सीएम योगी आदित्यनाथ ने रुकवाया काफिला और थाने का किया औचक निरीक्षण

काशी विश्वनाथ मंदिर की सुरक्षा बढ़ाने का निर्देश, कहा थाने की हेरिटेज भवन को संरक्षित किया जाये

By: Devesh Singh

Published: 27 Nov 2019, 11:08 AM IST

वाराणसी. पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने बीती देर रात काशी विश्वनाथ धाम का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने ध्वस्तीकरण की कार्रवाई के बाद परिसर काफी खुला हो गया है। ऐसे में यहां का सुरक्षा घेरा और मजबूत किया जाये।
यह भी पढ़े:-सीएम योगी आदित्यनाथ व संघ में राम मंदिर निर्माण को लेकर हुई बैठक, न्यास अध्यक्ष के नाम पर हुई चर्चा

काशी विश्वनाथ मंदिर के गेट नम्बर तीन से सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रवेश किया। सीएम ने सबसे पहले काशी विश्वनाथ मंदिर जाकर मत्था टेका। इसके बाद काशी विश्वनाथ धाम का निरीक्षण किया। योजना की प्रगति की जानकारी लेने के साथ ही निर्माण की ऊंचाई व गंगा का लेवल जाना। मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां के सुरक्षा व्यवस्था में किसी प्रकार की कमी नहीं होनी चाहिए।
यह भी पढ़े:-ट्रैफिक कैमरे खोल रहे यातायात नियम तोडऩे वालों की पोल, आठ दिन में हुआ 10 हजार बाइक का चालान

सीएम योगी आदित्यनाथ ने काफिला रुकवा कर किया थाने का निरीक्षण
काशी विश्वनाथ धाम से निकलने के बाद जैसे ही काफिला चौक थाने के सामने पहुंचा तो सीएम ने अपना वाहन रुकवा दिया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने चौक थाने का औचक निरीक्षण किया। 15 मिनट तक मुख्यमंत्री ने थाने का भवन, बैरक, कार्यालय, मेस, हवालात आदि का निरीक्षण किया। पुलिसकर्मियों से कामकाज की जानकारी लेने के साथ सीसीटीएनएस कक्ष जाकर मुकदमों के ऑनलाइन फीडिंग की जानकारी ली। सीएम योगी ने कहा कि यह काशी विश्वनाथ धाम के पास यह थाना है। इसके चलते थाना में पर्याप्त संख्या में पुलिसकर्मी होने चाहिए। उनके कामकाज का तरीका ऐसा हो कि मंदिर आने वाले लोग जब यहां से जाये तो उनकी तारीफ करें। सीएम योगी को जब पता चला कि यह थाना 1904 में बना है तो उन्होंने अधिकारियों को थाने की हेरिटेज इमारत को संरक्षित करने व रखरखाव पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया।
यह भी पढ़े:-बनारस मेंं रोबोट से होगी सीवर की सफाई, ऐसे करता है काम

थानों में जब्त समान के लिए बनाया जायेगा अलग भवन
सीएम योगी आदित्यनाथ जब चौक थाने पहुंचे तो देखा कि वहां पर बाहर ही चायनीज मांझे का ढेर लगा हुआ है। थाने के बाहर ही बोरे में यह समान रखा हुआ था। इस पर सीएम ने पुलिसकर्मियों से यह समान यहां क्यों रखा है इसकी जानकारी ली। पता चला कि थाने के मालखाने में जगह नहीं है इसलिए विवश होकर यहां पर जब्त समान रखना पड़ा है। इस पर सीएम योगी ने अपर मुख्य सचिव गृह से कहा कि एक बड़ा भवन बनवाये। जहां पर थानों के जब्त समान को कानूनी कार्रवाई के प्रमाण के तौर पर सुरिक्षत रखा जा सके। सीएम का आदेश मिलते ही अधिकारियों ने जल्द ही कार्य योजना बनाने को कहा।
यह भी पढ़े:-छात्रसंघ चुनाव प्रचार के अंतिम दिन प्रत्याशियों ने झोंकी सारी ताकत

Devesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned