिर्फ उन डेटा को ही स्टोर करके रखेगा जो ट्रांजेक्शन के लिए जरूरी होगा।

यह भी पढ़ें— ऑस्ट्रेलिया में गूगल, फेसबुक को खबरों के लिए अब देना होगा पैसा

मिलेंगे और अधिक रिवार्ड
इसमें यूजर्स को गूगल पे के भीतर उनकी गतिविधि के आधार पर अधिक प्रासंगिक ऑफर और पुरस्कार मिलेंगे, जिसमें लेनदेन इतिहास भी शामिल रहेगा। हालांकि ये यूजर्स पर डिपेंड करेगा कि वे कंट्रोल फीचर को चालू नहीं करना चाहते है या नहीं। फीचर चालू नहीं करने पर भी वे ऐप का पहले की तरह ही उपयोग कर पाएंगे और इसमें कुछ बदलाव नहीं होगा।

डाटा शेयर नहीं होगा
कंपनी ने एक बयान में कहा कि यूजर्स की व्यक्तिगत जानकारी कभी भी किसी को नहीं बेची जाती है और विज्ञापनों को टारगेट करने के लिए यूजर्स के लेन-देन की हिस्ट्री को किसी अन्य गूगल उत्पाद के साथ साझा नहीं किया जाता है।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned