भारत सरकार का ये App बताएगा कि सामान असली है या नकली

  • GS1 India ऐप Android और IOS दोनों के लिए है
  • ये ऐप प्रॉडक्ट के बारकोड को स्कौन करके देता है सही जानकारी
  • यहां जानें GS1 India ऐप कैसे करता है काम

By: Vishal Upadhayay

Published: 07 Jul 2019, 05:36 PM IST

नई दिल्ली: जब भी हम मार्केट से कोई भी सामान खरीदते हैं तो उसके मैन्युफैक्चरिंग से लेकर एक्सपायरी डेट तक को चेक करते हैं। लेकिन कभी आपने सोचा है कि आपके द्वारा खरीदा गया कोई भी प्रॉडक्ट्स असली है या नकली। क्योंकि बाजार में ड्यूप्लिकेट प्रॉडक्ट्स की भी भरमार काफी ज्यादा है। इसी को देखते हुए डिपार्टमेंट ऑफ कंज्यूमर अफेयर और FSSAI ने अब एक एनजीओ द्वारा बनाए गए GS1 नामक ऐप पेश किया है। इस ऐप की मदद से यूजर्स प्रॉडक्ट की सही जानकारी आसानी से पा सकेंगे।

यह भी पढ़ें: Airtel ने 148 रुपये का नया प्रीपेड प्लान किया पेश, मिलेगा कॉलिंग, डाटा और SMS का फायदा

GS1 India ऐप को एंड्रॉयड और आईओएस दोनों ही यूजर्स इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे प्लेस्टोर और ऐप स्टोर दोनों ही प्लेटफॉर्म से डाउनलोड किया जा सकता है। यह ऐप किसी भी प्रॉडक्ट पर दिए गए बारकोड को स्कौन करके पता लगा लेगा है कि यह सामान असली है या नकली। ऐसे में आप किसी भी प्रॉडक्ट के बारकोड को स्कैन करने उसकी सही जानकारी पा सकते हैं।

यह भी पढ़ें: 365 दिनों की वैधता के साथ Airtel का नया प्लान लॉन्च, हर दिन मिलेगा अनलिमिटेड डाटा व कॉलिंग का लाभ

यह भी पढ़ें: Amazon पर 'भैंस की आंख' को खुब पसंद कर रहे हैं लोग, सस्ते दाम में चप्पल से लेकर मिलता है सबकुछ

इस ऐप पर उपभोक्ता प्रॉडक्ट की प्रतिक्रिया और शिकायत भी दर्ज कर सकते हैं। गूगल प्ले स्टोर पर इस ऐप को Smart Consumer के नाम से खोजा जा सकता है। ऐप को यहां 3.7 रेटिंग और साढ़ें तीन स्टार दिया गया है। फिलहाल इस ऐप को प्लेस्टोर से 50,000 से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है। GS1 ऐप को 18 दिसंबर 2016 में पेश किया गया था।

यह भी पढ़ें: Mi LED स्मार्ट बल्ब की बिक्री शुरू, 11 साल तक नहीं होगा खराब, 1.6 करोड़ कलर को करेगा सपोर्ट

Vishal Upadhayay
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned