scriptPower Company Scam: छत्तीसगढ़ समेत भारत की 28 पावर कंपनियों ने किया करोड़ों का घोटाला, CBI करेगी जांच | Power Company Scam: CBI investigate 28 power company | Patrika News
रायपुर

Power Company Scam: छत्तीसगढ़ समेत भारत की 28 पावर कंपनियों ने किया करोड़ों का घोटाला, CBI करेगी जांच

Power Company Scam: कंपनी द्वारा एसबीआई, एलएनटी इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस लिमिटेड, मेसर्स पीटीसी इंडिया लिमिटेड और स्टेट बैंक ऑफ़ बीकानेर एवं जयपुर से 6170 करोड रुपए का लोन लिया गया था।

रायपुरJun 15, 2024 / 11:51 am

Kanakdurga jha

Power Company Scam
Power Company Scam: सीबीआई ने 5717 करोड रुपए के लोन घोटाले में छत्तीसगढ़ की 7 कंपनियों सहित देश भर के 28 पावर कंपनियों के संचालकों एवं एक बैंक मैनेजर के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी और दस्तावेज में कूटरचना का जुर्म दर्ज किया है। यह कार्रवाई इलाहाबाद हाई कोर्ट के निर्देश पर दर्ज की गई है। सीबीआई ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया है कि एसकेएस इस्पात एंड पावर लिमिटेड से सम्बद्ध छत्तीसगढ़ की एसकेएस पावर जेनरेशन लिमिटेड में बिजली उत्पादन एवं वितरण किया जाता है।
इस कंपनी द्वारा एसबीआई, एलएनटी इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस लिमिटेड, मेसर्स पीटीसी इंडिया लिमिटेड और स्टेट बैंक ऑफ़ बीकानेर एवं जयपुर से 6170 करोड रुपए का लोन लिया गया था। लेकिन बैंकों एवं अन्य वित्तीय संस्थाओं को लोन की राशि अदा नहीं की गई। वही (Power Company Scam) फर्जीवाड़ा करने 5717 करोड रुपए में नीलामी की प्रक्रिया फर्जी तरीके से की गई।
इसी तरह मेसर्स और एंटविकेलन इंडिया एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड के पक्ष में लगभग 2000 करोड रुपए की नीलामी हुई। वहीं कुछ अन्य कंपनियाें का पता एक ही स्थान पर पंजीकृत किया गया था। इसे 2019 में अन्य कंपनियों के साथ अनधिकृत रूप से विलय कर दिया गया। इस सिंडिकेट में सभी कंपनियों के संचालकों ने बैंक मैनेजर के साथ मिलकर फर्जीवाड़े को अंजाम दिया। कागज में गठित डमी मुखौटा कंपनियों की मदद से फर्जी लेनदेन और शेयर के जरिए रकम की अराउंड फंडिंग की गई।
यह भी पढ़ें

CG Electricity: बिजली अधिकारियों को नोटिस जारी, भीषण गर्मी में काट रहे थे कनेक्शन, देना होगा जवाब

