script30 old camps will start again in Bastar to beat the Naxalites | नक्सलियों को मात देने बस्तर में 30 पुराने कैंप फिर से होंगे शुरू, 5 नई बटालियन की तैयारी | Patrika News

नक्सलियों को मात देने बस्तर में 30 पुराने कैंप फिर से होंगे शुरू, 5 नई बटालियन की तैयारी

- स्थानीय लोगो के विरोध की आशंका के चलते अफसरों ने बनाई योजना।
- सुकमा, बीजापुर और दंतेवाड़ा जिले में होगी तैनाती।

रायपुर

Published: February 09, 2021 11:08:53 am

रायपुर. छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बस्तर के सुकमा, बीजापुर और दंतेवाडा़ में फोर्स के करीब 30 पुराने कैंपों को एक बार फिर से शुरू किया जाएगा। यहां सीआरपीएफ की 5 नई बटालियन को तैनात करने की योजना बनाई गई है। प्रत्येक कैंप में 150 से 200 जवानों को रखा जाएगा। इसके लिए पुराने कैंपों में रंग-रोगन कर रसद और राशन सहित अन्य सारी व्यवस्था की गई है। कांकेर स्थित जंगलवारफेयर कालेज में प्रशिक्षण के बाद कैंपों में भेजने की तैयारी चल रही है। जल्दी ही उन सभी का मूवमेंट कराया जाएगा। विभागीय अधिकारी इसकी कवायद में जुटे हुए है।
नक्सलियों को मात देने बस्तर में 30 पुराने कैंप फिर से होंगे शुरू, 5 नई बटालियन की तैयारी
बताया जाता है कि नक्सलियों के इशारे पर स्थानीय निवासियों के विरोध किए जाने की आशंका को देखते हुए इसका निर्णय लिया गया है। नवंबर 2020 में सीआरपीएफ की 5 नई बटालियन के रायपुर में आमद देने के बाद सभी को गोपनीय रूप से बस्तर भेजा गया था।
अस्थाई कैंप बनेंगे
सीआरपीएफ के जवानों के लिए जल्दी ही सुकमा, बीजापुर और दंतेवाडा़ जिले के सर्वाधिक प्रभावित इलाकों में कैंप का निर्माण किया जाएगा। विभागीय अधिकारियों की स्वीकृति के बाद स्थल का चिन्हांकन किया गया है। राज्य सरकार से इसका हस्तांतरण करने के बाद कैंप निर्माण की तैयारी चल रही है। बताया जाता है कि चिन्हांकित स्थलों में पहले अस्थाई कैंप शुरू किया जाएगा। साथ ही स्थानीय इलाके में मूवमेंट कराया जाएगा। बता दें कि सीआरपीएफ की नई बटालियन आने के बाद से माओवादी दबाव में आ गए है। इसके चलते उनकी गतिविधियां भी कम होती जा रही है।
इतनी फोर्स
माओवाद प्रभावित बस्तर संभाग में इस समय राज्य पुलिस और केंद्रीय फोर्स के करीब 50000 जवानों को तैनात किया गया है। इसमें करीब 30000 सीआरपीएफ, 5000 बीएसएफ के जवान शामिल है। इन सभी का अंदरूनी इलाकों में मूवमेंट कराया जा रहा है।
उपयोग होगा
सीआरपीएफ की नई बटालियन को जल्दी ही तैनात किया जाएगा। इसके लिए पुराने कैंपों का उपयोग भी किया जाएगा। लेकिन, सुरक्षा कारणों के चलते इसे सार्वजनिक नहीं किया जा सकता है।
- एचके साहू, प्रवक्ता सीआरपीएफ

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

'हर घर तिरंगा' अभियान में शामिल हुई PM नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन, बच्‍चों के संग फहराया राष्‍ट्रीय ध्‍वज7,500 स्टूडेंट्स ने मिलकर बनाया सबसे बड़ा ह्यूमन फ्लैग, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ नामबिहारः सत्ता गंवाते ही NDA के 3 सांसद पाला बदलने को तैयार, महागठबंधन में शामिल होने की चल रही चर्चा'फ्री रेवड़ी ' कल्चर व स्कूल के मुद्दे पर संबित्र पात्रा ने AAP को घेरा, कहा- 701 स्कूलों में प्रिंसिपल नहीं, 745 स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता विज्ञानPM मोदी ने कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेने वाले दल से मुलाकात की, कहा- विजेताओं से मिलकर हो रहा गर्वप्रियंका के बाद अब सोनिया गांधी भी दोबारा हुईं कोरोना पॉजिटिव, तेजस्वी यादव ने कल ही की थी मुलाकातजम्मू कश्मीर में टेरर लिंक मामले में बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार सरकारी कर्मचारी बर्खास्त2009 में UPSC किया टॉप, 2019 में राजनीति के लिए नौकरी छोड़ी, अब 2022 में फिर कैसे IAS बने शाह फैसल?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.