भारत को देश मानते हैं, तो गाय को माता मानना चाहिएः रघुवर दास

रघुवार दास ने यह भी कहा कि गौरक्षा के नाम पर यदि कोई हिंसा करता है, तो यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा

कोलकाता। झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने शनिवार को कहा कि जो लोग भारत को अपना देश मानते हैं, उन्हें गाय को मां के रुप में मानना चाहिए। हालांकि दास ने जोर देकर कहा कि गाय बचाने की आड में हिंसा नहीं होनी चाहिये। उन्होंने कहा कि गाय बचाने के नाम पर हाल में हुई हिंसक घटनाओं में पशु तस्कर शामिल हो सकते हैं।

गाय की सुरक्षा के लिए संघ एकमत
झारखंड के सीएम ने कहा कि पूरा संघ परिवार गाय बचाने को मुद्दे को लेकर एकमत है। जो लोग भारत को अपना देश मानते हैं, उन्हें गाय को अपनी मां की तरह समझना चाहिये। गोहत्या और गायों की गिनती के मुद्दे पर संघ परिवार के साथ मतभेदों के बारे में पूछे जाने पर दास ने कहा कि संघ परिवार इस मुद्दे पर एकजुट है कि गाय हमारी माता है। जो लोग भारत में रहते हैं और भारतीय हैं, जो लोग भारत को अपना देश कहते हैं, उनके लिए गाय उनकी माता की तरह है।

दास ने गोरक्षा के नाम पर हाल में हुई घटनाओं से उपजे विवाद के बीच यह प्रतिक्रिया दी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने छह अगस्त को कहा था कि कुछ समाजविरोधी तत्व रात को अपराधों में लिप्त रहते हैं और दिन में गोरक्षक बनने का ढोंग करते हैं। मोदी की टिप्पणी पर विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी ने गोरक्षकों को समाजविरोधी कहकर उनका अपमान किया है।

गौरक्षा के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहींः रघुवर दास
दास ने कहा कि इस मुद्दे पर हमारे प्रधानमंत्री ने जो भी कहा है, वह सही है। आप किसी भी धर्म, जाति के हों, लेकिन गाय हमारी माता है और हमें गायों की रक्षा करनी चाहिये, लेकिन गौरक्षा के नाम पर यदि कोई हिंसा करता है, तो यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मैं व्यक्तिगत रुप से महसूस करता हूं कि जो लोग पशु तस्करी में लिप्त हैं, वही इस प्रकार के अपराध करते हैं। इस बात की निष्पक्ष जांच की जानी चाहिए।
Show More
Abhishek Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned