scriptSrimadhopur-Ringas Highway accident: Uncle-nephew last rites | Rajasthan Road Accident : 22 दिन पहले ही सिर पर सजा था सेहरा, अब चाचा के साथ उठी भतीजे की अर्थी, रो पड़ा पूरा गांव | Patrika News

Rajasthan Road Accident : 22 दिन पहले ही सिर पर सजा था सेहरा, अब चाचा के साथ उठी भतीजे की अर्थी, रो पड़ा पूरा गांव

locationसीकरPublished: Dec 19, 2023 11:59:05 am

Submitted by:

Rakesh Mishra

Rajasthan Road Accident : श्रीमाधोपुर- रींगस हाइवे पर रविवार को हादसे का शिकार हुए बागरियावास निवासी चाचा-भतीजे की अर्थी सोमवार को एक साथ उठी तो गम से खामोश गांव चीत्कारों से दहल उठा।

sikar_road_accident.jpg
Rajasthan Road Accident : श्रीमाधोपुर- रींगस हाइवे पर रविवार को हादसे का शिकार हुए बागरियावास निवासी चाचा-भतीजे की अर्थी सोमवार को एक साथ उठी तो गम से खामोश गांव चीत्कारों से दहल उठा। पिछले महीने ही सेहरा सजे बजरंग लाल को घोड़ी पर बिठाकर चाचा पप्पुराम खुशी से फूले नहीं समा रहा था। उसी चाचा व भतीजे की अंतिम यात्रा जब साथ निकली तो हर किसी की आंखों में आंसुओं की नमी उतर आई। परिजनों का तो रो-रोकर बुरा हाल हो गया। 22 दिन पहले ही ब्याह के जोड़े में सज-धज कर घर आई रोशन तो सुहाग उजड़ने पर बार- बार बेहोश होती रही। बेसुध हालत में उसे संभालना मुश्किल हो गया। हर किसी के लिए वह पल पहाड़ सा भारी रहा। गौरतलब है कि श्रीमाधोपुर - रींगस हाइवे पर छीलावाली के पास रविवार देर शाम को एक कार, बाइक व बस की भिड़ंत हो गई थी। जिसमें बागरियावास निवासी 51 वर्षीय पप्पुराम वर्मा व उसके 22 वर्षीय भतीजे बजरंगलाल की दर्दनाक मौत हो गई थी। जिनका सोमवार को सुबह पोस्टमार्टम के बाद अंतिम संस्कार किया गया।
अभी हुई थी दो शादी
जिस घर से अर्थी उठी, उसमें पिछले महीने दो शादियों की खुशी थी। 21 नम्बर को मृतक बजरंग लाल की बड़ी बहन राधा की शादी थी। इसके चार दिन बाद 25 नवंबर को ही बजरंग लाल का विवाह थोई रामपुरा निवासी रोशन वर्मा से हुआ था। पर हाथों की मेहंदी उतरने से पहले ही रोशन की मांग का सिंदूर उजड़ गया। जिसेे देखकर हर किसी का रोना नहीं रुक रहा था।
ईंट भट्टे पर मजदूरी करते हैं बुजुर्ग मां- बाप
बजरंगलाल के सात भाई बहनों में चौथे नम्बर का था। उसकी तीन बड़ी बहिनों की शादी हो चुकी है। छोटे भाई देशराज व दो छोटी बहिनें अविवाहित है। मृतक का 60 वर्षीय पिता दामाराम तथा माता संतोषी देवी ईंट भट्टो पर मजदूरी कर परिवार पालते हैं।
साथ काम पर जाने वाले साथ हुए विदा
बजरंगलाल अपने मृतक चाचा पप्पूराम के साथ सरगोठ स्थित दूध फैक्ट्री में काम करता था। दोनों साथ ही जाया करते थे। रविवार को भी दोनों फेक्ट्री से घर के लिए बाइक पर साथ ही निकले थे। इसी दौरान हादसे का शिकार हो गए। घर से साथ निकलने वाले चाचा- भतीजे की घर से अंतिम विदाई भी साथ होना रह-रहकर लोगों को भावुक कर रहा था। मृतक पप्पू के दो पुत्र जयपाल तथा राकेश हैं। जयपाल 12 वीं तथा राकेश 11 वीं कक्षा में पढ़ता है। इधर, मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने हादसे पर दुख जताया है और हर संभव मदद का आश्वासन दिया है।
यह भी पढ़ें

राजस्थान में यहां युवक ने शिक्षिका को जूतों से पीटा, आरोपी बोला तेरा बाप हूं, काल हूं मैं... वीडियो हुआ वायरल

गमगीन माहौल में हुआ पांचों का पोस्टमार्टम
श्रीमाधोपुर सड़क मार्ग पर रविवार शाम हुए सड़क हादसे में मारे गए पांचों युवकों के शवों का सोमवार को रींगस के राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की मोर्चरी में गमगीन माहौल में पोस्टमार्टम करवाया गया। श्रीमाधोपुर थाना पुलिस ने सभी शवों का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सुपुर्द कर दिए। गौरतलब है कि श्रीमाधोपुर सड़क मार्ग पर कार व बाइक की टक्कर के बाद कार निजी स्कूल की बस से टकरा गई थी। हादसे में रींगस निवासी अनिल जांगिड़ व महेश जांगिड़, बागरियावास निवासी पप्पूराम वर्मा की मौके पर ही मौत हो गई थी।

ट्रेंडिंग वीडियो