Noida: टोल प्लाजा पर बाउंसरों की गुंडई, केवल इस वजह से कर दी कैंटर चालक की हत्या- देखें वीडियाे

Noida: टोल प्लाजा पर बाउंसरों की गुंडई, केवल इस वजह से कर दी कैंटर चालक की हत्या- देखें वीडियाे

Nitin Sharma | Updated: 13 Aug 2019, 12:42:21 PM (IST) Noida, Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh, India

मुख्य बातें

  • कालिंदी कुंज के पास टोल वसूलने वाले बाउंसरों ने वारदात को दिया अंजाम
  • एमसीडी टोल पर अवैध वसूली के विरोध पर की कैंटर चालक की हत्या
  • पुलिस ने सात बाउंसरों को गिरफ्तार कर भेजा जेल

नोएडा। टोल पर मारपीट और गुंडई की खबरें तो आपने सुनी और वारदात देखी होगी, लेकिन (Toll) टोल पर तैनात बाउंसर की गुंडई इस कदर बढ़ गई कि (Illegal Toll) अवैध टोल का विरोध करने पर शख्स की हत्या कर दी। दरअसल नोएडा को दिल्ली से जोड़ने वाले कालिंदी कुंज के यमुना पुल पर ओखला (Mcd Toll) एमसीडी टोल पर अवैध वसूली का विरोध करने पर कैंटर चालक काे (Bouncers) बाउंसरों ने पीट-पीटकर कर मौत के घाट उतार दिया। शनिवार सुबह कैंटर चालक का शव बरामद हुआ। पुलिस ने सात आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वहीं इस मामले में टोल मैनेजर फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

International Airport के पास घर बनाने का सपना देख रहे लोग नहीं कर सकेंगे ये काम, जानिए क्यों

अवैध टोल वसूली का कैंटर चालक ने किया था विरोध

पुलिस की गिरफ्त में आए आराेपी मनरूप,धर्मपाल,अमित कुमार,चेतन प्रकाश,सराजुद्दीन,मनोज और कृष्ण कुमार (Bouncers) बाउंसर हैं। जाे कि महाराष्ट्र की एमईपी (महाराष्ट्र एन्ट्री प्वाइन्ट) कंपनी के लिए (Toll) टोल वसूली का काम करते हैं। एसएसपी ने बताया कि पुलिस पूछताछ के दौरान अभियुक्तों ने बताया कि वे (Illegal) अवैध पर्ची अपने टोल मैनेजर के कहने पर काटते हैं। उन्होंने बताया कि चालक विमल कुमार तिवारी 9 अगस्त को कैंटर में बिजली के पैनल लोड कर के सेक्टर-59 से दिल्ली के घिटोरनी जा रहा था। ओखला एमसीडी टोल से आगे निकलने पर टोल कर्मचारियों ने अपनी गाड़ी से पीछा कर उसे पकड़ लिया और कैंटर चालक से 10 गुना जुर्माने के रूप में 14,600 रुपये की अवैध पर्ची कटवाने का दबाव बनाया। चालक विमल कुमार तिवारी ने इसका विरोध किया।

Noida: शहर आई दुल्हन प्रेमी संग लाखों का सामान लेकर ऐसे हुई फुर्र, दो माह पहले हुई थी शादी

कैंटर चालक के पर्ची नहीं कटवाने पर बाउंसरों ने पीट-पीटकर कर दी हत्या

इस पर टोल कर्मचारियों ने उसके साथ मारपीट कर मरणासन्न कर दिया और नए यमुना पुल पर फेंक दिया । सूचना पाकर मौके पर पहुंचे विमल कुमार तिवारी के भाई और पुलिस उसे जिला अस्पताल ले गये। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस बाबत मृतक के भाई राम शृंगार तिवारी ने एफआईआर दर्ज कराई। मृतक विमल कुमार तिवारी के शरीर पर पोस्टमार्टम के दौरान चोट के निशान मिले है। जिससे ये बात साफ हो गई थी कि विमल कुमार तिवारी की हत्या पिटाई कर के की गई है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned