मुख्यमंत्री गहलोत बोले-प्रदेश में जब भी कोई नया जिला बनेगा तो सबसे पहले ब्यावर का होगा नाम

विधायक शंकरसिंह रावत शिष्टमंडल के साथ मुख्यमंत्री गहलोत से मिले, विधायक को सिर्फ आश्वासन से ही करना पड़ा संतोष, विधायक रावत ब्यावर को जिला बनाने सहित कई मांगों को लेकर कर रहे थे आंदोलन, ब्यावर में धरना देने के बाद पदयात्रा कर पहुंचे थे राजधानी जयपुर

By: suresh bharti

Published: 29 Sep 2020, 12:45 AM IST

अजमेर/ब्यावर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ब्यावर विधायक शंकर सिंह रावत को निराश नहीं किया। सोमवार को मुख्यमंत्री आवास पर मिलने पहुंचे विधायक रावत से उन्होंने साफ कहा कि प्रदेश में जब भी कोई नया जिला बनेगा। उसमें ब्यावर का नाम सबसे ऊपर होगा।

रावत ने अपनी मांगें रखी

विधायक रावत पदयात्रा कर सोमवार को छठे दिन जयपुर पहुंचे थे। मुख्यमंत्री गहलोत से मुलाकात कर विधायक रावत ने अपनी मांगें रखी।
विधायक रावत ने वार्ता के दौरान जिला बनाने के लिए गठित परमेश चन्द कमेटी का हवाला देते हुए कहा कि इस कमेटी में जिला बनाने के लिए ब्यावर का नाम एक नम्बर पर है। इसलिए कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर ब्यावर को जिला बनाया जाए। रावत ने बताया कि मुख्यमंत्री से सौहार्दपूर्ण वार्ता हुई। इसमें मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया कि प्रदेश में जब भी कोई नया जिला बनेगा उसमें पहला नाम ब्यावर का होगा।

साथ ही विधायक रावत ने अन्य मांगे मुख्यमंत्री के सामने रखने पर जल्द ही प्राथमिकता अनुसार मांगो के निस्तारण का भरोसा दिया। शिष्टमण्डल में सभापति नरेश कनोजिया, टीकम सिंह चौहान, सुभाष राठी, सरपंच संघ अध्यक्ष पदम सिंह, पूर्व मंडल अध्यक्ष भोम सिंह शामिल रहे।

वार्ता के दौरान लगाए नारे

रावत के जयपुर पहुंचने पर रास्ते में कई जगह जनसमर्थन मिला। ब्यावर से भी बड़ी संख्या में कार्यकर्ता जयपुर पहुचकर रैली के रूप में शामिल हुए। जनसमर्थन को देखते हुए पुलिस प्रसासन को बड़ी मश्क्कत करनी पड़ी। समर्थक शिष्ट मण्डल की मुख्यमंत्री से वार्ता होने तक सड़क पर बैठकर विधायक के द्वारा की गई मांगों पर जल्द कार्रवाई करने को लेकर नारे लगाते रहे। पूर्व मंडल अध्यक्ष जयकिशन बल्दुआ, लक्ष्मण सिंह, जवाजा मण्डल अध्यक्ष प्रभु सिंह, भालिया टॉडगढ़ मंडल अध्यक्ष राम सिंह, पूर्व सरपंच जसवंत सिंह सहित अन्य कार्यकर्ता शामिल हुए।

बर बार आश्वासन...

ब्यावर को जिला बनाने की मांग पर हर बार आश्वासन ही मिलता है। एक बार फिर जिले के नाम पर आश्वासन मिला है। इससे पहले भी ब्यावर को जिला बनाने की मांग को लेकर कई बार विरोध प्रदर्शन किए गए, लेकिन हर बार आश्वासन ही दिए गए। एक बार फिर आंदोलन के बाद आश्वासन ही मिला।

आंदोलन का समय ही सही नहीं

वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिनेश शर्मा ने इस आंदोलन को लेकर कहा कि ब्यावर जिला बने, यह सबकी इच्छा है लेकिन जिले की मांग को लेकर आंदोलन करने का सही समय नहीं है। जिले की घोषणा बजट सत्र में होती है। अब कोरोना वैश्विक महामारी का दौर चल रहा है। एेसे में आंदोलन करने का यह सही समय नहीं है। ब्यावर को जिला बनाने की वर्षो पुरानी मांग है। इस मांग को पूरा करने के लिए कांग्रेस प्रयास करेगी।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned