साढ़े आठ करोड़ से बनी गौरव पथ एक माह में ही दरकने लगी, 40 फीसदी हिस्से से उधड़ चुकी है गिट्टी और डामर

साढ़े आठ करोड़ से बनी गौरव पथ एक माह में ही दरकने लगी, 40 फीसदी हिस्से से उधड़ चुकी है गिट्टी और डामर
साढ़े आठ करोड़ से बनी गौरव पथ एक माह में ही दरकने लगी, 40 फीसदी हिस्से से उधड़ चुकी है गिट्टी और डामर

Vasudev Yadav | Publish: Oct, 12 2019 02:13:42 PM (IST) | Updated: Oct, 12 2019 02:13:43 PM (IST) Raigarh, Raigarh, Chhattisgarh, India

Road construction disturbances: राज्य में भाजपा शासन काल के दौरान नगर में साढ़े आठ करोड़ रुपए की लागत से तैयार गौरवपथ निर्माण के एक वर्ष बाद ही दरकने लगा है। इससे लोगों में आक्रोश है।

रायगढ़. नगर के कुछ हिस्सों से पिछले साल ही लोकार्पित नई सडक के धंसने के मामले सामने आ रहे हैं। महज एक साल में भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ चुके इस सड़क निर्माण के लगभग 40 फीसदी हिस्से का डामर और गिट्टियां अब तक उधड़ चुकी है और अब यहां वाहनों से उड़ रही धूल लोगों को परेशान करने लगी है। देखरेख अवधि में होने के बावजुद ना तो सड़क ठेकेदार मेंटनेंस कार्य करा रहा और ना ही विभाग इसमें रुचि ले रहा। ऐसे में दिन प्रतिदिन सड़क की हालत बदतर होती चली जा रही है।

Read More: Premnagar Murder Case

गौरतलब है कि एक किलोमीटर के लिए लगभग तीन करोड़ जैसी भारी भरकम राशि की स्वीकृति के बावजूद सत्ता के संरक्षण में ठेकेदार द्वारा ब्लू प्रिंट को पूरी तरह नजर अंदाज करते हुए जमकर मनमानी की गई। प्रभार में चल रहे विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत और उनकी लगातार अनुपस्थिति का फायदा उठाकर ठेकेदार ने निर्माण में घटिया निर्माण सामग्री इस्तेमाल किया।

इस दौरान कुछ स्थानीय लोगों सहित खुद कांग्रेसी नेताओं ने ठेकेदार पर घटिया सड़क निर्माण का आरोप लगाकर कई बार इसकी लिखित एवं मौखिक शिकायत स्थानीय प्रशासन से की गई पर इस मामले में कभी भी कोई कार्रवाई नहीं ही सकी। ऐसे में अब राज्य में सत्ता परिवर्तन के बाद नगरवासियों ने शासन प्रशासन से इस पूरे निर्माण कार्य में हुई गफलत की जांच कर संबंधित ठेकेदार को ब्लैक लिस्टेड किए जाने की मांग की जा रही है।

साढ़े आठ करोड़ से बनी गौरव पथ एक माह में ही दरकने लगी, 40 फीसदी हिस्से से उधड़ चुकी है गिट्टी और डामर

Read More: प्रेमनगर में खूनी झड़प का वीडियो हुआ वायरल, एक युवक पर बरस रही लाठियां, वीडियो देखते ही खड़े हो जाएंगे रोंगटे
उल्लेखनीय है नगर पंचायत लैलूंगा की बहुप्रतीक्षित बताई जाने वाली इस मार्ग के लिए प्रशासन द्वारा वर्ष 2016-17 में लगभग 11 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए थे। इससे नगर में एक किलोमीटर सीसी रोड दो किलोमीटर डामरीकरण कुल तीन किमी सड़क निर्माण सहित नाली निर्माण का कार्य भी कराया जाना था, लेकिन निर्माण पूर्व ही संबंधित ठेकेदार ने नाली निर्माण के लिए स्वीकृत राशि को अपर्याप्त बताकर हाथ खींच लिए गया और ठेकेदार ने सिर्फ गौरवपथ का काम कराया गया। लोगों का कहना है कि उस दौरान सत्ता के संरक्षण में ठेकेदार ने निर्माण कार्य में जम कर मनमानी की।

Read More: सर्विस बुक में नकारात्मक कार्रवाई करने के साथ ही पटवारियों को दी जाती थी ये धमकी, हटाए गए तहसीलदार व एसडीएम
निर्माण के दौरान घटिया मटेरियल इस्तेमाल किए जाने से सड़क की हालत एक साल में ही बेहद खराब हो चुकी है। अगर मेंटेनेस का कार्य नहीं कराया गया। तो सड़क किसी भी हाल में अगली बारिश नही झेल पाएगी। रितेश सिदार, स्थानीय युवा

सड़क निर्माण के दौरान घटिया निर्माण को लेकर कई बार नगरवासियों द्वारा इसकी शिकायत स्थानीय प्रशासन को की गई पर ना तो कभी अधिकारियों ने सड़क की जांच की गई और ना ही कभी सड़क ठेकेदार पर किसी भी प्रकार की प्रतिबंधनात्म कार्रवाई की गई। ऐसे में गुणवत्ता को ताक में रखकर बनाई गई इस सड़क की हालत बेहद खराब हो चुकी है। भास्कर साह, स्थानीय युवा

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned