UPSC की तैयारी कर रही युवती को फेसबुक में दोस्ती पड़ी भारी, फर्जी FB फ्रेंड ने ऐसे बनाया शिकार

फेसबुक पर दोस्ती पड़ी महंगी, 30 हजार पाउंड का झांसा देकर फेसबुक फ्रेंड ने लुटे ढाई लाख।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 27 Nov 2019, 09:44 PM IST

रायपुर। सोशल मीडिया में दोस्ती और लालच करना एक युवती को भारी पड़ गया। फेसबुक में विदेशी युवक से दोस्ती की। इसके बाद विदेशी युवक ने महंगे गिफ्ट भेजने का झांसा देकर युवती से ढाई लाख रुपए ठग लिए। इसकी शिकायत पर खम्हारडीह पुलिस ने अज्ञात युवक के खिलाफ अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया है। पीड़िता यूपीएससी की तैयारी कर रही है।

पुलिस के मुताबिक विवि विहार निवासी माधुरी साहू की करीब दो माह पहले फेसबुक में माइकल ब्रेन नाम युवक से दोस्ती हो गई। माइकल ने अपने स्टेटस में खुद को जर्मनी का निवासी बताया है। दोनों के बीच फेसबुक में लंबी चैटिंग होने लगी। इसके बाद वाट्सएप और फोन के जरिए बातचीत होने लगी। कुछ दिन पहले माइकल ने माधुरी को एक महंगा गिफ्ट भेजा। गिफ्ट भेजने के अगले दिन एक युवक ने फोन किया और खुद को कस्टम विभाग का डिलीवरी बॉय बताया। उसने कहा कि गिफ्ट में 30 हजार पाउंड हैं, जो इंडियन मुद्रा में 27 लाख रुपए होते हैं। इसे छुड़ाने के लिए कस्टम विभाग में 25 हजार रुपए जमा करना पड़ेगा। युवती उसके झांसे में आ गई। उसने आरोपियों के बताए खाता नंबर में 25 हजार रुपए जमा करवा दिया।

इसके बाद फिर फॉरेन करेंसी को इंडियन करेंसी में बदलने के नाम पर 7 हजार रुपए जमा करवाया। इसके बाद अगले दिन उसे एक युवती ने फोन किया और खुद को बैंक ऑफ बड़ौदा की कर्मचारी बताते हुए कहा कि विदेशी करंसी को भारतीय करंसी में बदल दिया गया है। यह राशि आपके बैंक खाते में जमा की जा रही है। इसमें टैक्स के रूप में आपको 1 लाख रुपए जमा करना होगा। इस तरह युवती ने अलग-अलग किस्तों में कुल ढाई लाख रुपए जमा कर चुकी थी। इसके बाद भी जब 27 लाख रुपए नहीं मिले, तब उसे शक हुआ। इसके बाद उन्होंने माइकल के प्रोफाइल को अच्छे से चेक किया। उसमें लगी फोटो एक पॉप सिंगर की निकली। इसके बाद उसे धोखाधड़ी होने का एहसास हुआ। उन्होंने खम्हारडीह थाने में इसकी शिकायत की। पुलिस ने अज्ञात युवक के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। पीड़ित युवती यूपीएससी की तैयारी कर रही है।

नाइजीरियन गिरोह पर शक
फेसबुक पर फर्जी प्रोफाइल बनाकर युवती व महिलाओं से दोस्ती करने और फिर गिफ्ट भेजने के नाम ठगी करने के पीछे नाइजीरियन गिरोह की आशंका है। आमतौर पर नाइजीरियन इसी तरह की ठगी करते हैं। रायपुर में इस तरह की ठगी के कई मामले सामने आ चुके हैं।

Click & Read More Chhattisgarh News.

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned