scriptIndian Government preparing make Made in India OS take on iOS Android | जल्द आ सकता है Made In India OS, मिलेगी Android और iOS को कड़ी टक्कर, सरकार कर रही है तैयारी | Patrika News

जल्द आ सकता है Made In India OS, मिलेगी Android और iOS को कड़ी टक्कर, सरकार कर रही है तैयारी

भारत सरकार (Indian Government) एक नई नीति पेश करने की योजना बना रही है जिसके तहत अलग-अलग स्टेकहोल्डर्स को स्मार्टफोन इंडस्ट्री के लिए नए ऑपरेटिंग सिस्टम और इससे संबंधित इकोसिस्टम तैयार करना होगा।

नई दिल्ली

Published: January 27, 2022 05:42:00 pm

भारतीय स्मार्टफोन बाजार में इस वक्त एप्पल के आईओएस (iOS) और गूगल के एंड्रॉइड (Android) ऑपरेटिंग सिस्टम ने मजबूत पकड़ बना रखी है। ये दोनों ऑपरेटिंग सिस्टम लगभग हर स्मार्टफोन यूजर के लिए एक मात्र विकल्प बन हुए हैं। ऐसे में अब केंद्र सरकार इन दोनों ऑपरेटिंग सिस्टम की मोनोपॉली को तोड़ने के लिए स्वदेशी ऑपरेटिंग सिस्टम लाने की योजना बना रही है।

smartphone_os.jpg
smartphone


जल्द आएगी नई पॉलिसी :

केंद्र सरकार एक नई नीति पेश करने की तैयारी कर रही है, जिसके तहत अलग-अलग स्टेकहोल्डर्स स्मार्टफोन इंडस्ट्री के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम और इससे संबंधित इकोसिस्टम तैयार करेंगे। सरकार के इस कदम यूजर्स को एंड्रॉइड और आईओएस के अलावा एक विकल्प और मिलेगा।

ये भी पढ़ें: WhatsApp पर किसी ने कर दिया है Block तो न हों परेशान, अपनाएं ये ट्रिक और हो जाएं Unblock

केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर (Rajeev Chandrasekhar) ने पीटीआई को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि भारत सरकार एक स्वदेशी ऑपरेटिंग सिस्टम बनाना चाहती है जो एंड्रॉइड और आईओएस का विकल्प होगा। इसके लिए सरकार और इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) साथ मिलकर विचार कर रही है। साथ ही नए ओएस के लिए स्टार्ट-अप और कॉलेज से भी बात की जा रही है।

उन्होंने आगे कहा कि यदि ऑपरेटिंग सिस्टम तैयार होता है तो इससे भारतीय कंपनियों को फायदा होगा। यह भारतीय ब्रांड के रूप में विकसित होकर निकलेगा। हमारे पास स्पष्ट लक्ष्य होगा और हम जानते होंगे कि हमें क्या हासिल करना है तो सभी नीतियां और कार्य अपने आप सफल हो जाएंगे।

ये भी पढ़ें: Netflix पर अपनी भाषा में देखनी है मूवी या वेब सीरीज, स्टेप बाय स्टेप फॉलो करें आसान प्रोसेस

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि राजीव चंद्रशेखर और आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने इंडिया सेल्युलर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन (ICEA) की ओर से तैयार किए गए इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग के दूसरे वॉल्यूम को पेश किया है। इसमें एप्पल, लावा और फॉक्सकॉन जैसी टेक कंपनियां शामिल हैं। इस वॉल्यूम में यह जानकारी दी गई है कि कैसे 2026 तक देश में इलेक्ट्रॉनिक्स निर्माण को 300 बिलियन डॉलर यानी करीब 22,55,265 करोड़ रुपये तक पहुंचाया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.