छुट्टी बिताकर लौटा जवान नक्सली हमले में हुआ शहीद, पत्नी बोली - क्या पता था तिरंगे में होगी घर वापसी

छुट्टी बिताकर लौटा जवान नक्सली हमले में हुआ शहीद, पत्नी बोली - क्या पता था तिरंगे में होगी घर वापसी

Ashish Gupta | Publish: Mar, 14 2018 12:45:07 PM (IST) | Updated: Mar, 14 2018 12:56:01 PM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के इस परिवार को क्या पता था कि 15 दिन की छुट्टी बिताकुर ड्यूटी पर जा रहा उनका लाल अब घर नहीं लौटेगा।

रायपुर . उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के इस परिवार को क्या पता था कि 15 दिन की छुट्टी बिताकुर ड्यूटी पर जा रहा उनका लाल अब घर नहीं लौटेगा। दरअसल, अभी 24 घंटे भी नहीं बीते थे जब उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के मनोज कुमार सिंह 15 दिन की छुट्टी बिताकर सुकमा में अपनी यूनिट लौटे थे। सुकमा के किस्टाराम माओवादियों के हमले में वे शहीद हो गए। सीआरपीएफ मुख्यालय से यह खबर पहुंचते ही उनका गांव उसरौली शोक में डूब गया।

Read More : छत्तीसगढ़ में बड़ा नक्सली हमला: आईईडी ब्लास्ट में 9 जवान शहीद, एंटी लैण्ड माइन व्हीकल को उड़ाया

सीआरपीएफ से ही सेवानिवृत्त मनोज के बुजूर्ग पिता नरेंद्र नारायण सिंह अभी भी इस खबर पर भरोसा नहीं कर पा रहे हैं। बेटे की शहादत की सूचना पाकर वे बरामदे में रखी चौकी का एक कोना पकड़कर बैठ गए। उनकी शून्य में देखती आंखों से लगातार आंसू निकल रहे हैं, लेकिन जुबान खामोश है।

Read More : रावघाट के जंगल में मुठभेड़: IED ब्लास्ट के बाद फायरिंग, असिस्टेंट कमांडेंट समेत दो शहीद

आंगन में मनोज की पत्नी सुमन सिंह दहाड़मार गिर पड़ीं। गांव की महिलाओं ने उन्हें सहारा दिया, लेकिन उनके दु:खों का बांध पाना उनके भी बस की बात नहीं। वे बार-बार बेहोश हो रही हैं। उनके दोनों बेटों प्रिंस (6) और प्रतीक (4) को अभी यह अहसास नहीं है कि उन्होंने क्या खो दिया है।

Read More : रो पड़े साथी जवान जब शहीदों को दी गई अंतिम सलामी, मुठभेड़ में सीने पर खाईं थी गोलियां

परिजनों ने बताया कि मनोज अभी 15 दिन की छुट्टी बिताकर शनिवार को ही छत्तीसगढ़ के लिए रवाना हुए थे। बलिया के चितबड़ागांव थाने के प्रभारी शैलेष सिंह ने बताया कि उनके घर पर पूरा गांव इकट्ठा हो गया था। घरवालों पर तो दु:खों का पहाड़ टूटा लेकिन पूरा गांव भी गमगीन है। स्थानीय पुलिस और प्रशासन के अधिकारी वहां गए थे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned