मंगल ग्रह की सबसे खतरनाक जगह पर उतरने जा रहा है नासा का रोवर, जानिए इसके मायने

  • मंगल पर उतरने जा रहा है नासा का पर्सिवियरेंस रोवर (Perseverance Rover)
  • पर्सिवियरेंस अब तक का सबसे उन्नत रोवर है जो मंगल पर उतरेगा

By: Vivhav Shukla

Published: 17 Feb 2021, 11:30 PM IST

नई दिल्ली। अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा का मार्स रोवर 18 फरवरी 2021 को मंगल ग्रह की सतह पर उतरेगा। नासा का कहना है कि ये दुनिया की अब तक की सबसे सटीक लैंडिंग होगी।जानकारी के मुताबिक पर्सिवियरेंस रोवर मंगल ग्रह से सिर्फ 39 लाख किलोमीटर की दूरी है। 18 फरवरी को रोवर ग्रह की सतह पर लैंड करेगा।

ISS : अंतरिक्ष स्टेशन पर मंडरा रहा नया खतरा

नासा का कहना है कि ये पर्सिवियरेंस मंगल पर परीक्षण करेगा कि यहां मानव का जीवन संभव है या नहीं। नासा ने बताया कि पर्सिवियरेंस मंगल के जजीरो क्रेटर पर उतरेगा, जहां कभी पानी भरा रहता था।पर्सिवियरेंस का प्रमुख लक्ष्य जीवन के संकेत खोजना है

वैज्ञानिकों का कहना है कि मंगल पर कभी वैसा ही जीवन था जैस पृथ्वी जीवन की शुरुआत के समय था। अगर ये बात सही है तो पर्सिवियरेंस को जीवाश्म या जीवन के संकेत मिल सकेंगे।

Amazing Fact : जानिए शुक्र ग्रह पर क्यों होता है दिन से छोटा वर्ष

बता दें पर्सिवियरेंस से पहले भी नासा के कई रोवर मंगल पर उतर चुके हैं।पर्सिवियरेंस नासा का चौथी पीढ़ी का मंगल रोवर है। इससे पहले साल 1997 में सोजोनर रोवर भेजा गया था। इसके बाद साल 2004 में स्पिरिट और अपोर्च्यूनिटी और साल 2012 में क्योरिसिटी को नासा ने मंगल पर भेजा था।

Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned