स्वदेशी टीका लगवाने वाले भारतीय छात्रों को दोबारा वैक्सीन लगवाने को कह रहे विदेशी विश्वविद्यालय

अमरीका के कई विश्वविद्यालय भारतीय छात्रों को विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा अनुमोदित टीका लगावाने के बाद ही प्रवेश देने की बात कह रहे है।

By: Mohmad Imran

Updated: 08 Jun 2021, 05:05 PM IST

अगर आप भी इस साल विदेश में शिक्षा पाने के लिए जाने का सोच रहे हैं तो कुछ बातें जान लीजिए। अमरीका समेत यूरोप के कई देश भारतीय छात्रों को दोबारा वैक्सीन लगावाने के लिए कह रहे हैं, खासकर अगर उन्होंने स्वदेशी टीका जैसे कोवैक्सीन लगवाई है तो। अमरीका के कई विश्वविद्यालय भारतीय छात्रों को विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा अनुमोदित टीका लगावाने के बाद ही प्रवेश देने की बात कह रहे है।

स्वदेशी टीका लगवाने वाले भारतीय छात्रों को दोबारा वैक्सीन लगवाने को कह रहे विदेशी विश्वविद्यालय

यह है वजह
कुछ चयनित विदेशी विश्वविद्यालय भारतीय टीकों और रूसी स्पुतनिक-वी वैक्सीन को अपने स्वास्थ्य मानकों पर खरा नहीं मान रहे हैं। ये विश्वविद्यालय इसके लिए इन टीकों की प्रभावशीलता और सुरक्षा संबंधी डेटा की कमी का हवाला दे रहे हैं। अमरीकी रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र की प्रवक्ता क्रिस्टीन नॉर्डलंड के अनुसार, दो अलग-अलग टीके लगवाने पर वायरस से सुरक्षा और प्रभावशीलता का अभी तक अध्ययन नहीं किया गया है। क्रिस्टीन ने कहा कि जिन भारतीय छात्रों ने अपने यहां कि स्वदेशी वैक्सीन लगवाइं है, उन्हें उन्हें भी दोबारा टीकाकरण के लिए 28 दिनों की अवधि का इंतजार करना होगा। गोरतलब है कि डब्ल्यूएचओ की आसेर से अनुमोदित और अमरीकी विश्वविद्यालयों द्वारा मान्य टीकों में अमरीका की ही फाइजर इंक, जॉनसन एंड जॉनसन और मॉडर्ना इंक कंपनी की बनाई वैक्सीन शामिल हैं।

स्वदेशी टीका लगवाने वाले भारतीय छात्रों को दोबारा वैक्सीन लगवाने को कह रहे विदेशी विश्वविद्यालय

हर साल 2 लाख भारतीय छात्र जाते
अमरीकी विश्वविद्यालयों में हर साल 2 लाख से अधिक भारतीय छात्र प्रवेश लेते हैं। ऐसे में टीका संबंधी इन नए नियमों से उन विश्वविद्यालयों को आर्थिक नुकसान होने की आशंका भी है। अनुमानत: हर साल इन विश्वविद्यालयों में शिक्षण शुल्क के रूप में करीब 28,38,91,72,50,000रुपए (39 बिलियन डॉलर) सिर्फ ट्यूशन फीस से ही कमाते हैं।

स्वदेशी टीका लगवाने वाले भारतीय छात्रों को दोबारा वैक्सीन लगवाने को कह रहे विदेशी विश्वविद्यालय
Mohmad Imran
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned