scriptknow about Hybrid terrorists which active in jammu kashmir | Hybrid terrorists: कौन होते हैं हाइब्रिड आतंकी, इनको पकड़ पाना क्यों होता है मुश्किल | Patrika News

Hybrid terrorists: कौन होते हैं हाइब्रिड आतंकी, इनको पकड़ पाना क्यों होता है मुश्किल

जम्मू कश्मीर में आतंकियों की एक नई जमात सामने आई है, जिसे सुरक्षाबलों ने हाईब्रिड आतंकियों का नाम दिया है. इनके निशाने पर बेकसूर गैरकश्मीरी लोग रहते हैं. इनको ट्रैक कर पाना मुश्किल है.

नई दिल्ली

Updated: May 03, 2022 07:55:48 am

नई दिल्ली. बीते कुछ माह में जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने अपनी रणनीति में बदलाव किया है. पहले आतंकियों के निशाने पर सेना व सरकारी संपत्तियां होती थी. लेकिन बदले हुए ट्रेड में आतंकियों ने कश्मीर में सड़क किनारे चाय-नाश्ते की दुकान लगाकर रोजी-रोटी कमा रहे बिहार, यूपी सहित दूसरे राज्यों के कामगारों को निशाना बनाया है. सेना के मुकाबले ऐसे कमजोर और बेकसूर लोगों पर हमला करना ज्यादा आसान होता है. ऐसी वारदातों के लिए छोटे-मोटे हथियार और मामूली प्रशिक्षण की जरूरत पड़ती है. इन घटनाओं के पीछे ज्यादातर हाइब्रिड आतंकियों का हाथ होता है. हाइब्रिड आतंकी को पकड़ पाना काफी मुश्किल है. आईए जानते हैं कि कौन होते हैं हाइब्रिड आतंकी और क्यों इनको पकड़ पाना मुश्किल है.

hybrid_terroris_2.jpg

हाइब्रिड आतंकी में ज्यादातर वैसे दहशतगर्द शामिल होते हैं, जो कश्मीर के ही रहने वाले हैं. ये ज्यादातर समय सामान्य जीवनशैली जी रहे होते है. अपने आकाओं का आदेश मिलते ही कुछ समय के लिए एक्टिव होते हैं और आकाओं से मिले टास्क को पूरा करने के बाद फिर से वापस सामान्य जीवनशैली में लौट जाते हैं. जम्मू कश्मीर पुलिस या सुरक्षाबलों की बनाई गई आतंकियों की लिस्ट में इनका नाम नहीं होता है. इस कारण इनको पकड़ पाना काफी मुश्किल है.

यह भी पढ़ेंः रिटायर जनरल तेज कौल को मिला डॉ. निर्मला देशपांडे मेमोरियल ग्लोबल पीस अवार्ड, कोरोना काल में निभाई थी अहम भूमिका

मात्र 10-10 हजार रुपए के लिए लोगों की कर देते हत्या

कुछ कुछ दिनों में सुरक्षाबलों ने ऐसे काफी मशक्कत के बाद ऐसे कुछ आतंकियों को गिरफ्तार किया है. जिसके बाद दहशतगर्दों की इस नई चाल और रणनीति का खुलासा हुआ है. सुरक्षाबलों ने ही आतंकियों के इस ग्रुप का नाम हाइब्रिड रखा है. सेना के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हाइब्रिड आतंकी मामूली रकम के लिए किसी की हत्या कर देते है. बताया गया कि इनलोगों को इनके आकाओं से 10-10 हजार रुपए और पिस्तौल मिलता है. घटना को अंजाम देने के बाद हथियार वापस लौटा देना होता है और रकम लेकर ये आतंकी फिर से अपने पुराने जीवनशैली में लौट जाते हैं.

यह भी पढ़ेंः जम्मू-कश्मीरः दो हाइब्रिड आतंकी धराए, एयरपोर्ट पर जवान के बैग से मिला हैंड ग्रेनेड, पुलिस ने हिरासत में लिया

फरवरी में अनंतनाग से 11 हाइब्रिड आतंकी किए गए थे गिरफ्तार

फरवरी में जम्मू-कश्मीर पुलिस ने अनंतनाग में दो आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए 11 लोगों को गिरफ्तार किया था. सुरक्षाबलों ने इन सभी को हाइब्रिड आतंकी बताया. पांच अप्रैल को भी सुरक्षाबलों ने कश्मीर के दो अलग-अलग स्थानों से दो हाइब्रिड आतंकी को गिरफ्तार किया. हाइब्रिड आतंकी संगठित रूप से नहीं रहते है. ऐसे में उनपर नकेल कसना मुश्किल है. हालांकि हालिया दिनों में हुई कार्रवाई के बाद इनके गतिविधियों में कमी आई है.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

त्रिपुरा: डॉ. माणिक साहा बने त्रिपुरा के नए सीएम, राजभवन में ली शपथWeather Update: उत्तर भारत में भीषण गर्मी और उमस ने किया बेहाल, जानें कब होगी बारिशअसम में लगातार हो रही बारिश, कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात, हाफलोंग में भूस्खलन से 3 लोगों की मौतCongress Chintan Shivir 2022 : आज राहुल गांधी के भाषण पर निगाह, स्वीकार कर सकते हैं अध्यक्ष बनने का अनुरोध?Congress Chintan Shivir 2022 : आज बनेगा सामूहिक ड्रॉफ्ट, कांग्रेस कार्यसमिति करेगी निर्णयअमरीकाः न्यूयॉर्क के सुपरमार्केंट में गोलीबारी, 10 लोगों की मौत, जानिए पहले कब-कब हुए ऐसे हमलेयुवती से दुष्कर्म मामलाः मंत्री महेश जोशी के पुत्र से पूछताछ करने जयपुर पहुंची दिल्ली पुलिसमंकीगेट, शराब की लत, इन वजह से ववादों में रहे साइमंड्स, कार एक्सीडेंट में हुई मौत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.