Power Company Scam: ऐसे हुआ करोड़ों का घोटाला

यह राशि ब्रिटिश विदेशी क्षेत्र में हस्तांतरित किया गया। जांच के दौरान इसके इनपुट मिलने के बाद 26 कंपनी संचालक और जौनपुर के भारतीय स्टेट बैंक मुख्य शाखा प्रबंधक एवं शाखा प्रबंधक के खिलाफ जुर्म दर्ज किया गया है। बता दें कि इस फर्जीवाड़े की शिकायत 26 सितंबर 2021 को उत्तर प्रदेश के जौनपुर स्थित जफराबाद थाने में प्राथमिकी की दर्ज की गई थी जिसे अब हाईकोर्ट के निर्देश पर सीबीआई ने पूरे मामले को टेकओवर कर लिया है। छत्तीसगढ के अलावा अनीश अनिल गुप्ता, निदेशक, मैसर्स एसकेएस इस्पात एंड पावर लिमिटेड, मुंबई, प्रीतम बेरिया, चार्टर्ड अकाउंटेंट, कंडासामी सुब्बुराज, निदेशक, मैसर्स सीथर लिमिटेड,संदीप कुमार गुप्ता, निदेशक लाभेश्वरी एजेंसीज लिमिटेड है।
साथ ही, हंसनाथ यादव, निदेशक लाभेश्वरी एजेंसीज लिमिटेड,प्रमोटर एवं निदेशक, मैसर्स एसकेएस इस्पात एंड पावर लिमिटेड, मुंबई, प्रमोटर एवं निदेशक मैसर्स रिवरव्यू सिक्योरिटीज प्राइवेट लिमिटेड, कोलकाता, प्रमोटर एवं निदेशक मेसर्स रणभूमि सिक्योरिटीज प्राइवेट लिमिटेड, (Power Company Scam) कोलकाता,प्रमोटर एवं निदेशक, मैसर्स एवरन्यू सिक्योरिटीज प्राइवेट लिमिटेड, प्रमोटर एवं निदेशक, मैसर्स अकेसिया सप्लायर्स प्राइवेट लिमिटेड, कोलकाता,प्रमोटर एवं निदेशक, मैसर्स लाभेश्वरी एजेंसीज लिमिटेड, कोलकाता,प्रमोटर एवं निदेशक है।
साथ ही, मैसर्स श्री कृष्णा स्ट्रक्चर्स प्राइवेट लिमिटेड, प्रमोटर एवं निदेशक, मैसर्स सिटीविंग्स एजेंसीज प्राइवेट लिमिटेड, कोलकाता,प्रमोटर एवं निदेशक, मैसर्स नॉर्थ वेस्ट कोल कंपनी लिमिटेड, कोलकाता,प्रमोटर एवं निदेशक, मैसर्स सुगौरी डिस्ट्रीब्यूटर्स प्राइवेट लिमिटेड, कोलकाता,प्रमोटर एवं निदेशक, मैसर्स गैबरियल डीलर्स प्राइवेट लिमिटेड, कोलकाता, प्रमोटर एवं निदेशक, मैसर्स सेथर लिमिटेड, तिरुचिरापल्ली, (Power Company Scam) प्रमोटर एवं निदेशक, मैसर्स एंबिशन कमोसेल्स प्राइवेट लिमिटेड, कोलकाता, प्रमोटर एवं निदेशक, मैसर्स कॉम्पैक्ट एजेंसीज प्राइवेट लिमिटेड, कोलकाता,रोहित पाराशर, मुख्य प्रबंधक, भारतीय स्टेट बैंक एवं शाखा प्रबंधक, भारतीय स्टेट बैंक, सिविल लाइन्स, जौनपुर शामिल हैं।

ये हैं छत्तीसगढ़ की कंपनियां

इन कंपनी संचालकों में अनिल महाबीर गुप्ता, निदेशक, मैसर्स एसकेएस पावर जेनरेशन (छत्तीसगढ़) लिमिटेड,अभय कुमार साहू, मैसर्स एसकेएस पावर जेनरेशन (छत्तीसगढ़) लिमिटेड,अशोक कुमार साहू, मैसर्स एसकेएस पावर जेनरेशन (छत्तीसगढ़) लिमिटेड,महावीर प्रसाद गुप्ता, मैसर्स एसकेएस पावर जेनरेशन (छत्तीसगढ़) लिमिटेड, दीपक गुप्ता, मैसर्स एसकेएस पावर जेनरेशन (छत्तीसगढ़) लिमिटेड, प्रेमलता गुप्ता निदेशक मेसर्स श्री कृष्णा स्ट्रक्चर्स प्राइवेट लिमिटेड रायपुर के साथ एसकेएस पावर जेनरेशन छत्तीसगढ़ लिमिटेड मुंबई के संचालक और प्रमोटर्स शामिल हैं।

Power Company Scam: एसकेएस पावर कंपनी का सिंडिकेट

सीबीआई को जांच में इनपुट मिले हैं कि एसकेएस पावर एन्ड इस्पात कंपनी के प्रमोटर्स एवं संचालकों द्वारा बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़ा कर लोन लिया गया था लेकिन इसे अदा नहीं किया गया। इस खेल में अपने सहयोगी और करीबी कंपनियों के संचालकों और दो बैंक मैनेजर को शामिल किया गया।
सीबीआई की टीम से संबंधित सभी दस्तावेजों को यूपी के जौनपुर थाना से टेकओवर करने के बाद जांच में लिया है। बताया जाता है कि जल्द ही कंपनी के संचालकों को प्रमोटर्स और बैंक अधिकारियों से पूछताछ कर उनका बयान लिया जाएगा। साथ ही पूरे लेनदेन के दस्तावेज जप्त कर इनसे संबंधित लोगों (Power Company Scam) को तलब करने की तैयारी भी चल रही है।

Hindi News/ Raipur / Power Company Scam: छत्तीसगढ़ समेत भारत की 28 पावर कंपनियों ने किया करोड़ों का घोटाला, CBI करेगी जांच

ट्रेंडिंग वीडियो