scriptup election 2022: Story related to Raja Bhaiya | UP assembly elections 2022: तालाब में क्यों पालते थे राजा भैया मगरमच्छ, जाने कंकाल से जुड़ी पूरी कहानी | Patrika News

UP assembly elections 2022: तालाब में क्यों पालते थे राजा भैया मगरमच्छ, जाने कंकाल से जुड़ी पूरी कहानी

मगरमच्छ पालने के सवालों पर राजा भैया ने कहा कि यह सवाल हर कोई पूछता है। लेकिन सच बात यह है कि कोठी के बगल गंगा बहती है और तालाब से जुड़ा है। ऐसे में कभी-कभी मगरमच्छ भी आ जाते थे। राजा भैया ने कहा कि जो भी मछली पकड़ने से जुड़ा है, वह मगरमच्छों को क्यों पालेगा। इसके अलावा यहां एक गांव और एक तालाब है। किसी भी जीव का प्रवेश वर्जित नहीं है। दरअसल पास में ही गंगा बहती है।

इलाहाबाद

Published: February 20, 2022 11:09:59 pm

प्रयागराज: यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों में शोर मचा है। वहीं यूपी चुनाव में कुंडा विधानसभा सीट पर सबकी नजरें भी टिकी है। कुंडा सीट पर राजा भैया और समाजवादी पार्टी से गुलशन यादव उम्मीदवार है। दो दबंगों की लड़ाई में अब जीत हार का फैसला 10 मार्च को होगा। आइये जानते हैं राजा भैया के घर में बने तालाब और मगरमच्छ की कहानी।
UP assembly elections 2022: तालाब में क्यों पालते थे राजा भैया मगरमच्छ, जाने कंकाल से जुड़ी पूरी कहानी
UP assembly elections 2022: तालाब में क्यों पालते थे राजा भैया मगरमच्छ, जाने कंकाल से जुड़ी पूरी कहानी
मगरमच्छ पालने के सवालों पर यह दिया जवाब

मगरमच्छ पालने के सवालों पर राजा भैया ने कहा कि यह सवाल हर कोई पूछता है। लेकिन सच बात यह है कि कोठी के बगल गंगा बहती है और तालाब से जुड़ा है। ऐसे में कभी-कभी मगरमच्छ भी आ जाते थे। राजा भैया ने कहा कि जो भी मछली पकड़ने से जुड़ा है, वह मगरमच्छों को क्यों पालेगा। इसके अलावा यहां एक गांव और एक तालाब है। किसी भी जीव का प्रवेश वर्जित नहीं है। दरअसल पास में ही गंगा बहती है। गंगा में मगरमच्छों की एक बहुत ही लोकप्रिय प्रजाति है। कभी-कभी वो आते हैं तो कुछ कर नहीं पाते। लेकिन यह वास्तव में "घड़ियाल" है, मगरमच्छ नहीं।
यह भी पढ़ें

UP assembly elections 2022: राजा भैया दोनों बेटों को लेकर रखते हैं बड़ी ख्वाहिश, जाने क्या बनकर करेंगे पिता का नाम रोशन

कंकाल की कहानी है झूठी

मीडिया के सवालों पर जवाब देते हुए राजा भैया ने कहा कि मानव कंकाल की बात एक झूठी कहानी है। तालाब में कोई भी कंकाल नहीं मिला है। गांव में एक ही तालाब है और गंगा से सटा हुआ है। गांव में गरीब लोग हैं जिनके पास अंतिम संस्कार करने के लिए लकड़ी खरीदने के पैसे नहीं होते हैं। गंगा घाट होने की वजह से किसी मनाही नहीं है इसीलिए अंतिम संस्कार होने की वजह से अस्थियों की हड्डी मिल ही जाती है। उस समय जो वर्तमान में सरकार थी उसने सिर्फ बदनाम करने के लिए साजिश रची थी।
यह भी पढ़ें

UP assembly elections 2022: 21 फरवरी को प्रयागराज में गरजेंगे छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, डोर टू डोर करेंगे प्रचार

राजा भैया के नाम पर सिर्फ बनते हैं किस्से

राजा भैया ने कहा कि कभी भी कोई भी व्यक्ति अगर गायब हो जाता है तो उसे राजा भैया के नाम से जोड़ देते थे। यह सब बातें सिर्फ और सिर्फ कहानी है। इसमें बिल्कुल भी सच्चाई नहीं है। राजा भैया ने कहा गांव से कोई भी गायब नहीं हुआ है। ये सब मनगढ़ंत कहानी बताई जाती थी। राजा के नाम को सिर्फ और सिर्फ बदनाम किया जाता था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

पंजाब CM भगवंत मान ने स्वास्थ्य मंत्री को भ्रष्टाचार के आरोप में किया बर्खास्तकांग्रेस की Task Force-2024 और पॉलिटिकल अफेयर्स कमिटी का ऐलान, जानिए सोनिया गांधी ने किन को दिया मौकापाकिस्तान ने भेजी है विषकन्या: राजस्थान इंटेलिजेंस ने सेना को तस्वीरें भेज कर किया अलर्टकुतुब मीनार केसः साकेत कोर्ट में दोनों पक्षों की दलीलें पूरी, 9 जून को अदालत सुनाएगी फैसलाPooja Singhal Case: झारखंड की 6 और बिहार के मुजफ्फरपुर में ED की एक साथ छापेमारी, अहम सुराग मिलने की उम्मीदश्रीलंका में फिर बढ़ी पेट्रोल-डीजल की कीमत, 420 रुपए प्रति लीटर पेट्रोल तो 400 रुपए में मिल रही एक लीटर डीजलकर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया का विवादित बयान, 'मैं हिंदू हूं, चाहूं तो बीफ खा सकता हूं..'सबसे आगे मोदी, पीछे से बाइडेन सहित अन्य नेता, QUAD Summit से आई PM मोदी की ये तस्वीर वायरल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.