अलवर में मछलियों पर दान-पुण्य पड़ रहा भारी, नटनी का बारां में मर गई सैकड़ों मछलियां

अलवर की रूपारेल नदी में नटनी का बारा पर सैकड़ों मछलियां मर गई।

Prem Pathak

12 Jun 2018, 03:44 PM IST

अलवर में रूपारेल नदी में नटनी का बारां पर मछलियों के मरने का सिलसिला जारी है। रविवार को भी नटनी का बारां पर सैकड़ों मृत मछलियां मिली है। इन मछलियों की वजह से नटनी का बारां के आस-पास बदबू फैल रही है। हर साल इन दिनों नटनी का बारां में मछलियां मरती है।

इन दिनों इसलिए मरती है ज्यादा मछलियां

नटनी का बारां में इन महिनों में अधिक मछलियां मरती है। यह महिना अधिकमास कहलाता है। इस महिने में लोग दान-पुण्य अधिक करते है। इन दिनों लोग पुण्य कमाने के लिए नटनी का बारां में बेहद अधिक मात्रा में मछलियों को आटा डालते हैं। पानी में आटे की मात्रा अधिक होने के कारण ऑक्सिजन की कमी हो जाती है, इस वजह से मछलियों को सांस लेने में दिक्कत आती है, और मछलियां मर जाती है।

अधिक मात्रा में कचरा भी है प्रमुख कारण

नटनी का बारां में मछलियों के मरने का प्रमुख कारण पानी में कचरा डालना है। कचरा डालने के बाद पानी में प्रदूषण बढ़ रहा है जो मछलियों के लिए जानलेवा सबित हो रहा है। इन दिनों नटनी का बारां में पॉलिथिन, पुराने कपड़े फटे जूते आदि डाले जा रहे हैं जो पानी को प्रदूषित कर रहे हैं। इस वजह से भी मछलियां मर रही है।

देखरेख की है भारी कमी

नटनी का बारां में किसी समय काफी पानी रहता था। लेकिन देखरेख की कमी के कारण अब लोग यहां भारी मात्रा में कचरा फेंक रहे हैं। प्रशासन भी नटनी का बारां पर ध्यान नहीं दे रहा है। इस वजह से इसकी हालत खराब हो रही है।

पर्यटक भी कम आ रहे

नटनी का बारां में कुछ साल पहले तक काफी मात्रा में पानी रहता था, यहां कई बच्चे नहाते हुए दिख जाते थे। पानी भी साफ होता था, लेकिन अब नटनी का बारां की हालत खराब होने के कारण यहां पर्यटकों ने भी आना बंद कर दिया है।

Prem Pathak Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned