पुसौर पुलिस की आज-कल से परेशान पीडि़त पहुंचा रायगढ़, एसपी के समक्ष छलका दर्द, पढि़ए खबर...

Vasudev Yadav

Publish: Nov, 14 2017 06:13:08 PM (IST)

Raigarh, Chhattisgarh, India
पुसौर पुलिस की आज-कल से परेशान पीडि़त पहुंचा रायगढ़, एसपी के समक्ष छलका दर्द, पढि़ए खबर...

- सवा लाख की ठगी का मामला, साढ़े तीन माह से घुमा रही है पुसौर पुलिस

रायगढ़। एटीएम से सवा लाख रुपए की ठगी की शिकायत लेकर एक पिता-पुत्र करीब साढ़े ३ माह से पुसौर थाना के चक्कर काट रहे हैं। आरोपी को पकडऩे की बात तो दूर अब तक ठगी के इस मामले में पुलिस ने अपराध तक दर्ज नहीं किया है। जिससे परेशान होकर पीडि़त परिवार एसपी से मुलाकात कर अपनी परेशानियों के साथ पुसौर पुलिस के उदासीन रवैये को बयां किया। पुलिस के आला अधिकारी ने मामले की जांच कर उचित पहल करने की भरोसा दिया है।

Read More :

जब पुलिस के अधिनस्थ अधिकारी, पीडि़त की शिकायतों को नजरअंदाज करते हैं तो उन्हें मजबूर होकर उनके आला अधिकारी से फरियाद करनी पड़ती है। एक ऐसा ही मामला पुसौर थान क्षेत्र का है। जहां एटीएम से एक लाख २४ हजार रुपए ठगी के शिकार पिता-पुत्र, मंगलवार को पुलिस के आला अधिकारी से मिलने के लिए एसपी कार्यालय पहुंचे। पीडि़त मंटू सिंह पिता तेज नारायण सिंंह ने बताया कि वो एनटीपीसी लारा में बतौर ठेका श्रमिक के रुप में काम करते हैं। २७ जुलाई २०१७ को कंपनी के गट पर स्थित एसबीआई के एटीएम बूथ से मंटू रुपए निकालने गया। कम पढ़े-लिखे होने व एटीएम से लेन-देन मेंं होने वाली परेशानी को देखते हुए मंटू ने कंपनी के ही ठेका श्रमिक दिनानाथ सिंह से १८ हजार रुपए एटीएम से निकालने को लेकर अपना कार्ड दिया।

पीडि़त की मानें तो दीनानाथ ने 18 हजार रुपए तो निकाल दिया। पर मुझे एटीएम कार्ड की बजाए उसका कवर ही दिया। मैं एटीएम से निकले हुए रुपए को गिनने के चक्कर में व्यस्त था। इसकी वजह से मैं एटीएम को ध्यान नहीं दिया और पैसे लेकर घर चला गया। कुछ दिनों बाद जब पैसों की फिर जरुरत हुई तो एटीएम की खोज की। तब एटीएम की बजाए उसका सिर्फ कवर मिला। पीडि़त ने बैंक से जब खाते की जानकारी ली तो एक लाख २४ हजार रुपए पार हो चुके थे। पीडि़त ने खाते से रुपए पार होने का आरोप सहयोगी ठेका श्रमिक पर लगाया है। जो २७ जुलाई को एटीएम से रुपए निकालनेे में मदद की थी। इस मामले की शिकायत पुसौर पुलिस से की गई। पर पुलिस ने आवेदन की पावती देकर इस ठगी के मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया है।

साहब करते हैं आज-कल
पीडि़त की मानें तो शिकायत दर्ज कराने के हर २-४ दिन बाद उसने पुसौर थाना के चक्कर लगाए। जिससे उसका काम भी प्रभावित हुए, पर पुलिस के अधिकारी हर बार आज-कल कर मामले को टालते गए। जिससे परेशान होकर रायगढ़ पहुंच कर पुलिस के आला अधिकारी से न्याय की गुहार लगानी पड़ी। पीडि़त की मानें तो पुलिस के आला अधिकारी ने मामले की जांंच कर उचित पहल करने की बात कही है।

1
Ad Block is Banned