scriptDevotees participated in large numbers, reached Ganesh Kund with fast | शिवपुरी व करैरा मेें चल समारोह के बाद हुआ काली माता का विसर्जन | Patrika News

शिवपुरी व करैरा मेें चल समारोह के बाद हुआ काली माता का विसर्जन

locationशिवपुरीPublished: Oct 25, 2023 02:30:38 pm

Submitted by:

sanuel Das


शिवपुरी व करैरा मेें चल समारोह के बाद हुआ काली माता का विसर्जन
बड़ी संख्या में शामिल हुए भक्तगण, तेज कदमों में माता की प्रतिमा लेकर पहुंचे गणेश कुंड

शिवपुरी व करैरा मेें चल समारोह के बाद हुआ काली माता का विसर्जन
शिवपुरी व करैरा मेें चल समारोह के बाद हुआ काली माता का विसर्जन

शिवपुरी व करैरा मेें चल समारोह के बाद हुआ काली माता का विसर्जन
बड़ी संख्या में शामिल हुए भक्तगण, तेज कदमों में माता की प्रतिमा लेकर पहुंचे गणेश कुंड
शिवपुरी। शिवपुरी शहर में मंगलवार की देर दोपहर खटीक समाज द्वारा विराजी जाने वाली काली माता का चल समारोह शहर में से निकला। वहीं करैरा नगर में भी आज माँ काली का चल समारोह निकाला गया, जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने भागीदारी निभाई। माता की प्रतिमा को तेज कदमों से लेकर निकले तथा शिवपुरी के गणेश कुंड में प्रतिमा का विसर्जन किया। इस दौरान शहर में जिस रास्ते से जुलूस निकला, वहां पर ट्रेफिक कुछ देर के लिए रोक दिया गया था।
आज दोपहर 3.30 बजे शहर के सईसपुरा कमलागंज में विराजीं काली माता की प्रतिमा को लेकर भक्तगण विसर्जन के लिए रवाना हुए। देवी प्रतिमा को उठाने के बाद तेज कदमों से भक्तगण थीम रोड से होते हुए माधव चौक की तरफ आगे बढ़े। देवी प्रतिमा को लेकर जिस रूट से भक्तगणों को निकलना था, उस रास्ते पर पुलिस ने पहले ही ट्रेफिक रोक दिया था। यह मान्यता है कि देवी प्रतिमा एक बार उठने के बाद जहां भी रुकेगी, वहां एक बकरे की बलि दी जाएगी। इसलिए यह प्रयास किया जाता है कि प्रतिमा को तेज कदमों के साथ विसर्जन स्थल तक ले जाया जाए। महज आधा घंटे में काली माता की प्रतिमा को लेकर गणेश कुंड पर पहुंचे, जहां देवी प्रतिमा का विसर्जन किया।
करैरा में निकला माँ काली का चल समारोह, महुअर नदी में हुआ विसर्जन
करैरा। करैरा नगर के वार्ड 4 हरिजन बस्ती खटीक मोहल्ला में माँ काली की विशाल प्रतिमा की स्थापना प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी माँ काली का विशाल पांडाल सजाया गया था। मंगलवार को दशहरा पर्व पर दोपहर 3.40 बजे चल समारोह शुरू हुआ। काली माता के चल समारोह को देखने के लिए हजारों की संख्या में लोग खटीक मोहल्ले से लेकर महुअर नदी पुल के पास तक नजर आए। काली माता का चल समारोह खटीक मोहल्ले से शुरू होकर निचली बस्ती से होते हुए पुरानी तहसील, पुराना बस स्टैंड, पुलिस सहायता केंद्र, शिवपुरी रोड महुअर नदी पुल के नीचे पहुंचा। इसके बाद पूरे धार्मिक रीति रिवाज से माता काली की प्रतिमा का विसर्जन किया गया। इस मौके पर पुलिस प्रशासन की टीम, नगर परिषद के सीएमओ ताराचन्द्र धुलिया व्यवस्थाएं संभाले हुए थे। चल समारोह से पूर्व पहले नगर की अच्छी तरह से साफ-सफाई के साथ ही पानी से सडक़ को धोया गया था।

ट्रेंडिंग वीडियो