VIDEO: नोएडा Child PGI में 250 के बजाय 100 रुपये होगा पंजीकरण शुल्क, वेंटिलेटर व ओटी की संख्या भी बढ़ेगी

खबर के मुख्य बिंदु-

  • उत्तर प्रदेश के चिकित्सा प्रमुख सचिव रजनीश दुबे ने किया नोएडा सेक्टर-30 स्थित चाइल्ड पीजीआई का निरीक्षण
  • चाइल्ड पीजीआई में अव्यवस्था देख भड़के प्रमुख सचिव, जिम्मेदार अधिकारियों को लगाई फटकार
  • डायरेक्टर डीके सिंह को दिए वेंटिलेटर और ओटी की संख्या बढ़ाने के लिए प्रस्ताव भेजने के निर्देश

By: lokesh verma

Published: 07 Jul 2019, 12:07 PM IST

नोएडा . उत्तर प्रदेश के चिकित्सा एवं शिक्षा विभाग प्रमुख सचिव रजनीश दुबे ने सेक्टर-30 स्थित सुपर स्पेशियलिटी बाल चिकित्सालय एवं पोस्ट ग्रेजुएट शिक्षण संस्थान (Child PGI) का निरीक्षण किया। इस दौरान अव्यवस्था देखकर रजनीश दुबे भड़क गए। उन्होंने जिम्मेदार अफसरों को जमकर फटकार लगाई। उन्होंने विभिन्न विभागों का दौरा करने के बाद अस्पताल में वेंटिलेटर और ओटी की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने चाइल्ड पीजीआई में आने वाले मरीजों का पंजीकरण के शुल्क को 250 से कम कर 100 रुपये करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें- CBI ने पूर्व Income Tax Commissioner के घर व ऑफिस में मारा छापा, मिला इतने करोड़ रुपये का सोना

Noida child PGI

प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं शिक्षा रजनीश दुबे ने बताया कि समीक्षा के बाद पाया गया की चाइल्ड पीजीआई मे वेंटिलेटर की संख्या कम है। इससे यहां आने वाले मरीजों को असुविधा हो रही है। इसके अलावा ओटी की भी संख्या यहां आने वाले मरीजों की संख्या के लिहाज से बेहद कम है। दुबे ने बताया कि उन्होंने चाइल्ड पीजीआई के डायरेक्टर डीके सिंह को इस बाबत प्रस्ताव तैयार कर भेजने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें- यूपी के इस जिले के डीएम और एसपी एक साथ पहुंचे जेल

Noida child PGI

प्रमुख सचिव ने बताया कि चाइल्ड पीजीआई में आने वाले मरीजों से पंजीकरण शुल्क 250 रुपये लिया जाता है, यह अधिक है। इसलिए यहां मरीजों की संख्या कम हो रही है। उन्होंने बताया कि सितंबर से पंजीकरण शुल्क सिर्फ 100 लिया जाएगा। उनका मकसद चाइल्ड पीजीआई में आने वाले मरीजों को सस्ता और बेहतर इलाज उपलब्ध कराना है। उन्होंने बताया कि पंजीकरण शुल्क अधिक होने की जानकारी गौतमबुद्ध नगर के सीएमओ डॉ. अनुराग भार्गव ने दी थी। सीएमओ के सुझाव पर ही पंजीकरण शुल्क में कमी का फैसला किया गया है। रजनीश दुबे ने चाइल्ड पीजीआई की ओपीडी और आईपीडी के निरीक्षण के दौरान अव्यवस्था और मरीजों की कम संख्या को देखकर नाराजगी जताई। उन्होंने अधिकारियों को व्यवस्था सुधारने की हिदायत दी।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned