scriptData Privacy Day IIT professor tells risks of using cheap smartphones | Data Privacy Day: सस्ता स्मार्टफोन इस्तेमाल करना पड़ सकता है महंगा, एक्सपर्ट ने बताई वजह | Patrika News

Data Privacy Day: सस्ता स्मार्टफोन इस्तेमाल करना पड़ सकता है महंगा, एक्सपर्ट ने बताई वजह

Data Privacy Day: आज के समय में निजी डेटा सुरक्षित रखना बहुत जरूरी है। अगर डेटा गलत हाथों में चला जाए तो इससे आपको काफी परेशानी खड़ी हो सकती है। आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर संदीप शुक्ला ने डेटा प्राइवेसी के कुछ पहलुओं पर रोशनी डाली है।

नई दिल्ली

Updated: January 28, 2022 01:45:09 pm

Data Privacy Day: तकनीक के बिना हमारा जीवन अधुरा है। आज के समय में तकनीक का इस्तेमाल करना हमारे लिए सांस लेने जितना जरूरी है। इसके साथ ही प्राइवेसी फैक्टर भी उतना महत्वपूर्ण हो गया है। अधिकांश अन्य देशों के विपरीत, जहां डेटा प्राइवेसी कानून सख्त हैं, इस पर भारत का रुख ढीला है। इसलिए लोग खुद अपने निजी डेटा को सुरक्षित रखने के लिए स्ट्रॉंग पासवर्ड से लेकर एंटी-वायरस जैसे मोबाइल ऐप्स तक का उपयोग करते हैं। इस मुद्दे को लेकर आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर संदीप शुक्ला ने कुछ अहम पहलुओं पर रोशनी डाली है।

data_privacy.jpg
data privacy


जागरूकता:
तकनीक के युग में जागरूक रहना बहुत जरूरी है। प्रोफेसर शुक्ला का कहना है कि अगर लोग मेरी लोकेशन, मेरी चाल, मेरी आदतें, पसंद नापसंद आदि जानते हैं तो क्या गलत है।" इसलिए, आपको यह प्रश्न पूछने की आवश्यकता है कि किसी ऐप या सेवा को आपके स्थान या आपको क्या पसंद है, यह जानने की आवश्यकता क्यों है। उन्होंने आगे कहा है कि यूजर्स को इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि इसका इस्तेमाल देश के खिलाफ हिंसा और दंगे जैसे कार्यों को भड़काने के लिए किया जा सकता है। प्रोफेसर शुक्ला ने आगे कहा है कि व्यक्तिगत स्तर पर डेटा प्राइवेसी को लेकर सभी को जागरूक रहना चाहिए। साथ ही सरकार को भी डेटा प्राइवेसी के प्रति जागरूकता अभियान चलाने चाहिए।

ये भी पढ़ें : जल्द आ सकता है Made In India OS, मिलेगी Android और iOS को कड़ी टक्कर, सरकार कर रही है तैयारी

सस्ते स्मार्टफोन्स :
प्रोफेसर संदीप शुक्ला का कहना है कि इन दिनों, भारतीय बाजार में एक से बढ़कर एक सस्ते स्मार्टफोन्स आ रहे हैं, जो एडवांस स्पेसिफिकेशन्स से लैस हैं। हालांकि, ये डिवाइसेज निजी डेटा के लिए खतरा साबित हो सकते हैं। ज्यादातर स्मार्टफोन्स में प्री-इंस्टाल ऐप होते हैं, जो आपकी पसंद को समझकर विज्ञापन दिखाते हैं। इस तरह मोबाइल ऐप भी डेटा की परमिशन मांगते हैं। ऐसे में लोगों को सस्ते मोबाइल फोन और ऐप का इस्तेमाल करने के जोखिम को समझना चाहिए। ऐसे उपकरण पर अधिक खर्च करना बेहतर है जो अपके डेटा की सुरक्षा के लिए दिशानिर्देशों को स्पष्ट करता हो और यह सुनिश्चित करता हो कि यह उन्हें समय के साथ बनाए रखेगा।


ये भी पढ़ें : Netflix पर अपनी भाषा में देखनी है मूवी या वेब सीरीज, स्टेप बाय स्टेप फॉलो करें आसान प्रोसेस

सरकार का हस्तक्षेप करना :
प्रोफेसर संदीप शुक्ला का कहना है कि Google और Apple हैं जो यह प्रमाणित करते हैं कि कोई ऐप आपके स्मार्टफोन के लिए उपयुक्त है या नहीं और इसे डाउनलोड किया जाना चाहिए। हालांकि, ऐप्स को होस्ट करना उनके लिए व्यवसाय है और वे इन ऐप्स को कैसे फिल्टर करते हैं, इसमें कोई पारदर्शिता नहीं है।

यह वह जगह है जहां सरकार कदम उठा सकती है। उन्होंने आगे कहा कि सरकार को मोबाइल के लिए ऐप विकसित करना चाहिए जो डाउनलोड किए गए प्रत्येक ऐप की प्राइवेसी को रेट कर सकें और उपयोगकर्ता को प्राइवेसी भंग करने वाले ऐप्स का इस्तेमाल करने के खिलाफ चेतावनी दे सकें। यह ऐप डेवलपर्स को सख्त डेटा प्राइवेसी मानकों का पालन करने के लिए मजबूर कर सकता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Constable Paper Leak: राजस्थान कांस्टेबल परीक्षा रद्द, आठ गिरफ्तार, 16 मई के पेपर पर भी लीक का साया30 साल बाद फ्रांस को फिर से मिली महिला पीएम, राष्ट्रपति मैक्रों ने श्रम मंत्री एलिजाबेथ बोर्न को नया पीएम किया नियुक्तदिल्ली में जारी आग का तांडव! मुंडका के बाद नरेला की चप्पल फैक्ट्री में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची 9 दमकल गाडि़यांबॉर्डर पर चीन की नई चाल, अरुणाचल सीमा पर तेजी से बुनियादी ढांचा बढ़ा रहा चीनSri Lanka में अब तक का सबसे बड़ा संकट, केवल एक दिन का बचा है पेट्रोलताजमहल के बंद 22 कमरों का खुल गया सीक्रेट, ASI ने फोटो जारी करते हुए बताई गंभीर बातेंकर्नाटक: हथियारों के साथ बजरंग दल कार्यकर्ताओं के ट्रेनिंग कैम्प की फोटोज वायरल, कांग्रेस ने उठाए सवालPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.