टिक-टॉक बनाते बंदूक की गोली से गई बालक की जान

नाना की बंदूक से हुआ फायर : बालक की मां जख्मी

By: manish Singh

Published: 31 May 2020, 06:00 AM IST

मनीष कुमार सिंह

अजमेर(Ajmer news). टिक-टॉक वीडियो बनाते हुए खूंटी पर टंगी लाइसेंसी बंदूक से निकली गोली ने चार साल के मासूम बच्चे की जान ले ली जबकि उसकी मां जख्मी हो गई। घायल मां को जवाहरलाल नेहरू अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

मामला नागौर जिले के पीलवा थाने के बंवाल गांव का है। मां के साथ ननिहाल आया ४ साल का रुद्रप्रताप सिंह उर्फ करण पुत्र दौलत सिंह शनिवार शाम घर में मामा कानू सिंह के साथ खेल रहा था। खेलते हुए दोनों मोबाइल फोन पर टिक-टॉक के लिए वीडियो बनाने लगे। इस दौरान रुद्रप्रताप ने अपने नाना की खूंटी पर टंगी लाइसेंसी टोपीदार बंदूक उतारने की कोशिश की। लेकिन इस प्रयास में लोडेड बंदूक जमीन पर गिर गई और बंदूक से निकला कारतूस (छर्रा) रुद्रप्रताप के सिर में पीछे से धंसते हुए ललाट से बाहर निकल गया। बंदूक से निकले छर्रों से पास ही बैठी रुद्रप्रताप की मां प्रेम उर्फ मीनू कंवर की दायीं आंख और पिंडली जख्मी हो गई। हादसे के बाद नाना घायल रुद्रप्रताप व प्रेम कंवर को लेकर स्थानीय अस्पताल पहुंचे। यहां से अजमेर के जवाहरलाल नेहरू अस्पताल रेफर कर दिया। अजमेर पहुंचे रुद्र को चिकित्सकों ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को मोर्चरी में रखवाया है। मामले में पीलवा थाना पुलिस पड़ताल में जुटी है।

...सांस तो चल रही है ना

रुद्र के मोर्चरी पहुंचने के आधा घंटे बाद उसकी मां को परिजन जेएलएन अस्पताल लेकर पहुंचे। जख्मी मां की आंखें यहां भी अपने लाल को तलाशती रही। चिकित्सकों से वह लगातार पूछती रही कि कहां है मेरा बच्चा, वो ठीक तो है ना, उसकी सांसें तो चल रही है ना? मासूम के लिए मां के सवालों ने उसका इलाज कर रहे चिकित्सकों व नर्सिंग कर्मियों का दिल भी पसीज गया। हालाकि मां को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई।

इनका कहना है...

घटना की अस्पताल से सूचना मिली है। टोपीदार बंदूक से हुए फायर में बालक की मौत हुई है। शव को मोर्चरी में रखवाया है। प्रकरण में पड़ताल की जा रही है।
-राधेश्याम, थानाधिकारी पीलवा

manish Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned