scriptखूबसूरत छलावा: लुटेरी दुल्हन एक माह में ठग रही थी 8 से 9 लाख रुपए , सोने चांदी के गहने अलग | Patrika News
समाचार

खूबसूरत छलावा: लुटेरी दुल्हन एक माह में ठग रही थी 8 से 9 लाख रुपए , सोने चांदी के गहने अलग

– उमा, हर पांच दिन में फंसाती थी एक कुंवारे को, कंचन बनती तो कभी रेखा, हर महीने लाखों की करती ठगी – सागर का सचिन बनाता था लुटेरी दुल्हन का फर्जी आधार कार्ड, फूफा, जीजा, मामा बनकर करा देते थे शादी – अगले दिन कोई न कोई बहाना बनाकर साेने के गहने, रुपए लेकर […]

सागरMay 24, 2024 / 08:39 pm

प्रवेंद्र तोमर

– उमा, हर पांच दिन में फंसाती थी एक कुंवारे को, कंचन बनती तो कभी रेखा, हर महीने लाखों की करती ठगी

– सागर का सचिन बनाता था लुटेरी दुल्हन का फर्जी आधार कार्ड, फूफा, जीजा, मामा बनकर करा देते थे शादी
– अगले दिन कोई न कोई बहाना बनाकर साेने के गहने, रुपए लेकर भाग जाती थी लुटेरी दुल्हन, इस बार पकड़ी

सागर. हटा. कुंवारे युवकों को शादी के नाम पर लूटने वाली लुटेरी दुल्हन और उसके गिरोह का पर्दाफाश पुलिस ने किया है। गिरोह ऐसे लोगों को चिन्हित करता जिनकी शादी में समस्या आ रही होती है। ऐसे अविवाहितों को झांसा देकर दुल्हन के मामा फूफा, जीजा आदि तैयार कर आनन-फानन में शादी कराते और पूर्व प्लान के मुताबिक दुल्हन ससुराल से कीमती जेवर नगद राशि आदि लेकर गिरोह के पास पहुंच जाती। लूट की राशि का बंदरबांट कर इसी दुल्हन का उपयोग अन्य युवकों को फंसाने में किया जाता था। जिस तरह लुटेरी दुल्हन एक बार में कम से कम डेढ़ लाख रुपया लूटती थी, उससे इतना तो साफ है कि हर माह आठ से नौ लाख रुपए कैश और सोना चांदी अलग लूटकर वह गिरोह को दे रही थी।
– सागर का सचिन बनाता था फर्जी आधार कार्ड

पुलिस के हाथ जबलपुर निवासी आरोपी मोहित सोनी लग गया जो कि इस फर्जी विवाह कराने वाली गैंग का मुख्य किरदार है। मोहित के खिलाफ जबलपुर जिले में ही कई संगीन मामले दर्ज बताए गए हैं। अन्य आरोपी सागर बण्डा का दीनदयाल पांडेय और रम्मूलोधी भी इसमें लिप्त बताए गए हैं। सागर का सचिन तिवारी नामक युवक फर्जी आधार कार्ड तैयार कर दुल्हन को उपलब्ध कराता था। पुलिस ने सचिन तिवारी, मास्टर माइंड और लुटेरी दुल्हन उमा लोधी को गिरफ्तार कर लिया है।
दूल्हे के परिवार की सतर्कता से पकड़ी गई

एसडीओपी नीतेश पटेल ने गुरुवार को प्रेसवार्ता कर बताया कि हटा के एक युवक ने शिकायत की थी, जिसमें बताया था कि बांदकपुर में 20 मई को रेखा तिवारी नामक महिला से शादी की थी। विवाह खर्च के नाम पर डेढ़ लाख रुपए भी दिए गए। घर आने के बाद दूसरे दिन ही महिला ने भाई की मृत्यु की बात कहकर मायके जाने की जिद करने लगी। परिवार के लोगों से बात कराने में आनाकानी करने से संदेह होने पर पुलिस में सूचना दी।
-आधार कार्ड के जरिए हुआ खुलासा

महिला का आधार कार्ड मांगे जाने पर आधार कार्ड भी संदेहास्पद लगा। जो प्रारंभिक जांच में फर्जी पाया गया। शिकायत पर दुल्हन महिला से जब पूछताछ की गई, तो उसने अपना असली नाम उमा लोधी 24 वर्ष निवासी रहली थाना क्षेत्र के गांव पडेर बताया। उसने अपने गिरोह के सदस्यों सचिन तिवारी सागर, मोहित सोनी गढ़ा जबलपुर, रम्मूलोधी बंडा सागर व दीनदयाल पांडेय बंडा सागर के नामों का भी खुलासा किया। मनोज नेमा की रिपोर्ट पर धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है
– बड़े पिता की गैंग में हुई थी शामिल

पकड़ी गई लुटेरी दुल्हन अपने बड़े पिता रम्मूलोधी के कहने पर इस गिरोह से जुड़ी थी। एसडीओपी नीतेश पटेल ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों का पुलिस रिमांड लेकर और पूछताछ जारी है।
पांच दिन में दो शादियां-

– १५ मई को कुम्हारी थाना क्षेत्र के सगौनी में भी इसी उमा लोधी ने कंचन यादव बनकर विवाह किया था और विवाह के दूसरे दिन ही जेवर और नगदी लेकर दूसरी मंजिल से साड़ी के सहारे उतरकर फरार हो गई थी।
-20 मई को इसी महिला ने रेखा तिवारी बनकर हटा में शादी रचा ली और पकड़ी गई।

Hindi News/ News Bulletin / खूबसूरत छलावा: लुटेरी दुल्हन एक माह में ठग रही थी 8 से 9 लाख रुपए , सोने चांदी के गहने अलग

ट्रेंडिंग वीडियो