कोरोना के कारण बर्बाद हुई भारतीय एथलीटों की ओलंपिक के लिए ट्रेनिंग योजना: एएफआई

भारतीयों के लिए कई यूरोपीय देशों द्वारा लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों के कारण शीर्ष एथलीटों के लिए विदेशों का दौरा करना असंभव हो गया है।

By: Mahendra Yadav

Published: 03 May 2021, 12:30 PM IST

देश में कोरोना की दूसरी लहर से सभी परेशान हैं। देश में रोजाना कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। कई राज्यों से तो डराने वाले आकंड़े सामने आ रहे हैं। इसका प्रभाव हर क्षेत्र पर पड़ रहा है। कोरोना के प्रभाव से खेल क्षेत्र भी अछूता नहीं है। कई खिलाड़ी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। इसका असर टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने वाले खिलाड़ियों की तैयारियों पर भी पड़ रहा है। भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) के अध्यक्ष अदिले सुमारिवाला ने कहा है कि भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के कारण टोक्यो ओलंपिक के लिए ट्रेनिंग करने की भारतीय एथलीटों की योजनाएं खत्म हो गई है। हालांकि, सुमारिवाला ने साथ ही कहा कि शीर्ष एथलीटों ने मार्च में फेडरेशन कप एथलेटिक्स चैंपियनशिप के दौरान खुद को अच्छी स्थिति में पहुंचा दिया है।

महामारी के कारण बाधित हुआ रोडमैप
सुमारिवाला का कहना है कि फेडरेशन कप एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भारतीय खिलाड़ियों के अच्छे प्रदर्शन ने आगे एक अच्छे सीजन की उम्मीद जगाई थी, लेकिन टोक्यो ओलंपिक के लिए एएफआई का रोड मैप भारत में महामारी के कारण बाधित हुआ है। भारतीयों के लिए कई यूरोपीय देशों द्वारा लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों के कारण शीर्ष एथलीटों के लिए विदेशों का दौरा करना असंभव हो गया है। इसने एथलीटों को प्रशिक्षण के लिए विदेश भेजने के लिए चीजों को और अधिक चुनौतीपूर्ण बना दिया था।"

यह भी पढ़ें— टोक्यो ओलंपिक: एथलीटों का रोजाना होगा कोरोना टेस्ट, बाहर खाने की नहीं होगी इजाजत

olympics.png

10 एथलिटों ने टोक्यो ओलंपिक के लिए हासिल किया कोटा
बता दें कि भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा और शिवपाल सिंह सहित दस व्यक्तिगत एथलीटों ने टोक्यो ओलंपिक के लिए कोटा हासिल किया है। 2019 दोहा विश्व चैंपियनशिप में फाइनलिस्ट होने के कारण राष्ट्रीय मिश्रित चार गुणा 400 मीटर रिले टीम ने भी टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर लिया है।

यह भी पढ़ें— टोक्यो ओलंपिक से पहले अपनी फिटनेस पर ध्यान दे रहे बैडमिंटन प्लेयर बी.साई प्रणीत

ट्रेनिंग के लिए सही जगह ढूंढना मुश्किल
एएफआई अध्यक्ष ने कहा कि इन चुनौतीपूर्ण समय में जब भारतीयों के लिए 15-दिन का क्वारंटीन नियमों वाले पटियाला और यूरोपीय देशों में गर्मी की गर्मी बढ़ रही है, तो ट्रेनिंग के लिए एक सही जगह ढूंढना मुश्किल है। एएफआई ओलंपिक के आगामी दिनों में यूरोप में प्रशिक्षित करने के लिए सबसे अच्छी जगह खोजने के लिए काम कर रहा है। बता दें कि टोक्यो ओलंपिक का आयोजन जुलाई-अगस्त में होना है।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned