शहर में शुरु हुआ सीवर लाइन डालने का काम

आनासागर एवं शहरी जोन में बिछाई जाएगी 164 किलोमीटर सीवरेज लाइन
-42 हजार 615 दिए जाएंगे नए कनेक्शन,156 करोड़ होंगे खर्च

By: bhupendra singh

Updated: 03 Jan 2021, 10:15 PM IST

अजमेर. स्मार्ट सिटी smart city परियोजना के तहत सीवर लाइन का नया प्रोजेक्ट शुरू हो गया है। 156 करोड़ की लागत से आनासागर एवं शहरी जोन में 164 किलोमीटर नई सीवर लाइन Sewer line डाली जा रही है। दोनों जोन में लगभग 42 हजार 615 नए कनेक्शन दिए जाएंगे। इसके लिए 5909 मेन ***** बनाए जाएंगे। वर्ष 2022 तक इस प्रोजेक्ट को पूरा किए जाने की संभावना है। आनासागर एवं शहरी जोन में 42 हजार से अधिक सीवर कनेक्शन किए जाने के बाद खानपुरा एसटीपी और आनासागर एसटीपी का प्रभावी उपयोग हो सकेगा। शहर में रीजनल कॉलेज मुख्य सड़क, गणपति नगर, वैशालीनगर आदि जगहों पर सीवर लाइन का कार्य चल रहा है।
आनासागर जोन

आनासागर जोन में 85 करोड़ की लागत से 110 किमी सीवर नेटवर्क तैयार किया जाएगा। 16 हजार 115 नए कनेक्शन भी दिए जाएंगे। 4 हजार 674 मेन ***** बनाए जाएंगे। कार्य 24 महीने में पूरा करना होगा। इस जोन में शिवविहार, कीर्ति विहार में 11.5 किमी, महावीर कॉलोनी में 3.5 किमी, हरिभाऊ उपाध्याय नगर में शेष रही 16 किमी, गणपतिनगर में 12 किमी, नागफ णी में 20 किमी, वैशालीनगर छत्री योजना,अम्बेहार बी ब्लॉक, जनता कॉलोनी, सागर विहार में 14.5 किमी रातीडांग में 3.5 किमी प्रगति नगर रोड, वी.के.एस पार्क में 0.5 किमी.महाराणा प्रताप नगर में 761 मीटर क्षेत्र में सीवर लाइन डाली जाएगी।
शहरी जोन

शहरी जोन में 71 करोड़ की लागत से 54 किमी सीवर नेटवर्क तैयार किया जाएगा। इस जोन में 26 हजार 500 सीवर कनेक्शन दिए जाएंगे। 2 हजार 235 मेन ***** बनाए जाएंगे। कार्य 24 माह में पूरा करना होगा। 10 साल का ओएंडएम करना होगा। इस जोन में विज्ञान नगर में 6 किमी, अजय नगर सतगुरू कॉलोनी के आसपास 5.5 किमी, भगवनगंज में 1 किमी, नारीशाला रोड पर 1.2 किमी, पहाडग़ंज के पास रेलवे कॉलोनी के आसपास में 4.5 किमी,मदार रेलवे स्टेशन के पीछे 5 किमी,चन्दरवरदायी क्षेत्र में 8.5 किमी, भजनगंज में 2.5 किमी, भोंपो का बाड़ा व पुलिस लाइन में 2.2 किमी, जेपी नगर में 5 किमी क्षेत्र में सीवर लाइन डाली जाएगी।
शहर में सीवरेज का अब तक हाल

-शहर में सर्वप्रथम पीएचईडी ने 1994 में 4 करोड़ रुपए खर्च कर दरगाह क्षेत्र मे 8.3 किमी सीवर लाइन डाली। 832 सीवरेज कनेक्शन किए गए लेकिन आधे-अधूरे।
-आरयूआईडीपी में वर्ष 2002 से 2008 तक शहर में 237 किमी लाइन डाली जानी थी लेकिन 207 किमी लाइन डाली गई लेकिन कनेक्शन नहीं किए गए। करोड़ों रुपए खर्च हुए।

-बीएसयूपी के तहत वर्ष 2010-2013 में छतरी योजना में एडीए ने 6.12 किमी सीवर लाइन डाली। सीवरेज कनेक्शन नहीं हुए। करोड़ों रुपए खर्च हुए।
-जेएनएनयूआरएम के तहत शहर में 115 किमी लाइन डाली जानी थी लेकिन 112.70 किमी लाइन डाली गई। सीवरेज कनेक्शन नहीं किए गए। पंचशील, हरिभाऊ उपाध्याय नगर, शास्त्रीनगर क्षेत्र में, महाराणा प्रताप एरिया में लाइन डाली गई।

करोड़ों रुपए खर्च हुए।

-अमृत योजना के तहत शहर में 46.3 किमी लाइन डाली गई। नगर निगम ने इसके लिए 82.30 करोड़ का ठेका दिया गया। सीवर लाइन वर्ष 2017-2019 के बीच डाली गई। 8 हजार सीवर कनेक्शन किए गए। जबकि 13 हजार कनेक्शन जारी करने थे। शहर में अब तक कुल 42 हजार सीवर कनेक्शन जारी किए गए है।
आनासागर में जा रहा 12 नालों का गंदा पानी

वर्तमान में आनासागर झील के चारों तरफ बनी हुई कॉलोनियों में सीवरेज लाइन व कनेक्शन के अभाव में गंदा पानी शहर के 12 नालों में जा रहा है। इन 12 नालों द्वारा सीवरेज का पानी आनासागर झील में जा रहा है। इस परियोजना के क्रियान्वयन के बाद दूषित पानी पूर्व में संचालित आनासागर जलमल सयंत्र से शोधित होकर आनासागर झील में डाला जाएगा। वर्तमान में खानपुरा ट्रीटमेंट प्लांट पर जाने वाले सीवरेज जोन में छूटे हुए 28 क्षेत्रों में सीवरेज लाइन डाला जाना प्रस्तावित किया गया। इस परियोजना के क्रियान्वयन के बाद सिटी जोन में पूर्व में डाली गई समस्त पाइप लाइन जोडऩे से छूटे हुए मिसिंग लिंक भी पूर्ण हो जाएंगे।

read more: नए वर्ष में 515.82 करोड़ की लागत से 61 प्रोजेक्ट्स की मिलेगी सौगात

Show More
bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned